• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • तिहरा शतक जड़ने के बाद इस बल्‍लेबाज को कर दिया था टीम इंडिया से बाहर, अब मुख्‍य चयनकर्ता ने किया बड़ा खुलासा

तिहरा शतक जड़ने के बाद इस बल्‍लेबाज को कर दिया था टीम इंडिया से बाहर, अब मुख्‍य चयनकर्ता ने किया बड़ा खुलासा

बता दें हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने भी यही बात कही थी. प्रसाद ने कहा था कि अगर टीम इंडिया टी20 वर्ल्ड कप के लिए कैंप लगाती है तो उसमें धोनी को होना ही चाहिए. प्रसाद का मानना था कि धोनी उस कैंप में खिलाड़ियों की काफी मदद कर सकते हैं. वो पंत, सैमसन और केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों को तैयार कर सकते हैं.

बता दें हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने भी यही बात कही थी. प्रसाद ने कहा था कि अगर टीम इंडिया टी20 वर्ल्ड कप के लिए कैंप लगाती है तो उसमें धोनी को होना ही चाहिए. प्रसाद का मानना था कि धोनी उस कैंप में खिलाड़ियों की काफी मदद कर सकते हैं. वो पंत, सैमसन और केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों को तैयार कर सकते हैं.

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने अपने उन तीन फैसलों का खुलासा किया, जिसको लेने का उन्‍हें मलाल है

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. हाल ही में टीम इंडिया के मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) का कार्यकाल खत्‍म हो गया है. अपने कार्यकाल के दौरान उन्‍होंने टीम इंडिया की भलाई के लिए कई मुश्किल फैसले भी लिए. मगर इसके बावजूद 45 साल के प्रसाद को अपने लिए गए कुछ फैसलों का दुख भी है, जो उन्‍होंने बतौर चयनकर्ता लिए. एमएसके प्रसाद ने उन तीन बड़े फैसलों के बारे में खुलासा किया जो उन्‍हें बतौर चयनकर्ता लिया और उन्‍हें उसका मलाल भी है. पहला मलाल तो उन्‍हें करुण नायर (Karun Nair) को अधिक मौके न देने का है. कर्नाटक के इस बल्‍लेबाज ने 2016 में इंग्‍लैंड के खिलाफ तिहरा शत‍क जड़ा था. , मगर इसके बाद उन्‍हें टेस्‍ट मैच खेलने के ज्‍यादा मौके नहीं मिल पाए और नायर को टीम से बाहर ही रखा गया.

    एमएसके प्रसाद ने महसूस किया कि उनके पैनल को इस प्रतिभाशाली बल्‍लेबाज को टीम में वापसी का मौका दिया जाना चाहिए. फैनकोड से बात करते हुए प्रसाद ने कहा कि उन्‍हें करुण नायर के लिए बुरा लगता है. खासकर उनके तिहरे शत‍क के बाद से उन्‍हें और भी अधिक बुरा लगता है. तिहरे शतक के बाद नायर को अधिक मौके नहीं दिए गए. उन्‍हें वापसी का मौका नहीं दिया गया. उन्‍होंने कहा कि अगर कोई 300 रन का स्‍कोर करता है, ये वर्ल्‍ड क्रिकेट में बहुत ही मुश्किल से देखने को मिलता है और हम उन्‍हें वापसी का मौका नहीं दे पाए, जो बहुत ही दिल तोड़ने वाला है. न सिर्फ करुण के लिए, बल्कि हम सभी के लिए.

    रायडू के लिए लगता है बुरा
    वर्ल्‍ड कप में नंबर 4 के लिए अंबाती रायडू को नजरअंदाज किए जाने पर चसनकर्ताओं की काफी आलोचना भी हुई थी. इस पर प्रसाद ने कहा कि उन्‍हें रायडू के लिए बुरा लगता है. आखिर तक वर्ल्‍ड कप टीम में उन्‍हें शामिल किए जाने पर चर्चा हो रही थी. मगर चयन वाले दिन वो चूक गए. उन्‍होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि रायडू को इसके लिए बुरा महसूस होता है. उन्‍होंने कहा कि इस फैसले से पूरी चयन समिति, सभी सदस्‍य को भी बुरा महसूस हुआ.

    टॉप गेंदबाजों को किया बाहर
    प्रसाद के कार्यकाल में स्पिनर कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) और युजवेंद्र चहल सफल साबित हुए. हालांकि 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के बाद उन्‍हें अपने दो दिग्‍गज स्पिनर्स आर अश्विन और रवींद्र जडेजा को टीम से बाहर करना पड़ा. प्रसाद ने कहा कि उन्‍हें इस बात का दुख है कि चैंपियंस ट्रॉफी के बाद उन्‍हें अश्विन और जडेजा के साथ आगे बढ़ना चाहिए थे, मगर वें कुलदीप और चहल को लेकर आए. उन्‍होंने कहा कि इससे टीम को दो साल तक फायदा भी हुआ, मगर जब उन्‍होंने अश्विन और जडेजा को बाहर किया था तो उस समय वें नंबर एक और नंबर 2 पर थे.

    एस श्रीसंत बोले केएल राहुल बनेंगे टीम इंडिया के कप्तान, बताई वजह

    सचिन के बारे में तो खूब सुना होगा, मगर उनके मास्‍टर की कहानी जानते हैं आप?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज