होम /न्यूज /खेल /धोनी की फुर्ती ने टाली भारत की हार और T20 वर्ल्ड कप से बाहर होने से बचे, अंतिम गेंद पर हुआ फैसला

धोनी की फुर्ती ने टाली भारत की हार और T20 वर्ल्ड कप से बाहर होने से बचे, अंतिम गेंद पर हुआ फैसला

On This Day: महेंद्र सिंह धोनी की फुर्ती के कारण भारत टी20 वर्ल्ड से बाहर होने से बचा था. (AFP)

On This Day: महेंद्र सिंह धोनी की फुर्ती के कारण भारत टी20 वर्ल्ड से बाहर होने से बचा था. (AFP)

On This day: भारत और बांग्लादेश के बीच आज ही के दिन यानी 23 मार्च, 2016 को टी20 वर्ल्ड कप (2016 T20 World cup) में ऐसा ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. रोमांच का दूसरा नाम ही टी20 क्रिकेट है. इस फॉर्मेट में एक गेंद किसी टीम की हार-जीत तय करने के लिए काफी होती है. ऐसा ही एक मैच आज ही के दिन यानी 23 मार्च, 2016 को भारत और बांग्लादेश के बीच टी20 वर्ल्ड कप (2016 T20 World cup India vs Bangladesh) में खेला गया था, जिसे टीम इंडिया ने आखिरी गेंद पर 1 रन से जीता था. भारत की इस जीत के हीरो कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) थे. उन्होंने आखिरी गेंद पर बांग्लादेशी बल्लेबाज मुस्तफिजुर रहमान को आउट करने के लिए चीते सी जो तेजी दिखाई. उसने पूरी महफिल लूट ली थी. धोनी ने स्टम्प्स पर सीधे गेंद न फेंककर विकेट की तरफ दौड़ लगाई और बांग्लादेश बल्लेबाज के क्रीज के भीतर पहुंचने से पहले ही बेल्स बिखेरकर उसका काम तमाम कर दिया और बांग्लादेश का भारत के खिलाफ पहला टी20 जीतने का अरमान अधूरा रह गया.

    इस जीत के साथ ही भारत अपने घर में हो रहे टी20 वर्ल्ड कप (T20 World cup) से जल्दी आउट होने से बच गया था. अब आपको बताते हैं कि भारत-बांग्लादेश के बीच हुए उस रोमांचक मुकाबले में क्या हुआ था? आखिरी ओवर में कैसे मैच का रुख बदलता रहा और कैसै टीम इंडिया ने हारी बाजी जीती?

    भारत के वर्ल्ड कप से बाहर होने का खतरा था
    भारत और बांग्लादेश के बीच हुए बेंगलुरू में हुए इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 146 रन ही बनाए थे. टी20 के लिहाज से यह स्कोर कम था. सुरेश रैना 30 और विराट कोहली 24 को छोड़कर कोई भारतीय बल्लेबाज नहीं चला. 147 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम के विकेट भी लगातार अंतराल पर गिरते रहे. लेकिन, टारगेट बहुत बड़ा नहीं था. बांग्लादेश ने 6 विकेट गंवाकर 19वें ओवर तक 136 रन बना लिए थे. क्रीज पर मुश्फिकुर रहीम और महमूदुल्लाह थे. महमूदुल्लाह ने 20 गेंद में 17 बना लिए थे. ऐसा लग रहा था रहा कि बांग्लादेश 2007 के वनडे वर्ल्ड कप की तरह टी20 विश्व कप से भी भारत को बाहर का रास्ता दिखा देगा. लेकिन, धोनी ने ऐसा नहीं होने दिया.

    आखिरी 3 गेंद पर 3 विकेट गिरे
    बांग्लादेश को आखिरी 6 गेंद में जीत के लिए 11 रन की दरकार थी. धोनी ने गेंद हार्दिक पंड्या को थमा दी. स्ट्राइक पर महमूदुल्लाह थे. उन्होंने पहली गेंद पर 1 रन लिया. अगली 2 गेंदों पर 2 चौके जड़कर मुश्फिकुर ने भारतीय फैंस की दिलों की धड़कनें बढ़ा दी. अब 3 गेंद में 2 रन चाहिए थे. लेकिन पंड्या ने चौथी गेंद पर मुश्फिकुर को आउट कर दिया. इसकी अगली गेंद पर महमूदुल्लाह भी हार्दिक का शिकार हो गए. जो मैच बांग्लादेश की झोली में जाता दिख रहा था. उसमें एकदम से भारत की जीत नजर आने लगी.

    On This Day: पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता T20 वर्ल्ड कप मैच, आपको याद है 2014 का वो मुकाबला?

    धोनी की फुर्ती ने दिलाई रोमांचक जीत
    अब आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को जीत के लिए 2 रन चाहिए थे और स्ट्राइक पर सुवागता होम थे. पंड्या की यह गेंद ऑफ स्टम्प के बाहर थी. इस पर सुवागता ने शॉट खेलने की कोशिश की. लेकिन गेंद बल्ले पर नहीं आई और बल्लेबाज रन के लिए दौड़ पड़ा. लेकिन धोनी पहले से ही ग्ल्वस उतारकर खड़े थे और उन्होंने विकेट पर गेंद फेंकने के बजाए सीधे स्टम्प्स की तरफ दौड़ लगा दी और मुस्तफिजुर को रन आउट कर दिया और भारत यह मुकाबला 1 रन से जीत गया और बांग्लादेश का 2016 के टी20 वर्ल्ड कप में सफर थम गया. जबकि इस जीत से भारत की उम्मीदें बरकरार रहीं.

    Tags: Icc T20 world cup, Ms dhoni, On This Day, T20 World Cup, Team india

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें