होम /न्यूज /खेल /

VVS-द्रविड़ ने लिखी स्क्रिप्ट और हरभजन ने तोड़ दिया ऑस्ट्रेलिया का दंभ, किस्सा सबसे रोमांचक मैच का

VVS-द्रविड़ ने लिखी स्क्रिप्ट और हरभजन ने तोड़ दिया ऑस्ट्रेलिया का दंभ, किस्सा सबसे रोमांचक मैच का

भारत ने कोेलकाता टेस्ट में  फॉलोऑन खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दी थी. (News 18)

भारत ने कोेलकाता टेस्ट में फॉलोऑन खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दी थी. (News 18)

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने 21 साल पहले आज ही के दिन टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जो करिश्मा किया ऐसा स्वर्णाक्षरों में दर्ज है. साल 2001 में खेले गए कोलकाता टेस्ट (Kolkata) में 14 मार्च को वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ आउट ही नहीं हुए. भारत ने फॉलोऑन खेलते हुए यह मैच जीता. 145 साल सिर्फ 3 बार ऐसा हुआ है, जब कोई टीम फॉलोऑन खेलकर भी जीती है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. अगर यह पूछा जाए कि भारत ने अब तक जितने वनडे मैच जीते हैं, उनमें सबसे रोमांचक कौन सा है. तो जवाब सोचते ही जेहन में कई मैच याद आएंगे और किसी एक पर टिके रह पाना मुश्किल हो जाएगा. लेकिन अगर यह पूछा जाए कि भारत ने अब तक जितने टेस्ट मैच जीते हैं, उनमें सबसे रोमांचक कौन सा है. तो जवाब देने में मुश्किल नहीं आएगी. जिस किसी ने भी 2001 का कोलकाता टेस्ट देखा है, वह इस सवाल के जवाब इसी मैच का नाम लेगा. और ऐसा हो भी क्योें ना? 145 साल के इतिहास में सिर्फ 3 बार ही ऐसे उलटफेर भरे रोमांचक मैच खेले गए हैं, जब कोई टीम फॉलोऑन खेलकर भी जीत गई. कोलकाता टेस्ट मैच में यह कारनामा भारतीय टीम ने किया. वीवीएस  के 281 रन, द्रविड़ के 180 रन, हरभजन की हैट्रिक… और भी कितनी यादें हैं उस मैच की. आज 14 मार्च है. 2001 में 14 मार्च को ही लक्ष्मण और द्रविड़ ईडन गार्डंस में आउट ही नहीं हुए थे. इन दोनों की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलियाई दंभ को चकनाचूर कर दिया था.

    साल 1999. लगातार 16 टेस्ट मैच जीतने के खुमार में डूबी ऑस्ट्रेलिया (Australia) की टीम सीरीज का दूसरा मुकाबला खेलने कोलकाता (Kolkata) के ईडन गार्डंस पहुंची. इस मैच में भी ऑस्ट्रेलिया ने शानदार शुरुआत करते हुए पहली पारी में 445 रनों का विशाल स्कोर बनाया. सितारों से सजी ऑस्ट्रेलियाई टीम की ओर से कप्तान स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने 110, मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden) 97 और मार्क वॉ (Mark Waugh) 58 रन बनाकर टॉप स्कोरर रहे. भारत ने अपनी पहली पारी में जिस तरह से बल्लेबाजी की उसे देख कर लगा टीम इंडिया आसानी से हार जाएगी. घर में खेल रहे भारत की प्रतिष्ठा दांव पर थी. लेकिन भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 171 रनों पर ढेर हो गई. उसके बाद भारत को फॉलोऑन करना पड़ा. भारत की पहली इनिंग में वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laman) ने सबसे ज्यादा 59 रन बनाए थे.

