Home /News /sports /

On This Day: सचिन के शतक के बावजूद पाकिस्तान से हारा भारत, फूट-फूट कर रोए थे तेंदुलकर

On This Day: सचिन के शतक के बावजूद पाकिस्तान से हारा भारत, फूट-फूट कर रोए थे तेंदुलकर

इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली थी. (फोटो साभार -Getty)

इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली थी. (फोटो साभार -Getty)

India vs Pakistan, Chennai Test 1999: सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की 136 रनों की पारी को सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) के तिहरे शतक से ज्यादा महत्वपूर्ण करार दिया था.

    नई दिल्ली. चेन्नई का चेपक स्टेडियम टीम इंडिया की कई यादगार जीतों का गवाह रहा है. भारत ने इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को हराकर साल 2001 में ऐतिहासिक सीरीज जीत दर्ज की थी. इसके अलावा 2008 में भारतीय टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ 387 रनों के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा भी किया है. इन दोनों मैचों में महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शतक जड़ा था. हालांकि इस मैदान पर तेंदुलकर की एक अविश्वसनीय पारी के बावजूद भारत को पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा है. चेपक स्टेडियम सचिन का पसंदीदा ग्राउंड रहा है. इस मैदान पर सचिन ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो-दो शतक जबकि पाकिस्तान के खिलाफ एक शतक जड़ा है.

    सिर्फ 12 रनों से हारा भारत
    आज से 22 साल पहले 1999 में चेपक स्टेडियम में भारत और पाकिस्तान के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में पाक टीम ने भारतीय टीम को सिर्फ 12 रनों से मात दी थी. पाकिस्तान टीम उस साल वर्ल्ड कप फाइनल में भी पहुंची थी जहां उसे ऑस्ट्रेलिया ने हराया था. पाकिस्तान की टीम में सईद अनवर, वकार यूनिस, वसीम अकरम, सकलैन मुश्ताक, इंजमाम उल हक, मोहम्मद युसूफ, सलीम मलिक और एजाज अहमद जैसे दिग्गज खिलाड़ी मौजूद थे. पहले बल्लेबाजी करते हुए पाक टीम ने मोहम्मद युसूफ और मोईन खान के अर्धशतकों की बदौलत 238 रन बनाए. भारत की ओर से अनिल कुंबले ने छह जबकि तेज गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने तीन विकेट चटकाया.

    भारत ने पहली पारी में राहुल द्रविड़ (53) और सौरव गांगुली (54) के अर्धशतकों की मदद से 254 रन बनाए. तेंदुलकर पहली पारी में कुछ खास नहीं कर सके और सकलैन मुश्ताक ने जीरो पर चलता कर दिया. टीम इंडिया सिर्फ 16 रन का लीड लेने में सफल रही. पाकिस्तान की ओर से सकलैन ने पांच, शाहिद अफरीदी ने तीन जबकि कप्तान वसीम अकरम ने दो विकेट चटकाया. पाकिस्तान की दूसरी पारी में विस्फोटक बल्लेबाज अफरीदी ने 141 और इंजमाम ने 51 रनों की पारी खेली जिसकी बदौलत मेहमान टीमम 286 रन बनाने में सफल रही. भारत की ओर से वेंकटेश प्रसाद ने छह विकेट चटकाए. इस तरह से भारत को जीत के लिए 271 रनों का लक्ष्य मिला.

    लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. सिर्फ छह ओवर के अंदर भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज सदगोपन रमेश (5) और वीवीएस लक्ष्मण (0) आउट होकर चलते बने. दोनों का विकेट वकार ने लिया. इसके बाद 50 की स्कोर पर भारत का तीसरा विकेट राहुल द्रविड़ के रुप में गिरा, उन्हें अकरम ने बोल्ड मारा. चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सचिन एक छोर पर डटे हुए लेकिन उन्हें दूसरे भारतीय बल्लेबाजों का साथ नहीं मिल रहा था. कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (7) और सौरव गांगुली (2) सकलैन का शिकार बने और भारत की आधी टीम 82 के स्कोर पर पैवेलियन लौट चुकी थी.

    मोंगिया-सचिन के बीच हुई शतकीय साझेदारी
    ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम अब सिर्फ बचाने के लिए खेलेगी लेकिन नयन मोंगिया और सचिन की साझेदारी ने पाकिस्तान को बैकफुट पर धकेल दिया. दोनों खिलाड़ियों के बीच छठे विकेट लिए 136 रनों की साझेदारी हुई. नयन मोंगिया (52) जब आउट हुए तो भारत का स्कोर 218 पहुंच चुका था. टीम इंडिया अब जीत से सिर्फ 53 रन दूर थी और उसके चार विकेट शेष थे. पीठ के दर्द के बाजवदू सचिन क्रीज पर टिके हुए थे.

    यह भी पढ़ें: IND VS ENG: जोस बटलर ने कहा- भारत में जीत के लिए 600-650 रन बनाने होंगे

    मोंगिया के आउट होने के बाद सुनील जोशी क्रीज पर सचिन का साथ देने उतरे. सचिन समझ चुके थे कि भारतीय पुछल्ले बल्लेबाज पाकिस्तान के खतरनाक गेंदबाजों के सामने नहीं टिकेंगे. ऐसे में उन्होंने अपना गियर बदला. जोशी और सचिन के लिए सातवें विकेट लिए सिर्फ 34 गेंदों में 36 रनों की साझेदारी हुई. भारत अब जीत से सिर्फ 17 रन दूर था. भारत को इस मैच में भाग्य का साथ नहीं मिला और सकलैन ने सचिन को 136 रनों के निजी स्कोर पर आउट कर दिया. भारत के आखिरी चार विकेट सिर्फ 22 गेंदों में गिर गए और पाक ने यह मैच 12 रनों से जीत लिया. दूसरी पारी में भी सकलैन ने पांच विकेट चटकाया जबकि अकरम तीन और वकार दो विकेट लेने में सफल रहे. सचिन तेंदुलकर को उनकी साहसिक पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

    हार के बाद रोने लगे सचिन
    इस मैच में हार के लिए सचिन खुद को जिम्मेदार मान रहे थे. उस समय भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अधिकारी राज सिंह डूंगरपुर ने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था कि तेंदुलकर जैसे ही इस पारी में आउट हुए, वह ड्रेसिंग रूम में आकर रोने लगे. सचिन के आंसू डूंगरपुर और तत्कालीन कोच अंशुमान गायकवाड़ के समझाने के बाद भी नहीं रुके.

    Tags: Chennai Test, Cricket news, India Vs Pakistan, Sachin tendulkar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर