लाइव टीवी

नो बॉल पर इशांत शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को लिया आड़े हाथ, दिया ये बड़ा बयान

News18Hindi
Updated: December 15, 2018, 7:37 PM IST
नो बॉल पर इशांत शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को लिया आड़े हाथ, दिया ये बड़ा बयान
इशांत शर्मा

इशांत ने पहले टेस्ट में कुछ नो बॉल फेंकी थी जिस पर मैदानी अंपायरों का ध्यान नहीं गया. जबकि इसके कारण भारत दो मौकों पर विकेटों से भी महरूम रह गया, लेकिन मेजबान देश को यह बात पसंद नहीं आयी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2018, 7:37 PM IST
  • Share this:
टीम इंडिया के तेज गेंदबाज़ इशांत शर्मा ने पर्थ टेस्‍ट के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद ‘फ्रंट-फुट नो बॉल’ की चर्चा पर ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को आड़े हाथों लिया.

इशांत ने पहले टेस्ट में कुछ नो बॉल फेंकी थी जिस पर मैदानी अंपायरों का ध्यान नहीं गया. जबकि इसके कारण भारत दो मौकों पर विकेटों से भी महरूम रह गया, लेकिन मेजबान देश को यह बात पसंद नहीं आयी.

इशांत ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, ‘शायद ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को इस सवाल का जवाब देना चाहिए, मुझे नहीं. मैं इतने लंबे समय से क्रिकेट खेल रहा हूं. इस तरह की चीजें होती हैं. आप मुनष्य ही हो, आपसे गलती हो सकती है. मैं इसके बारे में जरा भी चिंतित नहीं था.’

उन्होंने कहा कि विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे का जवाबी हमला अहम रहा, जिससे भारत ने ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी में 326 रन के जवाब में तीन विकेट पर 172 रन बना लिये.

इशांत ने कहा, ‘जब भी विराट बल्लेबाजी कर रहा होता है तो हमें भरोसा रहता है. हमने दिन का समापन अच्छी तरह किया. उम्मीद है कि ये दोनों इसी तरह बल्लेबाजी करते रहेंगे. मैच में इस समय संतुलन बना हुआ है. उम्मीद है कि कल हम पहले सत्र में दबदबा बनाये रखेंगे.’

कोहली के नाबाद 82 रन और अजिंक्य रहाणे के नाबाद 51 रन से भारत ने मुरली विजय (शून्य) और केएल राहुल (02) के विकेट सस्ते में गंवाने के बाद वापसी की.

उन्होंने कहा, ‘रहाणे ने तेजी से 20-30 रन बनाये और उस समय इनकी सचमुच काफी जरूरत थी. अगर वे डिफेंसिव होकर खेलते तो शायद ऑस्ट्रेलिया अपनी योजना पर बरकरार रहती लेकिन उनका जवाबी हमला करना अहम था जिससे उसने उन्हें रणनीति बदलने को बाध्य कर दिया.’इससे पहले कोहली ने चेतेश्वर पुजारा के साथ तीसरे विकेट के लिये 74 रन जोड़े.

इशांत ने कहा, ‘जब पुजारा डिफेंसिव होकर खेलता है तो गेंद स्क्वायर से बाहर नहीं जाती. मैं उसके खिलाफ खेल चुका हूं और मैं जानता हूं कि उसे गेंदबाजी करना कितना मुश्किल है. वह गेंदबाजों को थका देता है. मैं जानता हूं कि अगर वह क्रीज पर रहता तो वह बेहतरीन कर सकता है. वह जिस तरह से आउट हुआ, वह दुर्भाग्यपूर्ण रहा. हमें ऐसे खिलाड़ियों के विकेट इतनी आसानी से नहीं मिलते.’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2018, 7:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर