MS Dhoni Retirement: महेंद्र सिंह धोनी के करियर की वो 5 उपलब्धियां जो उन्हें बनाती हैं 'सर्वश्रेष्ठ'

MS Dhoni Retirement: महेंद्र सिंह धोनी के करियर की वो 5 उपलब्धियां जो उन्हें बनाती हैं 'सर्वश्रेष्ठ'
MS Dhoni Retirement: महेंद्र सिंह धोनी के करियर की 5 बड़ी उपलब्धियां

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Retirement) ने 15 अगस्त को संन्यास का ऐलान कर दिया, जानिए उनके करियर के 5 ऐसे रिकॉर्ड्स के बारे में जो किसी भी क्रिकेटर के लिए सपना सरीखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 15, 2020, 10:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 15 अगस्त, 2020...जब देश आजादी की 74वीं वर्षगांठ मना रहा था, उसी दिन टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Retirement) ने अपने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया. वो फैंस जो पिछले एक साल से लगातार उनकी वापसी की दुआ कर रहे थे, उनका मानो दिल ही टूट गया. धोनी ने सोशल मीडिया पर जैसे ही अपने रिटायरमेंट की बात लिखी, फैंस बेहद निराश हो गए और काफी भावुक पोस्ट करने लगे. हालांकि ये बात भी सही है कि धोनी के रिटायरमेंट का समय आ चुका था और इसीलिए उन्होंने बेहद सोच-समझकर इसपर अपना फैसला भी लोगों को सुना दिया. महेंद्र सिंह धोनी के इंटरनेशनल क्रिकेट का सफर 2004 में शुरू हुआ था और अब 16 साल बाद इसका बेहद ही खूबसूरत अंदाज में अंत हुआ है. रांची का राजकुमार आज पूरी दुनिया को जीतने के बाद रिटायर हुआ है. धोनी ने अपने क्रिकेट करियर में वो सबकुछ हासिल किया जो किसी भी खिलाड़ी के लिए एक गर्व की बात है. धोनी ने 16 सालों में 538 मैच खेले, उनके बल्ले से 16 शतकों की मदद से 17,266 रन निकले. धोनी (MS Dhoni Retirement) ने 108 अर्धशतकीय पारियां खेली और उन्होंने 359 छक्के लगाए. धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर विकेटकीपर 829 शिकार किये. कप्तान के तौर पर धोनी ने टी20 वर्ल्ड कप, वर्ल्ड कप, चैंपियंस ट्रॉफी भी जीती. धोनी का करियर इतना बेमिसाल रहा है कि जिसके बारे में दूसरे क्रिकेटर कल्पना तक नहीं कर सकते. आइए आपको बताते हैं धोनी के करियर की 5 वो उपलब्धियां जो उन्हें सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर बनाती हैं.
क्रिकेट की दुनिया में रिकी पॉन्टिंग, स्टीव वॉ, कपिल देव, इमरान खान जैसे महान कप्तान आए हैं, लेकिन एमएस धोनी इन सभी में बेहद ही खास हैं. धोनी दुनिया के इकलौते कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी के सभी खिताब अपने नाम किये हैं. धोनी वनडे वर्ल्ड कप, टी20 वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं.
एमएस धोनी ने बतौर कप्तान 332 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है. इस दौरान धोनी के बल्ले से 11,207 रन निकले और उन्होंने 11 शतक और 71 अर्धशतक लगाए. धोनी ने भारत के लिए 200 वनडे मैच, 60 टेस्ट मैच और 72 टी20 मैचों में कप्तानी की है.
महेंद्र सिंह धोनी ने जब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था तो सौरव गांगुली ने उन्हें नंबर 3 पर मौका दिया. लेकिन कप्तान बनने के बाद धोनी ने नंबर 5 और नंबर 6 पर बल्लेबाजी करनी शुरू कर दी. वो देखते ही देखते दुनिया के सबसे बड़े मैच फिनिशर बन गए. बता दें धोनी वनडे में नंबर 5 या उससे नीचे ऑर्डर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. उनके बल्ले से कुल 8324 रन निकले हैं, जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है.
महेंद्र सिंह धोनी को महान कप्तान और फिनिशर के अलावा महान विकेटकीपर के तौर पर भी याद रखा जाएगा. विकेट के पीछे धोनी का कोई सानी नहीं हैं. वो पलक झपकते ही स्टंपिंग्स कर देते थे और मुश्किल से मुश्किल कैच को कैसे आसान बनाया जाता है ये धोनी से बेहतर कोई नहीं जानता. धोनी ने अपने करियर में 195 स्टंपिंग्स की हैं, जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है.
महेंद्र सिंह धोनी अपने करियर में 8 बार आईसीसी वनडे टीम ऑफ द ईयर में शामिल हुए हैं. ये एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है. एमएस धोनी साल 2008 से लेकर 2014 तक लगातार आईसीसी वनडे टीम में रहे थे और 2006 में भी उन्होंने इस टीम में जगह बनाई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज