• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • जिस गेंदबाज ने करियर के आधे टेस्ट विकेट भारत के खिलाफ लिए, उसने इंग्लैंड में डर के मारे कभी नहीं की गेंदबाजी

जिस गेंदबाज ने करियर के आधे टेस्ट विकेट भारत के खिलाफ लिए, उसने इंग्लैंड में डर के मारे कभी नहीं की गेंदबाजी

On This Day In Cricket: आज पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर हसीब अहसान का जन्मदिन है. वो 4 साल ही टेस्ट क्रिकेट खेल सके. (File Photo)

On This Day In Cricket: आज पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर हसीब अहसान का जन्मदिन है. वो 4 साल ही टेस्ट क्रिकेट खेल सके. (File Photo)

On This day: पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर हसीब अहसान (Haseeb Ahsan Birthday) का आज यानी 15 जुलाई को जन्मदिन है. वो 1939 में पेशावर में पैदा हुए थे. उन्होंने सिर्फ 4 साल टेस्ट क्रिकेट खेला. इस दौरान उन्होंने 12 टेस्ट में 27 विकेट झटके. लेकिन एक डर की वजह से उन्होंने अपने टेस्ट करियर के दौरान कभी इंग्लैंड में गेंदबाजी नहीं की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्रिकेट का खेल जितना गेंद और बल्ले के बीच दिखाई देता है, उससे ज्यादा उधेड़बुन खिलाड़ी के दिमाग में चलती है. कई बार खिलाड़ी पर किसी देश या मैदान में खेलने का डर इतना हावी हो जाता है कि वो इससे ता उम्र निकल नहीं पाता है. ऐसा ही कुछ पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर हसीब अहसान (Haseeb Ahsan Birthday) के साथ हुआ था. उन्होंने अपने टेस्ट करियर के आधे विकेट भारत के खिलाफ लिए. लेकिन जब बारी इंग्लैंड में गेंदबाजी की आई, तो उलटा डर इस गेंदबाज के मन में भर गया और उन्होंने कभी भी इंग्लैंड में गेंदबाजी नहीं की. वो आज ही के दिन यानी 15 जुलाई 1939 में पाकिस्तान के पेशावर में पैदा हुए थे.

    हसीब ने पाकिस्तान के लिए सिर्फ 4 साल टेस्ट क्रिकेट खेली. इस ऑफ स्पिनर का भारत के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार रहा था. उन्होंने भारत के खिलाफ पांच टेस्ट में 15 विकेट लिए थे. लेकिन उनका गेंदबाजी एक्शन हमेशा सवालों के घेरे में रहा. इसी डर की वजह से उन्होंने इंग्लैंड में गेंदबाजी नहीं की. उनका यही डर भारत के खिलाफ 1960-61 की टेस्ट सीरीज में सच हो गया था.

    तब गेंदबाजी एक्शन के कारण हसीब की गेंद को नो-बॉल करार दिया गया था. ये वाकया बॉम्बे (अब मुंबई) में हुए सीरीज के पहले टेस्ट के दौरान हुआ था. उस मैच में हसीब ने 31 ओवर गेंदबाजी की थी. लेकिन उन्हें कोई विकेट हासिल नहीं हुआ था.

    हसीब ने भारत के खिलाफ टेस्ट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था
    हसीब ने गेंदबाजी एक्शन को लेकर उठे सवाल के बावजूद भारत के खिलाफ इस सीरीज के चौथे टेस्ट में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था. ये टेस्ट मद्रास (अब चेन्नई) में हुआ था. मुकाबला तो ड्रॉ रहा था. तब भारत ने पाकिस्तान के पहली पारी में 448 रन के जवाब में 539 रन ठोक दिए थे. चंदू बोर्डे और पॉली उमरीगर ने शतक लगाए थे. लेकिन हसीब ने 6 विकेट झटके. उन्होंने पहली पारी में 84 ओवर गेंदबाजी में 19 मेडन फेंके थे और 202 रन दिए थे.

    IND vs ENG: टीम इंडिया का एक खिलाड़ी निकला कोरोना पॉजिटिव, भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज पर मंडराया खतरा

    Ind vs Eng Test Series: बीसीसीआई की छुट्टी पड़ी टीम इंडिया पर भारी, दो खिलाड़ी निकले कोरोना पॉजिटिव

    हसीब ने 23 साल की उम्र में संन्यास लिया
    गेंदबाजी एक्शन के कारण ही हसीब का करियर लंबा नहीं चला और उन्हें सिर्फ 23 साल की उम्र में क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा. इससे पहले उन्होंने 12 टेस्ट में कुल 27 विकेट झटके. उन्होंने पारी में पांच या उससे ज्‍यादा विकेट लेने की उपलब्धि दो बार हासिल की थी और ऐसा दोनों बार भारत के खिलाफ ही किया था. उन्होंने 49 फर्स्ट क्लास मैच में 142 विकेट लेने के साथ 242 रन बनाए. दिलचस्प बात ये है कि इंग्लैंड में गेंदबाजी से डरने वाले हसीब क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद दोबारा 1987 में पाकिस्तान टीम के मैनेजर बनकर इंग्लैंड गए थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज