On This Day: जब जावेद मियांदाद ने चेतन शर्मा की आखिरी गेंद पर जड़ा छक्का और टूट गया करोड़ों भारतीय का दिल

1986 में शारजाह में खेले गए मैच में जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान को यादगार जीत दिलाई थी. (फाइल फोटो)

1986 में शारजाह में खेले गए मैच में जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान को यादगार जीत दिलाई थी. (फाइल फोटो)

On This Day: जावेद मियांदाद (Javed Miandad) ने 18 अप्रैल 1986 को ऑस्ट्रेलेशिया कप के फाइनल में चेतन शर्मा (Chetan Sharma) की आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर पाकिस्तान को जीत दिलाई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 12:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. क्रिकेट के मैदान पर भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच बादशाहत की जंग पुरानी है. भले ही वर्ल्ड कप में पाकिस्तान आज तक भारत को नहीं हरा पाया है लेकिन 35 साल पहले पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने शारजाह के मैदान पर भारतीय टीम को एक गहरा घाव दे दिया था. भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी क्रिकेट मैच का जिक्र छिड़ता है तो जावेद मियांदाद (Javed Miandad) की छक्के की बात जरूर होती है.

18 अप्रैल 1986 को शारजाह में भारत और पाकिस्तान के बीच ऑस्ट्रेलेशिया कप का फाइनल खेला गया था. भारत ने पहले बैटिंग करते हुए सात विकेट पर 245 रन बनाए. सुनील गावस्कर ने 92, कृष्मचारी श्रीकांत ने 75 और दिलीप वेंगसरकर ने 50 रन बनाए. वसीम अकरम ने तीन और पाकिस्तान के मौजूदा पीएम इमरान खान ने दो विकेट झटके.

इसके बाद पाकिस्तान की बैटिंग की बारी आई. भारतीय टीम ने अच्छी गेंदबाजी की और 241 रन बनने तक पाकिस्तान के नौ विकेट झटक लिए. लेकिन जावेद मियांदाद डटे हुए थे. मैच का आखिरी ओवर ऐतिहासिक साबित हुआ. पाकिस्तान 49.5 ओवर में 242 रन बना चुका था. उसे जीत के लिए मैच की आखिरी गेंद पर चार रन की जरूरत थी. भारत की ओर से चेतन शर्मा गेंदबाजी कर रहे थे. मियांदाद ने उनकी आखिरी गेंद पर छक्का जड़ पाकिस्तान को जीत दिला दी. इस छक्के के बाद मियांदाद की जिंदगी बदल गई. हबीब बैंक में उन्हें प्रमोशन मिला, उन्हें हीरे का एक ब्रेसलेट मिला जिसकी कीमत 80 हजार डॉलर थी. साथ ही मियांदाद को मर्सीडीज कार गिफ्ट में मिली. दूसरी ओर उस समय सिर्फ 20 साल के चेतन शर्मा इस मैच में विलेन के तौर पर देखे गए.

जावेद मियांदाद का करियर
मियांदाद ने पाकिस्तान के लिए 124 टेस्ट और 233 वनडे मैच खेले हैं. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 52.57 की औसत से 8832 रन बनाए, वहीं वनडे में उनके बल्ले से 41.70 की औसत से 7381 रन निकले. मियांदाद ने 23 टेस्ट और 8 वनडे शतक ठोके. वहीं फर्स्ट क्लास करियर में उन्होंने 80 और लिस्ट ए में 13 शतक ठोके.

यह भी पढ़ें:

IPL 2021 Points Table: रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस की जीत से कोहली और धोनी की टीमों को हुआ नुकसान



On This Day: 13 साल पहले हुआ था IPL का आगाज, इस टीम को सबसे ज्यादा कीमत में खरीदा गया था

चेतन के नाम है विश्व कप की पहली हैट्रिक

चेतन शर्मा के नाम आईसीसी विश्व कप में पहली हैट्रिक लेने का रिकॉर्ड है. उन्होंने 1987 में न्यूजीलैंड के खिलाफ यह कारनामा किया था. उन्होंने लगातार तीन गेंदों पर विपक्षी बल्लेबाजों को क्लीन बोल्ड किया था. शर्मा ने अपने 10 साल के इंटरनेशनल करियर में 65 वनडे और 23 टेस्ट मैच खेले. इस गेंदबाज ने वनडे में 67 और टेस्ट में 61 विकेट चटकाए हैं. वनडे में इनके नाम एक शतक भी दर्ज है.

पाकिस्तान में पढ़ाई जाती है चेतन शर्मा पर पोयम

जावेद मियांदाद के छक्के ने पाकिस्तान में उनका कद बेहद ऊंचा कर दिया. उनके इस छक्के पर बच्चों को पोयम भी पढ़ाई जाती है. पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर शाहिद आफरीदी ने अपनी आत्मकथा गेम चेंजर में इस पोयम के बारे में लिखा है. अफरीदी कहते हैं कि यह सिर्फ एक छक्के या जीत की बात हीं है. यह तो मनोवैज्ञानिक बढ़त की बात है. भारत और पाकिस्तान हमेशा कट्टर प्रतिद्वंद्वी रहे हैं. ऐसे में जावेद का यह शॉट करोड़ों पाकिस्तानियों और भारतीयों के दिलो-दिमाग में बस गया था. इस छक्के ने पाकिस्तान को भारत पर मनोवैज्ञानिक बढ़त दिला दी थी. हालांकि, कुछ साल बाद भारत इस झटके से उबर गया. लेकिन आज भी जब यूएई में भारत से मैच होता है तो पाकिस्तान का मनोबल ऊंचा हो जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज