वनडे डेब्यू के चार साल बाद मिला टेस्ट में मौका, सौरव गांगुली ने पहले ही टेस्ट मैच में जड़ा था शतक

सौरव गांगुली को वनडे डेब्यू के करीब चार साल बाद टेस्ट में पदार्पण करने का मौका मिला था. (Instagram/Sourav Ganguly)

22 June, On this Day : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने 1992 में ही वनडे में पदार्पण कर लिया था लेकिन टेस्ट टीम में जगह बनाने के लिए करीब चार साल का लंबा वक्त लगा. उन्होंने 20 जून 1996 को ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर टेस्ट डेब्यू का मौका मिला और पहले ही मैच में उन्होंने खुद को साबित किया. गांगुली का डेब्यू टेस्ट मैच में शतक 22 जून को पूरा हुआ.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दुनिया के सबसे सफल क्रिकेट कप्तानों में शुमार सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और उनके फैंस के लिए 22 जून का दिन बेहद खास है. गांगुली ने 1992 में वनडे डेब्यू किया था लेकिन अपना पहला ही मैच खेलने के बाद वह करीब चार साल तक टीम से बाहर रहे. उन्हें 20 जून 1996 को टेस्ट पदार्पण का मौका मिला और पहले ही मैच में उन्होंने खुद को साबित किया. गांगुली ने अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतकीय पारी खेली थी, जो 22 जून को पूरा हुआ.

    22 जून 1996 में गांगुली ने अपने टेस्ट करियर के पहले ही मैच में शतक जड़ा था. इंग्लैंड के खिलाफ ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर भारतीय टीम की पहली पारी में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी को उतरे गांगुली ने 131 रन की उम्दा पारी खेली थी. उन्होंने इस दौरान 301 गेंदों का सामना किया और 20 चौके लगाए. यह मैच हालांकि 20 जून को शुरू हुआ था और दूसरे ही दिन यानी 21 जून को गांगुली बल्लेबाजी को उतर गए थे लेकिन उनका शतक तीसरे दिन पूरा हुआ. तब मोहम्मद अजहरूद्दीन टीम इंडिया की कमान संभाल रहे थे.

    माइक एथर्टन की कप्तानी में इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 344 रन बनाए, जिसमें विकेटकीपर बल्लेबाज जैक रसेल (124) का शतक खास रहा. उनके अलावा ग्राहम थोर्प ने 178 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से 89 रन की पारी खेली. गेंदबाजी में वेंकटेश प्रसाद ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए 76 रन देकर 5 विकेट झटके. उनके अलावा जवागल श्रीनाथ को 3 और गांगुली को 2 विकेट मिले.

    इसे भी पढ़ें, नहीं सुधरे ऋषभ पंत, फिर दोहराई वर्ल्ड कप 2019 सेमीफाइनल जैसी गलती

    गांगुली ने फिर बल्लेबाजी में कमाल दिखाया और 301 गेंदों पर 20 चौकों की मदद से 131 रन की पारी खेलकर अपने टेस्ट डेब्यू को यादगार बना दिया. तब घरेलू क्रिकेट में बंगाल टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले गांगुली ने बेहद संयमित अंदाज में अपनी पारी की शुरुआत की और वह छठे विकेट के तौर पर पैवेलियन लौटे. राहुल द्रविड़ इस मैच में शतक से चूक गए थे और 267 गेंदों पर 6 चौकों की मदद से 95 रन बनाकर लौटे. टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में 429 रन बनाए. इसके बाद इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 9 विकेट पर 278 रन बनाए और मैच ड्रॉ रहा. जैक रसेल मैन ऑफ द मैच बने.

    मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष 48 साल के गांगुली ने अपने करियर में 113 टेस्ट और 311 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. उन्होंने टेस्ट में 35 अर्धशतक और 16 शतक जमाते हुए कुल 7212 रन बनाए जबकि वनडे में उन्होंने 72 अर्धशतक और 22 शतक लगाए, कुल 11362 रन इस फॉर्मेट में बनाए. मध्यम गति से गेंदबाजी करने वाले गांगुली के नाम टेस्ट में 32 और वनडे में 100 विकेट भी दर्ज हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.