    लक्ष्मण-द्रविड़ ने पलटी बाजी

    जब भारत अपनी पहली पारी में 171 रन बनाकर आउट हुआ तो कप्तान स्टीव वॉ ने टीम इंडिया को फॉलोऑन खेलने के लिए कहा. क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के पास 274 रनों की लीड थी. स्टीव वॉ समेत पूरी टीम का मानना होगा कि वे भारत को जल्दी समेट देंगे. लेकिन किसे पता था कि वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) कंगारुओं को छठी का दूध याद दिला देंगे. जब भारत की दूसरी पारी शुरू हुई तो सलामी बल्लेबाज शिव सुंदर दास (Shiv Sunder Das) और सदगोपन रमेश (Sadagoppan Ramesh) ने पहले विकेट के लिए 52 रन जोड़े. इसके बाद तीसरे नंबर पर आए वीवीएस लक्ष्मण ने मोर्चा संभाला. पहली पारी की तरह दूसरी इनिंग में भी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) 10 रन बनाकर आउट हो गए. वहीं, सौरव गांगुली ने 48 रनों की पारी खेली. सौरव जब आउट हुए तो उस समय टीम स्कोर 4 विकेट पर 232 रन था.

    लक्ष्मण ने खेली ऐतिहासिक पारी

    इसके बाद छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए राहुल द्रविड़ ने वीवीएस लक्ष्मण के साथ मिलकर खूंटा गाड़ दिया. इन दोनों बल्लेबाजों ने टेस्ट मैच के चौथे दिन बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को खूब छकाया. राहुल और लक्ष्मण के आगे ग्लेन मैक्ग्रा, जेसन गिलेस्पी, माइकल कास्प्रोविच और शेन वॉर्न जैसे धुरंधर गेंदबाज अदने से नजर आए. मैच के दौरान लक्ष्मण ने वॉर्न के एक ओवर में 4-4 चौके लगाए. वहीं, द्रविड़ दूसरे छोर पर अपनी स्टायलिश बल्लेबाजी का जलवा बिखेर रहे थे. इन दोनों खिलाड़ियों ने पांचवें विकेट के लिए 376 रनों की साझेदारी कर भारत को मजूबत स्थिति में पहुंचा दिया. इस दरम्यान लक्ष्मण ने अपने टेस्ट करियर की बेस्ट पारी खेलते हुए 281 रन बनाए. जबकि द वॉल राहुल द्रविड़ के बल्ले से 180 रनों की पारी निकली. फॉलोऑन खेलते हुए भारत ने 7 विकेट पर 657 रन बनाकर दूसरी पारी घोषित की.

    171 रनों से जीता भारत

    ऑस्ट्रेलिया जब लक्ष्य हासिल करने उतरा तो उसके सामने 384 रनों का विशाल टारगेट था. सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन और माइकल स्लेटर ने पहले विकेट के लिए 74 रन जोड़े. इसके बाद पहली पारी में हैट्रिक लगाने वाले हरभजन सिंह की गेंदों जादू एक बार फिर देखने को मिला. उन्होंने स्लेटर को 43 रनों पर आउट कर दिया. जस्टिन लैंगर 28 रन बनाकर हरभजन का शिकार बने. इसके बाद स्टीव वॉ की 24 रनों की पारी को छोड़ दिया जाए तो बाकी बल्लेबाज एक बाद एक आउट होते रहे. हरभजन सिंह ने करिश्माई गेंदबाजी करते हुए दूसरी पारी में 6 विकेट झटके. उनके अलावा तीन खिलाड़ियों को सचिन तेंदुलकर ने पवेलियन की राह दिखाई. जबकि, वेंकटपति राजू को एक विकेट मिला. इस तरह दूसरी पारी में पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 68.3 ओवर में 212 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. भारत ने इस मुकाबले में 171 रनों से जीत दर्ज की. 281 रनों की ऐतिहासिक पारी खेलने वाले वीवीएस लक्ष्मण को प्लेयर ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया. इस जीत के चलते भारत ने ऑस्ट्रेलिया के लगातार 16 टेस्ट मैच जीतने के सिलसिले को थामा था.

    Tags: Australia, Harbhajan singh, India vs Australia, On This Day, Rahul Dravid, Team india, Vvs laxman

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर