• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • एक साल का बैन, करियर खत्म होने का खतरा, दुनिया भर की शर्मिंदगी और फिर...

एक साल का बैन, करियर खत्म होने का खतरा, दुनिया भर की शर्मिंदगी और फिर...

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने एजबेस्ट टेस्ट की दोनों पारियों में शतक ठोके हैं.

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने एजबेस्ट टेस्ट की दोनों पारियों में शतक ठोके हैं.

यूं तो किसी भी खिलाड़ी के लिए बैन के साथ वापसी करना आसान नहीं होता, लेकिन स्टीव स्मिथ के लिए एक साल के प्रतिबंध के बाद क्रिकेट के मैदान पर न केवल कदम रखना बल्कि शानदार वापसी करना एक सपना दोबारा सच होने जैसा ही है.

  • Share this:
    ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ के लिए एजबेस्टन के मैदान की 22 गज की पट्टी सिर्फ एक स्टेडियम की पिच नहीं थी. न ही दस घंटे से ज्यादा समय तक इस पिच पर खड़े रहकर 426 गेंदों पर बनाए गए 286 रन उनके लिए कोई आम शतक थे. ये कोई साधारण एशेज टेस्ट भी नहीं था. दरअसल, इस मुकाबले में कुछ भी साधारण हो ही नहीं सकता था. इसलिए भी क्योंकि स्टीव स्मिथ साधारण बल्लेबाज हैं ही नहीं.

    साल 2018 में दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर बॉल टेंपरिंग के आरोप में मिले एक साल के बैन की भयावह यादें स्टीव स्मिथ के जेहन में मैदान में वापसी तक हर पल कौंधती रहीं. मगर नतीजे की परवाह किए बिना इस दिग्गज बल्लेबाज ने मेहनत और टीम में वापसी के प्रयास नहीं छोड़े. उन्होंने न केवल आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के जरिये बैन से वापसी की, बल्कि अपने प्रदर्शन से ये भी दिखाया कि उनके बल्ले पर इस एक साल की अवधि में जंग नहीं लगी है. यही वजह रही कि उन्होंने वर्ल्ड कप में खेले गए 10 मैचों में 379 रन बनाए. इनमें चार अर्धशतक भी शामिल है.

    एक साल, चार महीने और चार दिन बाद स्टीव स्मिथ ने टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए मैदान पर कदम रखा था. ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर भले ही इस विश्वास के साथ बल्लेबाजी चुनी कि वो रनों का पहाड़ खड़ा कर इंग्लैंड को दबाव में ले आएगा. मगर एक वक्त पर 35 पर तीन और फिर 122 रन पर आठ विकेट गंवाने के बाद किसी भी टीम के हौसले पस्त हो सकते थे. जब तक कि उस टीम के लिए क्रीज पर स्टीव स्मिथ नाम का खिलाड़ी न खड़ा हो. ऐसा ही हुआ भी. स्मिथ ने ऑस्ट्रेलियाई पारी को 284 रन तक पहुंचाने के लिए जी-जान लगा दी. जैसा कि वो अपने देश के लिए हर मैच में लगाते नजर आते रहे हैं. स्मिथ ने पहली पारी में 219 गेंदों पर 144 रन बनाए.

    steve smith, ashes, aus vs eng, david warner, ball tampering, sandpaper, the ashes
    स्टीव स्मिथ पर पिछले साल बॉल टेंपरिंग के आरोप में एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.


    एशेज 2019 के पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम 8वें ओवर में 17 रनों पर ही दो विकेट गंवाकर संकट में थी. जबकि दूसरी पारी में इंग्लैंड से पिछड़ने के बाद दसवें ओवर में 27 रनों तक टीम ने दो विकेट गंवा दिए थे. यहां भी स्टीव स्मिथ नाम की चट्टान क्रीज पर खड़ी हाे गई. और जब ऑस्ट्रेलिया को मजबूत स्थिति में पहुंचाकर यह बेमिसाल खिलाड़ी आउट होकर मैदान से बाहर निकला तो उसके नाम 207 गेंदों पर 142 रन का स्कोर था.

    स्टीव स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ शतक जड़ ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज ग्रेग चैपल और रिकी पॉन्टिंग को भी पीछे छोड़ दिया. दरअसल इन दोनों दिग्गजों के नाम 8 एशेज शतक थे, जबकि स्मिथ ने एशेज में 9वां शतक लगाया है. स्मिथ अब सिर्फ स्टीव वॉ(10) और डॉन ब्रैडमैन(19) से पीछे हैं. वैसे आपको बता दें स्टीव स्मिथ ऑस्ट्रेलिया के महज तीसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने एशेज में इंग्लैंड के खिलाफ पहले ही दिन शतक ठोक दिया. उनके पहले एंड्रयू हिल्डिच और मार्क टेलर ये कारनामा कर चुके हैं.

    steve smith, ashes, aus vs eng, david warner, ball tampering, sandpaper, the ashes
    आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में स्टीव स्मिथ ने चार अर्धशतक लगाए थे.


    ब्रेडमैन के बाद सबसे तेज

    स्मिथ टेस्ट क्रिकेट में 25 शतक लगा चुके हैं. उन्होंने 119 पारी में 25 शतक पूरे किए. टेस्‍ट क्रिकेट में 25 शतक बनाने वाले स्मिथ 22वें बल्‍लेबाज हैं. लेकिन डॉन ब्रेडमैन के बाद उन्‍होंने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए सबसे कम पारियां खेली हैं. ब्रेडमैन ने 68 पारियों में 25 शतक लगाए थे जबकि स्मिथ ने 119 पारियों में यह कमाल किया. टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने 127 पारियों में 25 टेस्‍ट शतक लगाए थे. सचिन तेंदुलकर ने 130, सुनील गावस्‍कर ने 138 और मैथ्‍यू हैडन ने 139 पारियों में 25 टेस्‍ट शतक लगाए थे.

    स्टीव वॉ की बराबरी

    एशेज में स्मिथ का ये 10वां शतक था. एशेज में शतक लगाने के मामले में उन्होंने स्टीव वॉ की बराबरी कर ली है. दोनों के नाम 10-10 शतक हैं. अब एशेज में सिर्फ दो बल्लेबाज़ शतक लगाने के मामले में स्मिथ से आगे हैं. ये हैं 19 शतक लगाने वाले डॉन ब्रैडमैन और 12 शतक जड़ने वाले जैक हॉब्स.

    steve smith, ashes, aus vs eng, david warner, ball tampering, sandpaper, the ashes

    एजबेस्टन टेस्ट में शतक जड़ने के बाद स्टीव स्मिथ ने कहा था कि मुझे यकीन नहीं था कि मैं बैन के बाद दोबारा क्रिकेट खेल सकूूंगा.नहीं जानता था कि दोबारा खेल सकूंगा या नहीं

    एशेज टेस्ट में धमाकेदार शतक लगाने के बाद स्टीव स्मिथ ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि बैन लगने के बाद वो एक बार फिर से टेस्ट क्रिकेट खेल सकेंगे. साल 2018 में साउथ अफ्रीका में बॉल टेंपरिंग केस के बाद पहली बार स्टीव स्मिथ टेस्ट खेलने के लिए मैदान पर उतरे थे. स्मिथ के लिए बैटिंग करना आसान नहीं था. मैच से पहले राष्ट्रगान के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम को हूटिंग का सामना करना पड़ा. स्मिथ के मैदान पर आने पर सबसे ज्यादा हूटिंग हुई.  स्मिथ को चिढ़ाने के लिए फैंस ने उनके रोते हुए चेहरे का मुखौटा तक पहना हुआ था.

    वर्ल्ड कप में ठोके 379 रन, 10 पारियों में 4 अर्धशतक

    ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने वनडे क्रिकेट में आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के जरिये वापसी की. लंबे समय तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर रहने के बाद हालांकि ये आसान नहीं था, लेकिन स्मिथ ने अपने वापसी टूर्नामेंट में ही दिखा दिया कि आखिर क्यों उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है. स्मिथ ने वर्ल्ड कप में 10 मैच खेले और इनमें चार अर्धशतकों की मदद से 379 रन बनाए. यहां तक कि ऑस्ट्रेलिया का यह बल्लेबाज वर्ल्ड कप में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में भी 13वें स्‍थान पर रहा.

    Ashes: 16 साल की उम्र में हुआ था कैंसर, लंबे समय बाद वापसी कर जड़ दिया शतक

    Ashes 2019: वॉर्नर का विकेट लेते ही महान गेंदबाजों की लिस्ट में शामिल हुए ब्रॉड

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज