इस वजह से 'गुरु' सुशांत सिंह राजपूत से किया था न मिलने का वादा, मौत की खबर सुनकर बेसुध हुआ यह क्रिकेटर

इस वजह से 'गुरु' सुशांत सिंह राजपूत से किया था न मिलने का वादा, मौत की खबर सुनकर बेसुध हुआ यह क्रिकेटर
सुशांत सिंह राजपूत ने पहली फिल्म में क्रिकेट कोच का किरदार निभाया था

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के दिग्विजय सिंह ने सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के साथ उनकी पहली फिल्म में काम किया था

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 19, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के आत्महत्या कर लेने के बाद से उनके फैंस और चाहने वाले सकते में है. सुशांत शर्मीले थे लेकिन वह अपने व्यवहार से  लोगों के दिल में जगह बना लेते थे. सुशांत ने काय पो छे फिल्म के साथ बॉलीवुड में डेब्यू किया था. इस फिल्म में वह क्रिकेट कोच की भूमिका में नजर आए थे. फिल्म में वह एक बच्चे ट्रेन कर रहे थे जो आगे चलकर भारत के लिए खेलता है. रील लाइफ की कहानी रियल लाइफ में भी पूरी होने की कगार पर थी.

दरअसल सुशांत के साथ इस फिल्म उस बच्चे का किरदार निभाने वाले दिग्विजय देशमुख (Digvijay Deshmukh) आईपीएल में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की ओर से खेलने वाले हैं. उन्होंने तय किया था कि जबतक वह क्रिकेटर नहीं बन जाते तबतक सुशांत सिंह से नहीं मिलेंगे हालांकि अब उन्हें इस बात का अफसोस है क्योंकि उनकी यह इच्छा कभी पूरी नहीं हो सकती है.

क्रिकेटर बन कर सुशांत मिलना चाहते थे दिग्विजय सिंह
मुंबई इंडियंस ने सुशांत औऱ दिग्विजय की तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, 'जब-जब अली (फिल्म में दिग्विजय का नाम) मैदान पर उतरेगा उसका मास्टर इशान (सुशांत) स्वर्ग से मुसकुरा रहा होगा.
दिग्विजय सिंह ने बताया कि काय पो छे की शूटिंग के समय उन्होंने तय किया था कि वह एक अच्छा क्रिकेटर बनने के बाद ही सुशांत सिंह से फिर से मिलेंगे. इस साल 2020 ऑक्शन में दिग्विजय सिंह को मुंबई इंडियंस ने टीम में शामिल किया. दिग्विजय इसके बाद सुशांत से मिलना चाहते थे लेकिन उनकी एक्टर के यूं चले जाने से अब उनका यह सपना कभी पूरा नहीं होगा.



चीनी कंपनी के साथ रिश्‍ता तोड़ने को तैयार बीसीसीआई, मगर इस शर्त के साथ

चेतेश्वर पुजारा का बड़ा बयान, इस अहम चुनौती के लिए अभी तैयार नहीं भारत के स्टार बल्लेबाज!

सुशांत को बेहद पसंद था क्रिकेट
सुशांत के बारे में बात करते हुए दिग्विजय ने कहा, 'उनमें क्रिकेट को लेकर काफी जुनून था. मैंने छह महीने पहले तक उनके साथ काम किया. वह मुझे अपने कमरे में बुलाते थे और सीन और कैमरा एंदर के बारे में बताते थे. शूटिंग के आखिरी दिन मैंने उनसे वादा किया कि मैं तब तक उनसे नहीं मिलूंगा जब तक एक अच्छा क्रिकेटक न बन जाऊं. इस साल मेरा सपना पूरा हुआ लेकिन फिर लॉकडाउन लग गया जिसकी वजह से मैं उनसे नहीं मिल पाया. मुझे अफसोस रहेगा कि खुद से किए वादे के कारण मैं उनसे मिल नहीं पाया.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज