रनों के लिए तरसे कोहली, इन रिकॉर्ड्स ने कप्तान को दिखाया करियर का सबसे खराब समय!

रनों के लिए तरसे कोहली, इन रिकॉर्ड्स ने कप्तान को दिखाया करियर का सबसे खराब समय!
विराट कोहली न्यूजीलैंड दौरे पर सिर्फ एक ही अर्धशतक लगा पाए

क्राइस्टचर्च में भी भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पहली पारी में सिर्फ 3 रन ही बना पाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 29, 2020, 10:41 AM IST
  • Share this:
क्राइस्टचर्च. न्यूजीलैंड (New Zealand) दौरे पर लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे विराट कोहली (Virat Kohli) क्राइस्टचर्च में भी अपने बल्ले से ज़ंग नहीं हटा पाए. मेजबान न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट की पहली पारी में कोहली सिर्फ तीन रन ही बना पाए. इस दौरे पर टीम इंडिया (Team India) पांच टी20, तीन वनडे और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने आई. क्राइस्टचर्च में खेला जा रहा यह मैच इस दौरे का आखिरी मैच है, मगर कप्तान कोहली अपने रनों का सूखा खत्म ही नहीं कर पा रहे हैं. इस दौरे पर वह सिर्फ अभी तक एक ही अर्धशतक लगा पाए. रनों के लिए तरस रहे कोहली के लिए यह सबसे खराब सीरीज रही, जिसे वह शायद ही याद रखना चाहेंगे. 2017 से यह उनकी सबसे खराब टेस्ट सीरीज रही.

क्राइस्टचर्च में कोहली टिम साउदी के शिकार बने. इसी के साथ उन्होंने कई शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं.

-   इंटरनेशनल क्रिकेट में साउदी ने 10वीं बार कोहली को अपना शिकार बनाया. इसके साथ ही साउदी किसी एक बल्लेबाज का सबसे ज्यादा बार शिकार करने वाले गेंदबाज बन गए हैं.



- इस दौरे पर कोहली ने 10 पारियों में कुल 204 रन ही बना पाए, जिसमें बस एक अर्धशतक शामिल है.
-  इस दौरे पर कोहली ने टी20 और वनडे सीरीज में 45, 11, 38, 11, 51, 15, 9 रन बनाए, जबकि टेस्ट सीरीज में 2, 19 और 3 रन बनाए. 2017 में ऑस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद यह उनकी सबसे खराब सीरीज साबित होती हुई नजर आ रही है. 2017 में उन्होंने पुणे टेस्ट में 0, 13, बेंगलोर टेस्ट में 12, 15 और रांची टेस्ट में 6 रन बनाए थे. हालांकि इस दौरे को उनके करियर का सबसे खराब दौरा माना जा रहा है, क्योंकि इससे पहले 2014 में इंग्लैंड दौरे पर उन्होंने सभी फॉर्मेट को मिलाकर 254 रन बनाए थे.

-  टॉस के मामले में कोहली का रिकॉर्ड काफी खराब है. सेना देशों की बात करें तो साउथ अफ्रीका में 3 में से एक, इंग्लैंड में 5 में शून्य, ऑस्ट्रेलिया में 4 में से तीन और न्यूजीलैंड में दो में शून्य बार ही कोहली टॉस जीत पाए हैं. कोहली ने इन देशों में जब भी टॉस जीता, वह हार से दूर ही रहे. साउथ अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग टेस्ट, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड और मेलबर्न में जीत हासिल की, जबकि सिडनी टेस्ट ड्रॉ खेला था.

- डीआरएस (DRS) खराब करने के मामले में कोहली अब तक सिर्फ दो बार ही सही साबित हुए हैं. टेस्ट क्रिकेट में एलबीडब्‍ल्यू आउट होने के बाद उन्होंने 13 बार डीआरएस लिया और सिर्फ दो बार ही वह सही साबित हुए हैं.

-  सेना देशों में कोहली की पिछली 5 बार पारियां 0, 23, 2, 19, 3 रही. करियर में पहली बार पिछली पांच पारियों उनका औसत 10 से कम रहा.

- पिछली 11 पारियों में कोहली विदेशी जमीं पर कोई शतक नहीं लगा पाए. विदेश में पिछला शतक उन्होंने 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में लगाया था. जहां उन्होंने 123 रन की पारी खेली थी.

क्राइस्टचर्च में पृथ्वी शॉ ने आलोचकों का मुंह किया बंद, नाम किया बड़ा रिकॉर्ड

दुबई में होगा एशिया कप, भारत और पाकिस्तान के बीच खेला जाएगा मुकाबला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज