उप्र में अच्छे टूर्नामेंट की कमी, इस कारण सीनियर लेवल पर प्रदर्शन खराब हुआ: पूर्व क्रिकेटर

विजय हजारे के फाइनल में उप्र अच्छा प्रदर्शन करना चाहेगी.

विजय हजारे के फाइनल में उप्र अच्छा प्रदर्शन करना चाहेगी.

विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट का फाइनल रविवार को उप्र और मुंबई के बीच खेला जाएगा. उप्र ने गुजरात को जबकि मुंबई ने कर्नाटक को हराकर फाइनल में जगह बनाई.

  • Last Updated: March 12, 2021, 9:59 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. फिरोजशाह कोटला मैदान में रविवार को उप्र और मुंबई के बीच विजय हजारे ट्रॉफी का फाइनल खेला जाएगा. सबसे ज्यादा निगाहें यूपी की टीम पर होगी. क्योंकि टीम ने 16 साल बाद फाइनल के लिए क्वालिफाई किया है. सेमीफाइनल मैच में उत्तर प्रदेश ने गुजरात को 5 विकेट से हराया था. अक्षदीप नाथ ने शानदार गेंदबाजी करने के बाद अर्धशतक भी लगाया. मुंबई ने कर्नाटक को हराकर खिताबी दौर में प्रवेश किया था.

पूर्व क्रिकेटर रतनेश मिश्रा ने यूपी के इस प्रदर्शन पर पर कहा कि लड़ाई हर जगह एक जैसी है. फिर चाहे वो रणजी हो, विजय हजारे हो या फिर कोई भी फॉर्मेट. हम अंडर-16 और अंडर-19 में तो जीत रहे थे, लेकिन बड़ी ट्राफी में पीछे जा रहे थे. उन्होंने कहा कि विजय हजारे को फाइनल खेलने में हमें 16 साल इसलिए लग गए, क्योंकि हमारे यहां प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट के मुकाबले कम हुए हैं. शीशमहल और प्राइज मनी क्रिकेट टूर्नामेंट के कम होने के बाद मुश्किलें बढ़ी हैं. पिछले एक साल में कोरोना की वजह से चीजें और खराब हुई हैं.

रतनेश मिश्रा ने कहा कि विजय हजारे क्रिकेट खेल रही टीम के मौजूदा कोच और कप्तान बहुत मेहनत कर रहे हैं. इस बार बेहतर कोच के आने के साथ टीम और मजबूत हुई है. टीम वही है. खिलाड़ी वही हैं. टीम के 7-8 खिलाड़ी ऐसे हैं, जो आईपीएल खेल रहे हैं. सभी खिलाड़ी लगातार मेहनत कर रहे हैं. लेकिन देर से ही सही हम फाइनल में पहुंचे. आईपीएल और फर्स्ट क्लास को लेकर उन्होंने कहा कि आईपीएल की चमक ने नए खिलाड़ियों को अपनी तरफ खींचा है. बच्चों को लगता है कि वो 20-20 का फॉर्मेट खेलकर 20 से 30 लाख का कॉन्ट्रैक्ट हासिल कर लेंगे. किसी भी खेल प्रेमी से आप पूछेंगे तो वो आपको नहीं कहेगा कि खिलाड़ियों का असली भविष्य फर्स्ट क्लास क्रिकेट है, 20-20 नहीं. बच्चे आईपीएल जैसे फॉर्मेट में खेल रहे हैं, उनका पूरा ध्यान वहीं केंद्रित हाेता जा रहा है. वे फर्स्ट क्लास क्रिकेट से दूर होते जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज