लाइव टीवी

भारतीय क्रिकेटर अपहरण के आरोप में गिरफ्तार, फिक्सिंग में भी आ चुका है नाम

News18Hindi
Updated: December 5, 2019, 5:40 PM IST
भारतीय क्रिकेटर अपहरण के आरोप में गिरफ्तार, फिक्सिंग में भी आ चुका है नाम
रोबिन मोरिस.

रोबिन मोरिस (Robim Morris) ने घरेलू क्रिकेट में 1995 से 2007 के दौरान 42 प्रथम श्रेणी मैच में 76 और 51 लिस्‍ट ए मैच में 46 विकेट लिए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2019, 5:40 PM IST
  • Share this:
मुंबई: मुंबई के पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेटर रोबिन मोरिस (Robin Morris) को अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. खबर है कि उनके 4 साथी भी मुंबई में ही पकड़े गए हैं. रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला लोन न मिलने के बाद अपहरण की नाकाम कोशिश से जुड़ा हुआ है. मोरिस का नाम पिछले साल भी विवादों में आया था. विदेशी न्‍यूज चैनल अल जजीरा के क्रिकेट में फिक्सिंग को लेकर किए गए स्टिंग ऑपरेशन में मौरिस का नाम भी था.

रोबिन मोरिस को चाहिए था 3 करोड़ का लोन
इंडियन एक्‍सप्रेस ने मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के हवाले से छापा है कि कुछ साल पहले रोबिन मोरिस (Robin Morris) को 3 करोड़ रुपये का लोन चाहिए था. वह अपने एक दोस्‍त के जरिए शिकायतकर्ता (लोन एजेंट) के संपर्क में आए. शिकायतकर्ता ने रोबिन से कमीशन के रूप में 7 लाख रुपये लिए लेकिन वह लोन नहीं दिला पाया. जब कमीशन वापस मांगा गया तो वह सालभर बाद भी नहीं मिला.

मुंबई पुलिस.


एजेंट से वापस मांगा था कमीशन
आरोप है कि इससे गुस्‍साए पूर्व क्रिकेटर ने लोन एजेंट को कुर्ला के एक रेस्‍तरां में बुलाया और अपने साथियों के साथ मिलकर जबरदस्‍ती उसे वर्सोवा वाले घर ले गए. इसके बाद उन्‍होंने लोन एजेंट के परिवार को फोन किया और कमीशन की रकम वापस करने को कहा. परिवार ने पुलिस को जानकारी दी जिसके बाद मामला दर्ज किया गया.

स्टिंग ऑपरेशन में आया था नामवहीं फिक्सिंग का खुलासा करने वाले अल जजीरा के स्टिंग में रोबिन मोरिस पाकिस्‍तान के पूर्व बल्‍लेबाज हसन रजा के साथ नजर आए थे. इसमें रजा के साथ बैठकर उन्‍होंने टी20 टूर्नामेंट में स्‍पॉट फिक्सिंग कराने का दावा किया था. हालांकि बाद में उन्‍होंने किसी भी तरह का गलत काम करने से इनकार किया था. उनका कहना था कि चैनल ने उन्‍हें एक मूवी में काम के लिए ऑडिशन देने को बुलाया था.

42 फर्स्‍ट क्‍लास और 51 लिस्‍ट ए मैच खेले
रोबिन मोरिस ने घरेलू क्रिकेट में 1995 से 2007 के दौरान 42 प्रथम श्रेणी और 51 लिस्‍ट ए मैच खेले. वे तेज गेंदबाज थे और उन्‍होंने फर्स्‍ट क्‍लास में 76 और लिस्‍ट ए में 46 विकेट लिए. वह बीसीसीआई से बगावत कर इंडियन क्रिकेट लीग में मुंबई चैंप्‍स की ओर से खेले थे. लेकिन 2009 में बीसीसीआई ने उन्‍हें माफ कर दिया था.

विराट कोहली बोले- ऋषभ पंत को अकेला नहीं छोड़ सकते

इस पाकिस्तानी खिलाड़ी ने बेच दिया था ईमान, अब मैच फिक्सिंग पर देगा लेक्चर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर