Home /News /sports /

धोनी ने पहला टेस्ट शतक जड़ कर दिया संन्यास का ऐलान, टीम इंडिया हो गई हैरान

धोनी ने पहला टेस्ट शतक जड़ कर दिया संन्यास का ऐलान, टीम इंडिया हो गई हैरान

महेंद्र सिंह धोनी ने 2005 में डेब्यू किया था (PIC: AP)

महेंद्र सिंह धोनी ने 2005 में डेब्यू किया था (PIC: AP)

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने वनडे क्रिकेट में 10 शतक की मदद से 10,773 रन बनाए. टेस्ट में भी उनके बल्ले से 4876 रन निकले जिसमें 6 शतक भी शामिल हैं. वहीं, टी20 में धोनी ने 1617 रन बनाए. धोनी ने भारत को तीनों आईसीसी ट्रॉफी जिताने के साथ-साथ आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स को भी चार बार खिताब दिलाया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2014-15 के दौरान टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेकर क्रिकेट जगत को चौंका दिया था. टीम विदेशी परिस्थितियों में उनके अधीन संघर्ष कर रही थी, लेकिन यह देखते हुए कि सीरीज में एक टेस्ट मैच खेला जाना बाकी था, किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि वह इस तरह सीरीज के बीच में टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लेंगे. धोनी ने बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के कुछ मिनट बाद चौंकाने वाली घोषणा की, जो ड्रॉ पर समाप्त हुआ था. भारत के पूर्व कप्तान ने अपने टेस्ट करियर का अंत 38.09 की औसत से बनाए 4876 रन के साथ किया. उनके टैली में 6 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं.

    जबकि महेंद्र सिंह धोनी का 9 साल का टेस्ट करियर था, यह उनके पदार्पण के ठीक एक साल बाद 2006 में समाप्त हो सकता था. 2020 में स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने धोनी के बारे में एक दिलचस्प किस्से के बारे में बताया था. लंबे समय तक धोनी के अधीन खेलने वाले लक्ष्मण ने खुलासा किया कि 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ (India vs Pakistan) अपने पहले टेस्ट शतक के बाद ड्रेसिंग में वापस आने के बाद उन्होंने संन्यास का जिक्र छेड़ा था. मैच फैसलाबाद में खेला गया था, जहां धोनी ने 153 गेंदों में 148 रन बनाए थे. धोनी के 148 रन और कप्तान राहुल द्रविड़ के 103 रन के दम पर भारत ने पाकिस्तान के 588 के स्कोर का जवाब 603 के विशाल कुल स्कोर के साथ दिया था.

    सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा ने रखा मॉडलिंग की दुनिया में कदम, लग रहीं गजब की खूबसूरत- VIDEO

    लक्ष्मण ने सुनाया मजेदार किस्सा
    लक्ष्मण ने स्टार स्पोर्ट्स पर बताया, ”मुझे अभी भी याद है कि वह ड्रेसिंग रूम में वापस आए थे (2006 में फैसलाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ अपने पहले टेस्ट शतक के बाद) और जोर से कह रहे था कि ‘मैं अपनी रिटायरमेंट की घोषणा करने जा रहा हूं – एमएस धोनी, मैं सौ मारा टेस्ट क्रिकेट में, बस यार… मुझे टेस्ट क्रिकेट से और कुछ नहीं चाहिए!’ और यह सुनकर हम चौंक गए और हैरान रह गए, लेकिन एमएस धोनी हमेशा से यही थे.”

    धोनी ने 2008 में संभाली टीम की कमान
    महेंद्र सिंह धोनी का पहला टेस्ट शतक उनके लिए सिर्फ एक कदम था. उन्होंने 2008 में टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में पदभार संभाला था. टीम इंडिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान धोनी ने 60 मैचों में 27 जीत हासिल की. वह आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंचने वाले पहले भारतीय कप्तान थे.

    एमएस धोनी दिखे युवराज संग, फैंस को आए पुराने दिन याद, वीडियो हुआ वायरल

    तीनों ICC ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान
    200 वनडे मैचों में ‘मेन इन ब्लू’ का नेतृत्व करने वाले एकमात्र भारतीय कप्तान धोनी ने 2007 में उद्घाटन टी20 विश्व कप में एक युवा टीम की कप्तानी की और खिताब जीता. 2011 में भारत ने उनकी कप्तानी में 50 ओवर का विश्व कप जीता. इसके बाद धोनी की ही कप्तानी में 2013 में टीम इंडिया ने चैंपियंस ट्रॉफी भी जीती. धोनी खेल के इतिहास में तीनों आईसीसी ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं.

    Tags: Cricket news, India Vs Pakistan, Ms dhoni, Vvs laxman

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर