होम /न्यूज /खेल /

केविन पीटरसन ने 'अपने' देश के खिलाफ ठोका पहला अंतरराष्ट्रीय शतक, मैसेज लीक होने पर टीम से बाहर

केविन पीटरसन ने 'अपने' देश के खिलाफ ठोका पहला अंतरराष्ट्रीय शतक, मैसेज लीक होने पर टीम से बाहर

केविन पीटरसन का जन्म दक्षिण अफ्रीका में हुआ था लेकिन वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इंग्लैंड से खेले. (Instagram/KevinPietersen)

केविन पीटरसन का जन्म दक्षिण अफ्रीका में हुआ था लेकिन वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इंग्लैंड से खेले. (Instagram/KevinPietersen)

दिग्गज बल्लेबाज केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) की मां इंग्लैंड की रहने वाली थीं. पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने शुरुआत में उनकी काफी मदद की जिससे वह इंग्लैंड में क्लब क्रिकेट खेलने में कामयाब रहे. खास बात है कि वह पहले ऑफ स्पिनर बनना चाहते थे लेकिन उन्होंने फिर अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान दिया.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने अपनी बल्लेबाजी के दम पर कई रिकॉर्ड बनाए. उनके फैंस केवल इंग्लैंड में ही नहीं बल्कि प्रशंसकों की भारत में भी बड़ी तादाद है. वह आज यानी 27 जून 2021 को अपना 41वां जन्मदिन मना रहे हैं. पीटरसन का जन्म साउथ अफ्रीका के पीटरमैरिट्सबर्ग में हुआ था लेकिन उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय शतक इसी देश के खिलाफ ठोका.

    27 जून 1980 को जन्मे पीटरसन अपने करियर में इंग्लैंड से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले. लंबे कद के इस बल्लेबाज ने साल 2004 में अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया. उनके पिता जेनी पीटरसन दक्षिण अफ्रीका के रहने वाले थे जबकि उनकी मां पैनी इंग्लैंड की थीं. साल 2004 में उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया और अपने पहले वनडे में वह 27 रन बनाकर नाबाद लौटे. उन्होंने अगले ही साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ा. साल 2005 में इस मुकाबले में पीटरसन ने नाबाद 108 रन की पारी खेली.

    खास बात है कि पीटरसन ने शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका की घरेलू टीम का प्रतिनिधित्व किया. वह 17 साल की उम्र में दक्षिण अफ्रीका की घरेलू टीम नटाल 'बी' के लिए खेले. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी डेब्यू इसी टीम के लिए किया. वह शुरुआत में ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते और निचले क्रम पर बल्लेबाजी को उतरते थे. साल 1999 में इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका का दौरा किया और नटाल के खिलाफ तीनदिवसीय मुकाबला खेला. पीटरसन ने उस मैच में इंग्लैंड के 4 बल्लेबाजों को आउट कर अपनी प्रतिभा की झलक दिखाई जिसमें इंग्लैंड के तत्कालीन कप्तान नासिर हुसैन भी शामिल थे. हुसैन ने बाद में उनकी मदद की जिसके बाद उन्हें 5 महीने के लिए इंग्लैंड में क्लब क्रिकेट खेलने का मौका मिला.

    इसे भी पढ़ें, टेस्ट में तिहरा शतक लगा चुके करुण बोले, क्रिकेटर ना बनता तो इंजीनियर होता

    अपने करियर में 104 टेस्ट, 136 वनडे और 37 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले पीटरसन का विवादों से भी नाता रहा. साल 2007 में पीटर मूर्स इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कोच बने और अगले साल पीटरसन को इंग्लैंड की कप्तानी मिली लेकिन वह ज्यादा समय तक कमान नहीं संभाल पाए. साल 2009 तक ही पीटरसन और पीटर मूर्स के बीच विवाद शुरू हो गए. पीटरसन ने यहां तक कह दिया था कि वह मूर्स के साथ काम नहीं कर सकते जिसके बाद ईसीबी ने मूर्स को हटा दिया और पीटरसन से कप्तानी भी छिन गई.

    साल 2012 में पीटरसन का एक मैसेज लीक हो गया था जिसके कारण इंग्लैंड के तत्कालीन कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस और कोच एंडी फ्लॉवर से उनका विवाद खुलकर सामने आ गया. पीटरसन ने इन दोनों के खिलाफ एक मैसेज अपनी टीम के खिलाड़ियों को भेजा था. मैसेज लीक होते ही पीटरसन को टीम से बाहर कर दिया गया था. उन्होंने टेस्ट करियर में 23 शतक और 35 अर्धशतकों की मदद से कुल 8181 रन बनाए जबकि वनडे में 4440 और टी20 अंतरराष्ट्रीय में कुल 1176 रन बनाए.

    पीटरसन क्रिकेट से संन्यास के बाद कमेंट्री करते हैं जिसे काफी पसंद किया जाता है. इतना ही नहीं, वह सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं और लगातार कुछ ना कुछ शेयर करते रहते हैं. वह कई बार अपने रिप्लाई और ट्वीट से ट्रोलर्स को शांत भी करते हैं और कभी-कभी उनके निशाने पर भी आ जाते हैं.undefined

    Tags: Cricket news, England Cricket, Kevin Pietersen

    अगली ख़बर