मैच फिक्सिंग में शामिल होने वाले पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर कसेगी नकेल! पीसीबी ने उठाया बड़ा कदम

मैच फिक्सिंग में शामिल होने वाले पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर कसेगी नकेल! पीसीबी ने उठाया बड़ा कदम
पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कई खिलाड़ी मैच फिक्सिंग में शामिल रहे हैं.

पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) के पूर्व दिग्गज जावेद मियांदाद (Javed Miandad) और रमीज राजा (Ramiz Raja) ने मैच फिक्सिंग (Match Fixing) में शामिल होने वाले खिलाड़ियों को लेकर कड़ी टिप्पणी की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2020, 11:49 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कराची. मैच फिक्सिंग (Match Fixing) कांड से पाकिस्तान क्रिकेट (Pakistan Cricket) में लगातार भूचाल आता रहा है. फिक्सिंग के जरिये अधिक पैसा कमाने की चाहत में पाकिस्तान के कई खिलाड़ियों का करियर दांव पर लग गया. हाल ही में दिग्गज बल्लेबाज जावेद मियांदाद ने फिक्सिंग में लिप्त पाए जाने वाले खिलाड़ियों को फांसी की सजा देने की मांग भी की थी. इतना ही नहीं, पूर्व कप्तान रमीज राजा ने तो यहां तक कहा था कि जो खिलाड़ी भी फिक्सिंग में शामिल होते हैं, उन्हें राशन की दुकान खोल लेनी चाहिए. यही वजह है कि शायद अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) फिक्सिंग को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की तैयारी करता नजर आ रहा है.

सरकार से किया कानून बनाने का आग्रह
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने क्रिकेट में मैच फिक्सिंग (Match Fixing) और स्पॉट फिक्सिंग को अपराध की श्रेणी में लाने के लिए सरकार से कानून बनाने का आग्रह किया है. पीसीबी अध्यक्ष एहसान मनी (Ehsan Mani) ने कहा है कि फिलहाल उनके पास भ्रष्टाचार के मामलों की गहन जांच के लिए गवाहों को बुलाने या बैंक खाते जांचने का वैधानिक अधिकार नहीं है.

क्रिकेट में भ्रष्टाचार को आपराधिक मामला माना जाए



एहसान मनी (Ehsan Mani) ने कहा, ‘मैं पहले ही सरकार से इस बारे में बात कर चुका हूं क्योंकि आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और श्रीलंका जैसे क्रिकेट खेलने वाले देश पहले ही मैच फिक्सिंग (Match Fixing) को आपराधिक मामला बनाने से जुड़ा कानून बना चुके हैं. पीसीबी (PCB) उस प्रक्रिया को करीब से समझ रहा है जिसे श्रीलंका के क्रिकेट बोर्ड ने मैच फिक्सरों के खिलाफ कानून बनाने के दौरान अपनाया था. हम यह भी चाहते हैं कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार की गतिविधि को आपराधिक मामला माना जाए.’



मोहम्मद आमिर पर लगा था पांच साल का बैन
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) के अध्यक्ष एहसान मनी (Ehsan Mani) ने हालांकि कहा कि जब तक कानून नहीं बन जाता तब तक पीसीबी आईसीसी की मौजूदा भ्रष्टाचार रोधी संहिता का पालन करता रहेगा जो प्रतिबंध और रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया पूरी होने के बाद खिलाड़ी को क्रिकेट में वापसी की स्वीकृति देती है. स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के चलते पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर पर पांच साल का बैन लगा दिया गया था. वहीं इसके चलते उन्हें जेल भी जाना पड़ा था. हालांकि प्रतिबंध के बाद वापसी करते हुए उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया.

जस्टिन बीबर के बाद अब अंडरटेकर ने भी कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ

भूखे पेट राजस्थान से बिहार जा रहा शख्स हुआ बेहोश, मसीहा बनकर सामने आए शमी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading