युजवेंद्र चहल ने कहा- आप हर मैच में विकेट नहीं ले सकते, मेरा फॉर्म नीचे नहीं आया

युजवेंद्र चहल अंतिम 5 इंटरनेशनल मैच में सिर्फ 4 विकेट ले सके. (AFP)

युजवेंद्र चहल अंतिम 5 इंटरनेशनल मैच में सिर्फ 4 विकेट ले सके. (AFP)

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) का प्रदर्शन पिछले कुछ समय से खराब चल रहा है. वे टीम इंडिया की प्लेइंग-11 से बाहर हो गए हैं. लेकिन उनका मानना है कि उनके प्रदर्शन में गिरावट नहीं आई है. वे अंतिम 5 इंटरनेशनल मैच में सिर्फ 4 विकेट ले सके हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान युजवेंद्र चहल की जगह राहुल चाहर को अंतिम दो मैच में मौका मिला था. चहल पिछले कुछ समय से इंटरनेशनल मुकाबलों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं. इस कारण वे टीम से अंदर-बाहर हो रहे हैं. लेकिन उनका मानना है कि उनके प्रदर्शन में गिरावट नहीं आई है. टीम इंडिया को जुलाई में श्रीलंका में वनडे और टी20 सीरीज खेलनी है. चहल को दौरे के लिए चुना जा सकता है.

युजवेंद्र चहल ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, ‘मुझे नहीं लगता है कि मैं खराब फॉर्म में हूं. मैं लंबे समय से खेल रहा हूं. मैं आईपीएल में भी गेंदबाजी कर रहा हूं. आप हर मैच में विकेट नहीं ले सकते.’ उन्होंने कहा कि अगर आपको कुछ मैच में विकेट नहीं मिलता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपके प्रदर्शन में गिरावट आई है. टी20 में आपको नियंत्रण के साथ गेंदबाजी करने की जरूरत होती है. हमें रन रोकना होता है. इस कारण टी20 में गेंदबाजी करना मुश्किल है.

तीन मैच में सिर्फ तीन विकेट ले सके थे

युजवेंद्र चहल मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के तीन मैच में सिर्फ 3 विकेट ले सके थे. इतना ही नहीं उन्होंने लगभग हर ओवर में 10 रन की इकोनॉमी से रन दिए. अंतिम 13 टी20 इंटरनेशनल में वे सिर्फ 10 विकेट ले सके हैं. वहीं अंतिम दो वनडे मैच की बात की जाए तो चहल ने 8 से अधिक की इकोनॉमी से रन दिए और सिर्फ एक विकेट ले सके. उन्होंने वनडे के 54 मैच में 92 विकेट लिए हैं. इसके अलावा 48 टी20 में 62 विकेट झटके हैं.
बल्लेबाजों के साथ भी ऐसी दिक्कत आती है

युजवेंद्र चहल ने कहा कि यहां तक पहुंचने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की है. लोगों को मुझे विकेट लेते देखने की आदत हो गई है. मैंने विकेट लेकर अपने फैंस को प्रभावित किया है. जाहिर सी बात है जब मैं विकेट नहीं लूंगा तो वे निराश होंगे और तुलना भी होगी. उन्होंने कहा कि मेरे फॉर्म में किसी तरह की कमी नहीं आई है. ऐसा बल्लेबाजों के साथ भी होता है जब वे 4-5 मैच में रन नहीं बना पाते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज