क्रिकेट इतिहास के सबसे महंगे नो बॉल की कहानी, जब बोल्ड होने के बाद ब्रायन लारा ने ठोके 501 रन

ब्रायन लारा के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड है. (फाइल फोटो)

ब्रायन लारा के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड है. (फाइल फोटो)

On This Day In 1994: ब्रायन लारा टेस्ट क्रिकेट इतिहास के महानतम बल्लेबाजों में शुमार हैं. उनके नाम टेस्ट और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड है.

  • Share this:

नई दिल्ली. 27 साल पहले आज के ही दिन महान बल्लेबाज ब्रायन लारा ने इतिहास रच दिया था. कैरेबियन स्टार लारा ने 501 रन बनाकर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया था जो आज तक नहीं टूटा है. अपनी इस पारी से दो महीने पहले ही लारा ने टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के खिलाफ 375 रनों की पारी खेली थी. 6 जून 1994 को बर्मिंघम के लोग लारा की महान पारी का गवाह बने. लारा काउंटी क्रिकेट में डरहम के खिलाफ वॉरविकशर की तरफ से खेल रहे थे. लारा ने सिर्फ 427 गेंदों में 62 चौके और 10 छक्कों की मदद से 501 रन बनाए. उन्होंने पाकिस्तान के महान बल्लेबाज हनीफ मोहम्मद का रिकॉर्ड तोड़ा था जिन्होंने साल 1959 में कायदे-ए-आजम ट्रॉफी में 499 रनों की पारी खेली थी.

लारा ने डरहम के गेंदबाजों को जमकर कूटा

डरहम ने मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 556 रन बनाए. इसके बाद सिर्फ आठ रन के स्कोर पर वॉरविकशर का पहला विकेट गिर गया और लारा तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे. उस समय सिर्फ 25 साल के लारा ने डरहम के गेंदबाजों को कोई मौका नहीं दिया. हालांकि इस मैच में किस्मत भी लारा पर मेहरबान रही. 12 रन के निजी स्कोर पर लारा नो बॉल पर बोल्ड हो गए. जब 18 पर पहुंचे तो विकेटकीपर क्रिस स्कॉट ने उनका कैच छोड़ दिया. इसके बाद लारा डरहम के गेंदबाजों पर कहर बनकर टूटे. लारा ने मैच के अंतिम दिन लंच से पहले 174 रन बनाए और जॉन मॉरिस की गेंद पर कवर ड्राइव के साथ कुल 501 रन बनाए. लारा की इस पारी की बदौलदत वॉरविकशर 4 विकेट के नुकसान पर 810 रन बनाने में सफल रहा.

साल 2004 में दोबारा रचा इतिहास
लारा ने टेस्ट क्रिकेट में दो बार 350 से ज्यादा रनों की पारी खेली है. लारा के 375 रन का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने 380 रन बनाकर तोड़ दिया था. लेकिन हेडन का यह रिकॉर्ड लंबे समय तक कायम नहीं रह सका. चार महीने बाद ही लारा ने इंग्लैंड के खिलाफ 400 रनों की पारी खेल दी.

लारा ने वेस्टइंडीज के लिए 133 टेस्ट, 299 वनडे खेले. टेस्ट में उन्होंने 34 शतक और 48 अर्धशतक के साथ 11953 रन बनाए. वो टेस्ट में कैरेबियाई टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे. वनडे में भी उन्होंने 10405 रन बनाए. इस फॉर्मेट में उन्होंने 19 शतक लगाए. उनके नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 53 शतक और 22358 रन दर्ज है.

यह भी पढ़ें: 



'कोहली और विलियमसन की कप्तानी में बड़ा अंतर, WTC Final में होगी दोनों की परीक्षा'

दिनेश कार्तिक बोले-130 करोड़ में सिर्फ 302 लोगों को मिला टेस्ट में मौका, मैं भाग्यशाली हूं

डॉन ब्रैडमैन के नाम तीसरी सबसे बड़ी पारी

ब्रायन लारा और हनीफ मोहम्मद के अलावा फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में शीर्ष चार बड़ी पारियों में तीसरे नंबर पर डॉन ब्रैडमेन का नाम आता है, जिन्‍होंने 1930 में न्‍यू साउथ वेल्‍स की ओर से खेलते हुए क्‍वींसलैंड के खिलाफ नाबाद 452 रन बनाए थे. चौथे नंबर पर बीबी निंबालकर का नाम आता है. 1948 में महाराष्‍ट्र की ओर काठियावाड़ के खिलाफ खेलते हुए निंबालर ने नाबाद 433 रन बनाए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज