राज सिंह डूंगरपुर : वो शख्‍स जिसने क्रिकेट को सचिन तेंदुलकर जैसे 'बेशकीमती तोहफे' से नवाजा

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 12:15 PM IST
राज सिंह डूंगरपुर : वो शख्‍स जिसने क्रिकेट को सचिन तेंदुलकर जैसे 'बेशकीमती तोहफे' से नवाजा
राज सिंह डूंगरपुर: वो शख्स जिसने क्रिकेट को सचिन तेंदुलकर से नवाजा

12 सितंबर को पूर्व क्रिकेटर और 20 सालों तक बीसीसीआई (BCCI) से जुड़े रहे राज सिंह डुंगरपुर (Raj Singh Dungarpur) की पुण्यतिथि होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 12:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 12 सितंबर 2009... ये वो तारीख है जब भारतीय क्रिकेट ने राज सिंह डूंगरपुर (Raj Singh Dungarpur) जैसी शख्सियत खो दी थी. राज सिंह डूंगरपुर वो नाम है जिसने भारत ही नहीं बल्कि वर्ल्ड क्रिकेट को सचिन तेंदुलकर जैसा बेशकीमती तोहफा नवाजा. महाराज राज सिंह का जन्म राजस्थान के डूंगरपुर में 19 दिसम्बर 1935 को हुआ था. डूंगरपुर ने 16 सालों तक फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेला और वो 20 सालों तक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड से जुड़े रहे. वो दो बार टीम इंडिया के सेलेक्टर रहे और इसी दौरान उन्होंने सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का टीम इंडिया में सेलेक्शन किया.

सचिन को टीम इंडिया में दिया मौका
क्रिकेट की दुनिया में राजभाई के नाम से मशहूर राज सिंह डूंगरपुर (Raj Singh Dungarpur) 1989-90 में टीम इंडिया के सेलेक्टर थे और इसी दौरान उन्होंने महज 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर को राष्ट्रीय टीम में खेलने का मौका दिया. डूंगरपुर ने सचिन को क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में एंट्री दिलाने के लिए उसके नियम तक बदल डाले. सचिन तेंदुलकर ने एक कार्यक्रम में बताया था कि डूंगरपुर ने उन्हें महज 14 साल की उम्र में CCI के ड्रेसिंग रूम में एंट्री दिलाने के लिए नियम बदले. यही नहीं इंग्लैंड में उनकी ट्रेनिंग के लिए भी डूंगरपुर ने स्पॉन्सर जुटाए.

राज सिंह डूंगरपुर ने किया था सचिन तेंदुलकर का सेलेक्शन


सचिन को बोर्ड परीक्षा पर ध्यान लगाने को कहा
सचिन तेंदुलकर  (Sachin Tendulkar) के मुताबिक, उनका पहला रणजी सीजन काफी सफल रहा था. उस समय ये चर्चा थी कि वो वेस्टइंडीज दौरे पर जाएंगे या नहीं? उसी दौरान डूंगरपुर (Raj Singh Dungarpur) चीफ सेलेक्टर थे और वो सचिन के पास गए. उन्होंने सचिन को बताया कि तुम वेस्टइंडीज दौरे पर नहीं जा रहे हो. सचिन ने बताया, 'डूंगरपुर मेरे पास आए और मुझे रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल और फाइनल पर ध्यान लगाने को कहा. उन्होंने कहा कि इन मैचों में रन बनाने के बाद तुम 10वीं की परीक्षा पर ध्यान लगाओ. अगर तुम ऐसे ही खेलते रहे तो वो दिन दूर नहीं जब तुम भारत के लिए खेलोगे. इसके बाद मुझे उसी साल नवंबर में टीम इंडिया में शामिल किया गया.'

डूंगरपुर ने सचिन तेंदुलकर को विदेश में ट्रेनिंग दिलाई

Loading...

अनिल कुंबले और अजहरुद्दीन की सफलता में भी हाथ
सिर्फ सचिन  (Sachin Tendulkar) ही नहीं, राज सिंह डूंगरपुर ने अनिल कुंबले को भी टीम इंडिया में सेलेक्ट किया था. इसके अलावा मोहम्मद अजहरुद्दीन को कप्तान बनाने का फैसला भी डूंगरपुर ने ही लिया था.

डूंगरपुर की लव लाइफ
कहा जाता है कि राज सिंह डूंगरपुर  (Raj Singh Dungarpur) और देश की महान गायिका लता मंगेशकर एक दूसरे से प्रेम करते थे. डूंगरपुर और लता के भाई दोस्त थे, वो उनसे मिलने उनके घर जाया करते थे. इसी दौरान लता और राज की दोस्ती हो गई. धीरे-धीरे दोस्ती प्यार में बदल गई. हालांकि इन दोनों का प्यार शादी में नहीं बदल पाया. उसके बाद ना तो लता मंगेशकर ने शादी की और न ही राज सिंह डूंगरपुर ने किसी के साथ सात फेरे लिए.

लता मंगेश्कर और राज सिंह डूंगरपुर के बीच था प्रेम


राज सिंह डूंगरपुर का करियर
राज सिंह डूंगरपुर  (Raj Singh Dungarpur) दाएं हाथ के तेज गेंदबाज थे. उन्होंने राजस्थान के लिए 86 फर्स्ट क्लास मैचों में 206 विकेट झटके. उन्होंने रणजी ट्रॉफी के तीन सीजन में 21 विकेट लेने का कारनामा भी किया.

कोहली की राह पर चलने को तैयार एंडरसन, लंबे करियर के लिए अपनाएंगे उनका तरीका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 1:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...