राफेल पर ट्वीट करके ट्रोल हुए एमएस धोनी, ये है वजह

राफेल पर ट्वीट करके ट्रोल हुए एमएस धोनी, ये है वजह
फैंस का कहना है कि एमएस धोनी को आसान शब्‍दों में ट्वीट करना चाहिए था (फाइल फोटो)

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने वायु सेना के गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में राफेल (Rafel) के शामिल होने पर बधाई दी थी, मगर इसके बाद वो ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 8:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पूर्व भारतीय दिग्‍गज विकेटकीपर बल्‍लेबाज एमएस धोनी (MS Dhoni) इस दिनों आईपीएल (IPL 2020) में बिजी हैं. धोनी की टीम 19 सितंबर को मुंबई इंडियंस के खिलाफ ओपनिंग मैच से अपने अभियान का आगाज करेगी. सोशल मीडिया पर काफी कम एक्टिव रहने वाले धोनी ने गुरुवार को राफेल के भारतीय वायु सेना में शामिल होने पर बधाई देते हुए ट्वीट किया, मगर इस ट्वीट के बाद वो ट्रोल होने लगे.

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने लिखा कि वायु सेना के गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में राफेल के शामिल होने पर बधाई. हम उम्मीद करते हैं कि राफेल मिराज-2000 को पीछे छोड़ देगा, लेकिन सुखोई मेरा अब भी पसंदीदा है और अब जवानों को डॉगफाइट के लिए एक और नया लक्ष्य मिल गया है. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ 4.5 जनरेशन के लड़ाकू विमानों के शामिल होने के साथ ही इन्हें दुनिया के सबसे बेहतरीन फाइटर पायलट भी मिल गए हैं. हमारे काबिल पायलटों के हाथों और भारतीय वायु सेना के अलग-अलग विमानों के बीच इस विमान की ताकत और ज्यादा बढ़ेगी.





ट्रोल होने लगे एमएस धोनी
इस ट्वीट के बाद धोनी ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए. कुछ ट्रोलर्स ने तो यहां तक कह दिया कि उन्‍होंने सुशांत सिंह राजपूत के बारे में एक भी ट्वीट नहीं किया. वहीं कुछ ने कहा कि धोनी ने जो कहा वो समझ तो नहीं आया, मगर सुनकर अच्‍छा लगा. धोनी के एक फैन ने कहा कि लेफ्टिनेंट कर्नल आपको आसान शब्‍दों का इस्‍तेमाल करने की जरूरत है.





यह भी पढ़ें: 

हरभजन सिंह को चेन्‍नई के बिजनेसमैन ने लगाया 4 करोड़ रुपये का चूना, गेंदबाज ने करवाया केस दर्ज!

IPL 2020: क्रिकेट की दुनिया के इस बड़े रिकॉर्ड के करीब क्रिस गेल

अंबाला एयरबेस में वायुसेना में शामिल हुए राफेल
सर्व धर्म पूजा के बाद राफेल लड़ाकू विमान औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गया है. राफेल अंबाला एयरबेस पर 17 स्कवॉड्रन 'गोल्डन ऐरोज़' में शामिल किया गया है. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोंरेस पार्ले की मौजूदगी में राफेल वायुसेना में शामिल हुआ. भारत-चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत के लिए इस उपलब्धि को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद दुश्मनों के खिलाफ बड़ी बढ़त के तौर पर देखा जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज