भारतीय फुटबॉलर ने उठाया सवाल, बिना अभ्यास के कैसे वर्ल्ड कप क्वालिफायर खेलेगी टीम

भारतीय टीम ने किसी अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लिया है
भारतीय टीम ने किसी अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लिया है

भारतीय टीम को आठ अक्टूबर को कतर (Qatar) के खिलाफ2022 वर्ल्ड कप क्वालिफायर मैच खेलना है

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय फुटबॉल टीम के डिफेंडर प्रीतम कोटाल (Pritam Kotal) ने कहा है कि अक्टूबर में कतर (Qatar) के खिलाफ 2022 फीफा वर्ल्ड कप क्वालिफायर खेलने से पहले भारतीय टीम को कम से कम एक अभ्यास सत्र की जरूरत है. भारतीय टीम कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बीच किसी भी अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं ले पाई है. भारतीय टीम को 2022 फीफा वर्ल्ड कप क्वालिफायर के लिए भुवनेश्वर में एशिया की सबसे मजबूत टीमों में शामिल कतर के खिलाफ 8 अक्टूबर को मुकाबला खेलना है.

टीम के तौर पर अभ्यास की जरूरत
टीम के अहम डिफेंडर्स में शामिल कोटाल ने कहा, 'यह हमारे लिए काफी बुरा समय है. हमारे पर क्वालिफायर से पहले खेलने के लिए कोई दोस्ताना मैच नहीं है. कतर से भिड़ने से पहले हमें अभ्यास सत्र की जरूरत है. हमें अभ्यास के लिए समय की जरूरत है. बांग्लादेश और अफगानिस्कार के खिलाफ भी कैंप की जरूरत है. हर किसी ने घर पर रहते हुए अभ्यास किया है लेकिन टीम अभ्यास एकदम अलग होता है.'

कोच स्टिमाच ने बदला कोटाल का खेल
कोटाल कि वह प्रतिभा के इतने धनी नहीं थे लेकिन कड़ी मेहनत के दम पर कोच इगोर स्टिमाच की योजनाओं का अहम हिस्सा बन गये.



अब कोटल भारतीय टीम के लिये नियमित रूप से मैदान पर उतरने वाले शुरुआती खिलाड़ियों में शामिल रहते हैं. कोटल ने अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की वेबसाइट से कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो मैं नैसर्गिक प्रतिभा का खिलाड़ी नहीं था और मुझे यह स्वीकार करने में कोई शर्म भी नहीं है.मैं जानता हूं कि मुझे कड़ी ट्रेनिंग और कड़े अभ्यास कार्यक्रम के जरिये अपनी कमियों से पार पाना पड़ा.’

लॉकडाउन में कमरे के अंदर अभ्यास करते थे कोटाल
उन्होंने कहा, ‘यहां तक कि जिस दिन अभ्यास नहीं होता था, मैं कमरे में ट्रेनिंग किया करता था.’ कोटल ने गोवा में एआईएफएफ केंद्र में अंडर-19 टीम के साथ हर अभ्यास सत्र को अपनी डायरी में लिखना शुरू कर दिया.उन्होंने कहा, ‘मैंने इसलिये शुरू किया क्योंकि मैं अपनी गलतियों को कम करना चाहता था.इसमें सिर्फ मैं अभ्यास सत्र को ही नहीं बल्कि जो मैच खेले, उनके बारे में भी लिखा करता था.’ कोटल अब तक 36 अंतरराष्ट्रीय और 10 उम्र ग्रुप अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और उन्होंने स्वीकार किया कि एएफसी एशिया कप यूएई 2019 में बहरीन से मिली हार दिल तोड़ने वाली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज