पेसर काइल जेमिसन ने अचानक छोड़ा था IPL, अब बोले- अच्छे लोगों ने पहुंचाया घर

काइल जेमिसन IPL-2021 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. (Instagram)

न्यूजीलैंड के पेसर काइल जेमिसन (Kyle Jamieson) आईपीएल में विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के लिए खेल रहे थे. आईपीएल के बायो बबल में कोविड-19 के मामले मिलने के बाद इस लीग को बीच में ही स्थगित कर दिया गया था.

  • Share this:
    लंदन. न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जेमिसन (Kyle Jamieson) ने कहा कि भारत में महामारी के बीच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को छोड़ना एक 'दिलचस्प अनुभव' था लेकिन उन्हें विश्वास था कि उनके आसपास के 'अच्छे लोग' उनके पहले ब्रिटिश दौरे के लिए इंग्लैंड तक की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करेंगे. जेमिसन और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने दिल्ली से मालदीव जाना उचित समझा जहां से उन्होंने ब्रिटेन के लिए उड़ान भरी. राजधानी दिल्ली में कोविड-19 की बदतर स्थिति के कारण वे असुरक्षित महसूस कर रहे थे.

    जेमिसन ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा, 'यह दिलचस्प अनुभव था. यह ऐसा नहीं था जिसके आप योजना बना सकते हैं. हमें उसी समय सूचित किया गया. हमारे आसपास बीसीसीआई और आईपीएल टीमों से कुछ अच्छे लोग थे.' यह तेज गेंदबाज आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) की तरफ से खेल रहा था. आईपीएल के बायो बबल में कोविड-19 के मामले पाये जाने के बाद इस टूर्नामेंट को स्थगित कर दिया गया था. हालांकि अब इसे यूएई में कराने की घोषणा की गई है.

    जेमिसन ने कहा, 'हमें वही करना था जो हमारे लिए सही था. निश्चित तौर पर भारत में स्थिति विकट थी और हमें पता था कि बायो बबल के बाहर की स्थिति कैसी है. एक बार इस वायरस के बायो बबल में घुसने के बाद टूर्नामेंट स्थगित करना सही फैसला था.' उन्होंने कहा, 'हमें उन लोगों पर भरोसा रखना था और उन चीजों पर नियंत्रण रखना था जिन पर हम नियंत्रण रख सकते थे. हमारे आसपास कुछ अच्छे लोग थे जिन्होंने हमें इंग्लैंड तक पहुंचाने में मदद की.'

    इसे भी पढ़ें, धोनी को बल्‍लेबाजी की सलाह दे रहा था ट्रोलर, पूर्व भारतीय कप्‍तान ने कहा- कोई टिप्‍स सर

    जेमिसन ​इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच और फिर भारत के खिलाफ 18 से 22 जून के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल खेलने को लेकर उत्साहित हैं. उन्होंने कहा, 'यह मेरा इंग्लैंड का पहला दौरा है. मैं पहली बार लॉर्ड्स में खेलूंगा. मैं अपना ध्यान भटकाने के बजाय इसका पूरा लुत्फ उठाना चाहता हूं. इसलिए मैं इस टेस्ट और एजबेस्टन टेस्ट के अलावा (डब्ल्यूटीसी) फाइनल पर ध्यान दे रहा हूं.'