डेब्यू मैच में दोहरा शतक ठोकने वाले बल्लेबाज के पास नहीं है नौकरी, पत्नी करती है कॉफी शॉप में काम

डेब्यू मैच में दोहरा शतक ठोकने वाले बल्लेबाज के पास नहीं है नौकरी, पत्नी करती है कॉफी शॉप में काम
मैथ्यू सिंक्लेयर की दर्दनाक कहानी

Mathew Sinclair Story: इस बल्लेबाज ने अपने पहले 12 टेस्ट मैचों में ही 2 दोहरे शतक मचाकर सनसनी मचा दी थी, लेकिन आज परिवार पालने के लिए उसके पास पैसे तक नहीं

  • Share this:
नई दिल्ली. क्रिकेट...एक ऐसा खेल जो किसी भी खिलाड़ी की जिंदगी बदल देता. आज कोई भी युवा आईपीएल खेल जाए तो उसकी जिंदगी बदल जाती है. हार्दिक पंड्या और क्रुणाल पंड्या को ही देख लीजिये. कहां ये दोनों भाई 100-200 रुपयों के लिए मैच खेलने जाते थे और आज क्रुणाल और हार्दिक दोनों करोड़पति हैं. हालांकि हर क्रिकेटर के साथ ऐसा नहीं होता. कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिनके जीवन में क्रिकेट पैसा नहीं लाया और यही नहीं इस खेल को छोड़ने के बाद वो खिलाड़ी बड़ी मुश्किल से परिवार का पेट पाल रहे हैं. आज हम आपको बताते हैं न्यूजीलैंड (New Zealand) के एक ऐसे बल्लेबाज की कहानी, जिसने अपने डेब्यू टेस्ट में ही दोहरा शतक जड़ दिया था, लेकिन आज उसके पास पक्की नौकरी तक नहीं है.

मैथ्यू सिंक्लेयर की कहानी
क्रिकेट फैंस न्यूजीलैंड के बल्लेबाज मैथ्यू सिंक्लेयर (Mathew Sinclair) नाम से तो वाकिफ ही होंगे. सिंक्लेयर दाएं हाथ के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज थे और उन्होंने अपने देश के लिए 33 टेस्ट मैच और 54 वनडे मैच खेले. उन्होंने दो टी20 मैचों में भी देश का प्रतिनिधित्व किया. न्यूजीलैंड के इस बल्लेबाज ने 188 फर्स्ट क्लास मैचों में 36 शतक लगाए और लिस्ट ए में इस बल्लेबाज ने 7 शतक और 48 अर्धशतक जमाए.

मैथ्यू सिंक्लेयर का रिकॉर्ड
मैथ्यू सिंक्लेयर (Mathew Sinclair) ने साल 1999 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना डेब्यू किया और पहले ही मैच में उन्होंने सनसनी मचा दी. मैथ्यू सिंक्लेयर ने अपनी पहली टेस्ट पारी में ही दोहरा शतक जड़ दिया और ये कारनामा करने वाले वो पहले कीवी खिलाड़ी बने. इसके बाद सिंक्लेयर ने साउथ अफ्रीका जैसी मजबूत टीम के खिलाफ 150 रन बनाए और अपने 12वें टेस्ट मैच में सिंक्लेयर ने पाकिस्तान के खिलाफ भी दोहरा शतक जड़ दिया. सिंक्लेयर देखते ही देखते न्यूजीलैंड क्रिकेट का बड़ा नाम बन गए. हालांकि वो अपने इस प्रदर्शन को ज्यादा दिन बरकरार नहीं रख सके और फिर उनका टीम में आना-जाना लगा रहा.



रिटायरमेंट लेते ही बदल गई सिंक्लेयर की जिंदगी
जब तक सिंक्लेयर (Mathew Sinclair) क्रिकेट खेलते रहे उनके पास अच्छा पैसा रहा लेकिन जुलाई 2013 में खेल को अलविदा कहते ही उनका जीवन बदल गया. सिंक्लेयर ने रिटायरमेंट के बाद बताया कि उनके पास कोई नौकरी नहीं है और अब परिवार को पालने के लिए वो सरकार के बेरोजगार फंड पर निर्भर हैं. सिंक्लेयर ने अपनी पूरी जिंदगी क्रिकेट खेला और उनके पास कोई डिग्री भी नहीं थी, यही वजह है कि सिंक्लेयर को कहीं नौकरी नहीं मिली. सिंक्लेयर के घर पर आर्थिक तंगी हो गई जिसके बाद उनका पत्नी से भी झगड़ा हुआ. यही नहीं सिंक्लेयर की नौकरी ना होने की वजह से उनकी पत्नी को एक कॉफी शॉप में काम करना पड़ा. इसके बाद सिंक्लेयर की मछली और शिकार करने वाली एक कंपनी में छोटी नौकरी मिली लेकिन 9 महीने में वो भी छूट गई.

आज क्या करते हैं सिंक्लेयर
बता दें सिक्लेयर (Mathew Sinclair) के पास आज भी पक्की नौकरी नहीं है. वो एक रियल एस्टेट कंपनी के साथ जुड़े हुए हैं जहां उन्हें कमिशन के आधार पर पैसे मिलते हैं. मतलब अगर वो कोई घर बेचेंगे तभी उन्हें पैसा मिलेगा. अगर नहीं बेच पाएंगे तो कोई पैसा नहीं. इतने बड़े खिलाड़ी का जीवन इस तरह कट रहा है, ये देखना बेहद कठिन है.

सचिन तेंदुलकर को आउट करने के बाद खतरे में पड़ गई थी इस गेंदबाज की जान!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading