होम /न्यूज /खेल /

On This Day: वनडे मैच में बने 825 रन, वीरेंद्र सहवाग का विस्फोटक शतक श्रीलंका पर पड़ा भारी

On This Day: वनडे मैच में बने 825 रन, वीरेंद्र सहवाग का विस्फोटक शतक श्रीलंका पर पड़ा भारी

On this Day: वीरेंद्र सहवाग ने श्रीलंका के खिलाफ 146 रनों की पारी खेली थी. (फोटो-AFP)

On this Day: वीरेंद्र सहवाग ने श्रीलंका के खिलाफ 146 रनों की पारी खेली थी. (फोटो-AFP)

On This Day: 15 दिसंबर 2009 को राजकोट वनडे में श्रीलंका की टीम 411 रन बनाने के बावजूद भारत के हाथों 3 रन से मैच हार गई थी. इस मुकाबले में भारत ने वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) के आतिशी शतक की बदौलत 414 रनों का स्कोर बनाया था. इस मुकाबले में 100 ओवर के खेल में 825 रन बने थे. क्रिकेट इतिहास में ये अब तक सिर्फ दूसरी बार था, जब एक ही मैच में दोनों टीमों ने 400 से ज्यादा रन बनाए.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट प्रेमियों और वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) के लिए आज का दिन बेहद यादगार है. 12 साल पहले टीम इंडिया ने राजकोट में खेले गए एक वनडे मुकाबले में 414 रन ठोके थे. इसके जवाब में श्रीलंका ने भी 411 रन उड़ा डाले थे. 15 दिसंबर 2009 को हुए इस मैच में भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 102 गेंदों में 146 रनों की विस्फोटक पारी खेली थी. उनके अलावा सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने भी श्रीलंकाई गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी. श्रीलंकाई टीम तिलकरत्ने दिलशान और कुमार संगाकारा की तूफानी पारी के बावजूद तीन रन से मुकाबला हार गई.

    वीरेंद्र सहवाग ने 66 गेंदों में जड़ी सेंचुरी
    2009 में भारत दौरे पर आई श्रींलका टीम को 5 मैचों वनडे सीरीज के पहले ही मैच में भारतीय बल्लेबाजों के कहर का सामना करना पड़ा. सहवाग-सचिन ने पहले ही ओवर से श्रीलंकाई गेंदबाजों को धुनना शुरू कर दिया.सहवाग-सचिन तेंदुलकर ने पहले विकेट के लिए सिर्फ 19.3 ओवरों में 153 रनों की साझेदारी कर डाली. सचिन  के आउट होने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी खुद को प्रमोट करते तीसरे नंबर उतरे. दोनों खिलाड़ियों ने दूसरे विकेट के लिए सिर्फ 96 गेंदों में 156 रन की साझेदारी कर डाली.

    सहवाग ने 66 गेंदों में ताबड़तोड़ शतक जड़ा. यह उनके करियर का 12वां वनडे शतक था. सहवाग के पास आसानी से दोहरा शतक पूरा करने का मौका था लेकिन वह चनाका वेलगेदरा की गेंद पर आउट हो गए. वीरू ने अपनी पारी में 17 चौके और 6 छक्के जड़े. हालांकि उनके बाद धोनी ने 53 गेंदों में सात चौके और तीन छक्के की मदद से 72 रनों की पारी खेली. सहवाग-धोनी पारी की मदद से भारत ने श्रीलंका के सामने 415 रनों का विशाल लक्ष्य रखा. उस वक्त तक ये भारतीय टीम का वनडे में सबसे बड़ा स्कोर था. टीम ने दूसरी बार ही 400 का आंकड़ा पार किया था.

    तिलरत्ने दिलशान ने मैदान पर गाड़ दिया खूंटा
    भारत ने श्रीलंका के सामने पहाड़ जैसा लक्ष्य रखा था हालांकि तिलरत्ने दिलशान और कुमार संगाकारा ने एक समय टीम इंडिया के पसीने छुड़ा दिए थे. उपुल थरंगा और दिलशान की सलामी जोड़ी ने तूफानी शुरुआत की. दोनों ने सिर्फ 24 ओवरों में पहले विकेट के लिए 188 रन जोड़े. थरंगा ने 67 रन बनाकर सुरेश रैना की गेंद पर स्टंप हो गए. तीसरे नंबर उतरे संगाकारा ने ज्यादा रौद्र रूप दिखाया. उन्होंने 43 गेंदों में 10 चौके और पांच छक्के की मदद से 90 रन बनाए. दोनों खिलाड़ियों ने 81 गेंद में 128 रन जोड़ डाले. संगाकारा 37वें ओवर में प्रवीण कुमार के शिकार बने. उस समय श्रीलंका ने 316 रन बना लिए थे और जीत के लिए 81 गेंद में सिर्फ 99 रनों की जरूरत थी.

    हालांकि अगले 16 गेंदों में हरभजन सिंह ने तिलकरत्ने दिलशान और सनथ जयसूर्या का विकेट लेकर श्रीलंका को बैकफुट पर धकेल दिया. दिलशान ने 124 गेंदों में 20 चौके और तीन छक्के की मदद से 160 रनों की पारी खेली. उनके आउट होने के बाद लगातार विकेट गिरते चले गए और भारत ने आखिर में यह मैच तीन रन से जीत लिया.

    Tags: Cricket news, India Vs Sri lanka, Kumar Sangakkara, Ms dhoni, On This Day, Sachin tendulkar, Virendra Sehwag

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर