जोस बटलर ने IPL को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले- इस लीग से होने वाली कमाई अनदेखी नहीं कर सकते

जोस बटलर IPL में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हैं (Jos Buttler/Instagram)

जोस बटलर IPL में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हैं (Jos Buttler/Instagram)

इंग्लैंड के क्रिकेटर जोस बटलर भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद स्वदेश लौट गए थे. वह अब सीमित ओवरों की सीरीज के लिए लौटे हैं और आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलने के बाद ही जाएंगे.

  • Share this:
अहमदाबाद. इंग्लैंड के क्रिकेटर जोस बटलर (Jos Buttler) ने यह स्वीकार किया है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) अनुबंध से होने वाले आर्थिक फायदे की अनदेखी नहीं की जा सकती, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलने के लिए उन्हें आईपीएल से बाहर रहने को कभी नहीं कहा. बटलर भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद स्वदेश लौट गए थे. वह अब सीमित ओवरों की सीरीज के लिए लौटे हैं और आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलने के बाद ही जाएंगे.

ब्रिटिश मीडिया ने दो जून से न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से बाहर रहने की संभावना को लेकर बटलर की काफी आलोचना की है. बटलर ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, ''मुझ से इस तरह की कोई बात नहीं हुई. दूसरे खिलाड़ियों का मुझे नहीं पता. मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की घोषणा से पहले आईपीएल में भागीदारी का अनुबंध हो गया था.''

IPL 2021: धोनी की अगुवाई में CSK के खिलाड़ियों ने शुरू की प्रैक्टिस, थाला ने भी थामा बल्ला

बटलर ने हालांकि यह कहा कि आईपीएल से तारीखों का टकराव होने पर कुछ खिलाड़ी न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट छोड़ सकते हैं. उन्होंने कहा, ''हम सभी को आईपीएल के फायदे पता है. यह बड़ा टूर्नामेंट है और इससे काफी कमाई होती है. अनुभव भी मिलता है. शेड्यूल कठिन है और इसमें संतुलन नहीं है. ईसीबी और खिलाड़ी संतुलन बनाने की कोशिश कर रहे है.'' इंग्लैंड के 12 खिलाड़ी इस साल आईपीएल में भाग लेंगे.
बता दें कि इंग्लैंड के पूर्व सलामी बल्लेबाज ज्योफ्री बॉयकॉट ने इंग्लिश टीम की जगह आईपीएल को तरजीह देने वाले खिलाड़ियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के खिलाड़ियों के प्रति रवैये को नरम बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय टीम की जगह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को प्राथमिकता देने वालों के पैसे काटे जाने चाहिए. बॉयकॉट हालांकि अपने कॉलम में यह लिखना भूल गये कि आईपीएल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को अपने घरेलू क्रिकेट बोर्ड को वेतन का 10 प्रतिशत हिस्सा देना होता है.

IPL 2021: मुंबई से सटे ठाणे में लगा लॉकडाउन, चेन्नई सुपरकिंग्स-पंजाब किंग्स का अब क्या होगा?

पिछले सप्ताह इंग्लैंड के मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड ने इस बात की पुष्टि की थी कि आईपीएल में खेलने वाले इंग्लैंड के खिलाड़ी पूरे टूर्नामेंट के लिए उपलब्ध होंगे. इसका यह मतलब है कि चकाचौंध से भरी इस लीग के अंतिम चरण में पहुंचने वाली टीमों के इंग्लैंड के खिलाड़ी न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरुआती टेस्ट के लिए शायद उपलब्ध नहीं रहेंगे. ऐसे में बॉयकॉट ने ‘डेली टेलीग्राफ’ में लिखा, ''इन सभी खिलाड़ियों ने इंग्लैंड के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हुए अपनी पहचान बनाई है और इसके लिए उन्हें अच्छी तरह से भुगतान किया जाता है.''



उन्होंने कहा, ''खिलाड़ी यह भूल जाते है कि अगर वे इंग्लैंड के लिए अच्छा प्रदर्शन नहीं करेंगे तो उन्हें आईपीएल में मौका नहीं मिलेगा. ऐसे में उन्हें इंग्लैंड के प्रति समर्पण दिखाना चाहिये और उसका कर्ज अदा करना चाहिए.'' इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ''मैं उन्हें पैसे कमाने से नहीं रोकना चाहता हूं, लेकिन यह इंग्लैंड के मैच को अनदेखी कर नहीं होना चाहिए.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज