अश्विन के साथ आए नाथन लायन, बोले- जब हम सीमिंग पिच पर 47, 60 जैसे स्कोर पर आउट हुए तो किसी ने कुछ नहीं कहा

पिच विवाद पर अश्विन को मिला लायन का साथ (फोटो-AP)

पिच विवाद पर अश्विन को मिला लायन का साथ (फोटो-AP)

ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथन लायन को मोटेरा पिच से कोई परेशानी नहीं है. उल्टा उन्हें तो ये पिच पसंद आई और वे खुलकर पिच का बचाव करने वाले भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्नन अश्विन के समर्थन में आ गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 1:36 PM IST
  • Share this:
सिडनी. भारत और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के नए बने नरेंद्र मोदी स्टेडियम ( Narendra Modi Stadium) में खेले गए पिंक बॉल टेस्ट की पिच को लेकर लगातार आलोचना हो रही है. इंग्लैंड और भारत के कई पूर्व खिलाड़ी भी इस पिच पर सवाल खड़े कर चुके हैं. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर नाथन लायन( Nathan Lyon) को इस पिच से कोई परेशानी नहीं हैं. उल्टा उन्हें तो ये पिच काफी पसंद आई और वे खुलकर इस पिच का बचाव करने वाले भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ( Ravichandran Ashwin) के समर्थन में आ गए.

लायन ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम दुनिया भर में तेज गेंदबाजों की मददगार सीमिंग विकेट पर खेलते हैं और 47, 60 जैसे स्कोर पर ऑल आउट हो जाते हैं.तब किसी ने पिच को लेकर न तो बवाल मचाया न कुछ कहा. लेकिन जैसे ही पिच से स्पिनर्स को मदद मिलने लगती है तो पूरी दुनिया में लोगों को परेशानी होने लगती है और हो-हल्ला मचाते हैं.

मोटेरा के पिच क्यूरेटर को सिडनी लाना चाहूंगा: लायन

33 साल के इस स्पिनर ने आगे कहा कि मैं पूरी रात जागकर मैच देख रहा था. मुकाबला वाकई शानदार था. मैं तो इस टेस्ट के पिच क्यूरेटर को सिडनी लाने के बारें में सोच रहा हूं. उन्होंने इस टेस्ट के लिए इंग्लैंड के टीम सेलेक्शन पर भी हैरानी जताई. लायन ने कहा कि स्पिनर्स की मददगार विकेट पर इंग्लैंड तीन तेज गेंदबाजों के साथ उतरा. जैक लिच ही इकलौते स्पेलिस्ट स्पिनर के तौर पर मैच खेले. सेलेक्शन में हुई इस चूक को ऐसे समझा जा सकता है कि इस मुकाबले में इंग्लैंड के कप्तान और पार्ट स्पिनर जो रूट ने पांच विकेट ले लिए. मेरे लिए इस टेस्ट की सबसे अच्छी बात ये रही कि इंग्लैंड मैच में चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरा. मेरे लिए यही काफी है और मुझे कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है.
अश्विन ने पिच पर सवाल उठाने वालों की बोलती बंद की

एक दिन पहले ही रविचंद्रन अश्विन ने भी मोटेरा टेस्ट की पिच को लेकर सवाल उठाने वाले इंग्लैंड के पत्रकार की बोलती बंद कर दी थी. अश्विन ने पत्रकार से कहा कि वो पहले ये जानना चाहते हैं कि अच्छी पिच होती क्या है? आखिर पिच को लेकर इतनी बात क्यों हो रही है? टीम इंडिया तो कभी पिच पर कोई बात नहीं करती.

'पिच पर सवाल खड़ा करना गलत'



अश्विन ने आगे कहा कि मेरा ये सवाल है कि अच्छी क्रिकेट पिच क्या है, ये कौन तय करता है?. अच्छी पिच होती है जिसमें गेंदबाज अच्छी बॉलिंग करे और बल्लेबाज अपना दम दिखाए. पहले दिन गेंद सीम हो, दो दिन अच्छी बल्लेबाजी हो और आखिरी दो दिनों में गेंद स्पिन हो. ये नियम किसने बनाए हैं ?. हमें इससे आगे जाने की जरूरत है. मुझे नहीं लगता कि इंग्लैंड के किसी खिलाड़ी को पिच से कोई दिक्कत है. वो इस हालात में खेलना चाहते हैं वो खुद को सुधारना चाहते हैं. हमने तो कभी किसी दौरे पर पिच पर कोई कमेंट नहीं किया.

दो दिन में ही खत्म हो गया था मोटेरा टेस्ट

बता दें कि भारत-इंग्लैंड के बीच मोटेरा में हुआ डे-नाइट टेस्ट सिर्फ दो दिन में ही खत्म हो गया था. पूरे मैच में 140.2 ओवर ही गेंदबाजी हुई और तीस विकेट गिरे थे. इसमें से 28 विकेट तो स्पिनर्स ने ही लिए. अक्षर पटेल ने मैच में 11 विकेट लिए, जबकि रविचंद्नन अश्विन ने 7 विकेट लिए थे. भारत ने ये टेस्ट 10 विकेट से जीतकर सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त हासिल कर ली थी. साथ ही वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के लिए अपना दावा और मजबूत कर लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज