मुरली कार्तिक भारतीय स्पिनरों का स्तर देखकर दुखी, कहा- भयानक हैं ये गेंदबाज

मुरली कार्तिक ने डोमेस्टिक क्रिकेट के स्पिनरों को भयानक कहा है (Murli Karthik/Instagram)

मुरली कार्तिक ने डोमेस्टिक क्रिकेट के स्पिनरों को भयानक कहा है (Murli Karthik/Instagram)

मुरली कार्तिक का कहना है कि घरेलू सर्किट में भारतीय स्पिनरों की गुणवत्ता में भारी गिरावट आई है.कार्तिक ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में भारत के लिए खेला है और वह खुद को उस युग में खेलने के लिए भाग्यशाली मानते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. पूर्व क्रिकेटर मुरली कार्तिक (Murli Karthik) ने युवा भारतीय स्पिनरों (Indian Spinners) को लेकर बड़ा बयान दिया है. मुरली कार्तिक का कहना है कि घरेलू सर्किट में भारतीय स्पिनरों की गुणवत्ता में भारी गिरावट आई है. मुरली कार्तिक ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में भारत के लिए खेला है और वह खुद को उस युग में खेलने के लिए भाग्यशाली मानते हैं. कार्तिक का कहना है कि वह भाग्यशाली हैं कि उन्हें उस दौर में खेलने का मौका मिला, जब स्पिन भारतीय टीम की ताकत होती थी. बिशन सिंह बेदी ने उन्हें स्पिन के कई गुर सिखाए और साथ ही वनडे मैचों में में भी स्लिप और सिली पॉइंट के साथ आक्रमण करने के लिए मजबूर किया.

मुरली कार्तिक को लगता है कि घरेलू क्रिकेट में भारतीय स्पिन गेंदबाजों की गुणवत्ता अब पहले जैसी नहीं रही. पूर्व क्रिकेटर कार्तिक उस टीम इंडिया का हिस्सा थे, जिसने 2000 के दशक की शुरुआत में महान स्पिनर अनिल कुंबले और अनुभवी हरभजन सिंह शामिल थे. कार्तिक का कहना है कि कुछ स्पिनरों को छोड़कर, घरेलू सर्किट में युवा क्रिकेटरों के पास रेड-बॉल क्रिकेट में घरेलू नाम बनने के लिए स्पिन-बॉलिंग वाले उत्तराधिकारी नहीं है. ऐसे में कार्तिक ने आने वाले स्पिनरों को सीमित ओवरों के प्रारूप में अपना नाम बनाने की बजाय लाल गेंद वाले क्रिकेट को प्राथमिकता देने की सलाह दी है.

युजवेंद्र चहल की पत्नी ने साड़ी पहन कर किया ऐसा डांस, दीवाने हुए फैन्स- VIDEO

विराट की बेटी वामिका की फोटो क्लिक करने पर भड़के फैंस, बोले- बच्चे का दम घुट रहा होगा
मुरली कार्तिक ने 'द लास्ट विकेट पॉडकास्ट' पर बातचीत में कहा, ''चीजें बदल गई हैं और इसके साथ ही गुणवत्ता में भारी गिरावट आई है. तो अगर आप मुझसे पूछें कि क्या हमारे पास उस तरह के स्पिनर हैं. तो मैं कहूंगा नहीं... स्पिन का स्तर केवल नीचे जा रहा है. कई पूर्व स्पिनर जो हमें किसी समय खेलते देखा करते थे, वे अब अपनी कब्र से कह रह होंगे- क्या गेंदबाज हैं ये? भयानक गेंदबाज!''

Youtube Video

बता दें कि मुरली कार्तिक ने भारत के लिए 8 टेस्ट मैचों में 2.54 की इकोनॉमी से 24 विकेट झटके हैं. वहीं, 37 वनडे मैचों में 5.07 की इकोनॉमी से 37 विकेट हासिल किए हैं. उन्होंने सिर्फ एक टी20 इंटरनेशनल खेला है, जिसमें उन्हें कोई विकेट नहीं मिला है. मुरली रिटायर होने से पहले आईपीएल में भी खेले. अब वे कॉमेंटेटर की भूमिका में नजर आते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज