खेल

IPL 2020: ऐसी विदाई नहीं भूलेंगे एमएस धोनी, नहीं लगा सके एक भी फिफ्टी

महेंद्र सिंह धोनी, आईपीएल 2020 के 14 मैचों में सिर्फ 7 छक्के लगा सके. (फोटो साभार: @lionsdenkxip/Twitter)
महेंद्र सिंह धोनी, आईपीएल 2020 के 14 मैचों में सिर्फ 7 छक्के लगा सके. (फोटो साभार: @lionsdenkxip/Twitter)

चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) आखिरी मैच जीतकर भी आईपीएल 2020 (IPL 2020) से बाहर हो गई. वह प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच सकी. चेन्नई का बुरा हाल होने की सबसे बड़ी वजह उसके कप्तान एमएस धोनी  (MS Dhoni) का खराब प्रदर्शन रहा. धोनी पूरे टूर्नामेंट में एक भी फिफ्टी भी नहीं लगा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2020, 9:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) आखिरी मैच जीतकर भी आईपीएल 2020 (IPL 2020) से बाहर हो गई. वह प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच सकी. चेन्नई का बुरा हाल होने की सबसे बड़ी वजह उसके कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) का खराब प्रदर्शन रहा. महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पूरे टूर्नामेंट में एक भी फिफ्टी भी नहीं लगा सके. लंबे-लंबे छक्के लगाने वाले इस खिलाड़ी का बल्ला पूरे टूर्नामेंट में खामोश रहा. इतना ही नहीं, इस बार बतौर कप्तान भी वे रंग में नजर नहीं आए.

आईपीएल में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट देखें तो सबसे ऊपर उस खिलाड़ी का नाम दिखेगा, जो अपनी टीम का विकेटकीपर बल्लेबाज है. नाम है केएल राहुल (KL Rahul). किंग्स इलेवन पंजाब के इस विकेटकीपर कप्तान ने 55.83 की औसत से 670 रन बनाए हैं. इसमें एक शतक और पांच अर्धशतक शामिल हैं.

धोनी ने 25 की औसत से 200 रन बनाए
सबसे अधिक रन बनाने वालों की इस लिस्ट में टॉप-30 में कई विकेटकीपर दिखते हैं, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी नहीं. चेन्नई सुपरकिंग्स बनाम किंग्स इलेवन के मुकाबले के बाद धोनी इस लिस्ट में 37वें नंबर थे. टूर्नामेंट में कम से कम 9 खिलाड़ी ऐसे हैं, जो अपनी-अपनी टीमों के विकेटकीपर हैं और धोनी से ज्यादा रन बनाए हैं. धोनी ने टूर्नामेंट में 25.00 की औसत से 200 रन बनाए हैं. उनका सर्वोच्च स्कोर 47 रहा. धोनी 14 मैच में सिर्फ 7 छक्के लगा सके.





कार्तिक और ऋषभ पंत भी फ्लॉप
महेंद्र सिंह धोनी ही नहीं, दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) और ऋषभ पंत (Rishabh Pant) भी आईपीएल 2020 में फ्लॉप रहे हैं. कार्तिक टूर्नामेंट के 14 मैच में 15.36 की औसत से 169 रन ही बना सके. उनका स्ट्राइक रेट 127.06 रहा, जो धोनी (116.27) से थोड़ा ही ज्यादा है. पंत ने 10 मैच में 30.44 की औसत से 174 रन बनाए हैं.

ईशान किशन और संजू सैमसन चमके
धोनी भले ही इस बार नाकाम रहे, लेकिन भारत के ही स्पेशलिस्ट विकेटकीपर ईशान किशन (Ishan Kishan) और संजू सैमसन (Sanju Samson) ने खूब रन बटोरे. ईशान ने 11 मैच में 395 और संजू सैमसन ने 13 मैच में 374 रन बनाए हैं. क्विंटन डिकॉक, एबी डिविलियर्स, निकोलस पूरन, जॉनी बेयरस्टो और जॉस बटलर भी उन कीपरों में शामिल हैं, जिन्होंने धोनी से ज्यादा रन बनाए हैं. यहां बता दें कि मुंबई इंडियंस के ईशान किशन को टीम में डिकॉक के होने के चलते कीपिंग का मौका नहीं मिला है. निकोलस पूरन ने भी टूर्नामेंट में सिर्फ एक मैच में कीपिंग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज