होम /न्यूज /खेल /

सचिन के आउट नहीं होने की कामना करता थे ये पाकिस्तानी कप्तान, किया बड़ा खुलासा

सचिन के आउट नहीं होने की कामना करता थे ये पाकिस्तानी कप्तान, किया बड़ा खुलासा

2007 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सचिन ने 29 जून 2007 को ही वनडे क्रिकेट में 15 हजार रन पूरे किए थे. हालांकि उनके नाम इंटरनेशनल वनडे में 18 हजार 426 रन हैं.

2007 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सचिन ने 29 जून 2007 को ही वनडे क्रिकेट में 15 हजार रन पूरे किए थे. हालांकि उनके नाम इंटरनेशनल वनडे में 18 हजार 426 रन हैं.

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ (Rashid Latif) ने बताया कि आखिर क्यों सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) इतने खास खिलाड़ी थे.

    नई दिल्ली. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar)...एक ऐसा नाम जिसने वर्ल्ड क्रिकेट पर 2 दशक से भी ज्यादा समय तक राज किया. 100 इंटरनेशनल शतक ठोकने वाले इस बल्लेबाज ने सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के हर क्रिकेट फैन का दिल जीता. विरोधी टीम के खिलाड़ी भी सचिन तेंदुलकर का बेहद सम्मान करते हैं. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद खान ने भी सचिन तेंदुलकर के बारे में कुछ ऐसी बातें कही जिन्हें जानकर आपकी छाती गर्व से चौड़ी हो जाएगी.

    सचिन के सजदे में झुके राशिद लतीफ
    पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर राशिद लतीफ (Rashid Latif) ने यूट्यूब चैनल 'कॉट बिहाइंड' पर बातचीत के दौरान बताया कि आखिर सचिन इतने महान खिलाड़ी क्यों हैं. राशिद लतीफ से जैसे ही होस्ट ने सचिन पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा- 'हम क्या बात करें सचिन पर, हम कौन होते हैं. सचिन का मतलब है- सर्वश्रेष्ठ.' राशिद लतीफ ने आगे कहा, 'मुझे सचिन जैसा जज्बा किसी खिलाड़ी में नहीं दिखा. सचिन का क्रिकेट के लिए जुनून कुछ अलग ही था. सचिन ने अपनी पूरी जिंदगी क्रिकेट को दे दी. 15 साल की उम्र से फर्स्ट क्लास मैच खेलना कोई मजाक की बात नहीं.'

    सचिन के आउट ना होने की कामना करते थे लतीफ
    सचिन तेंदुलकर पर राशिद लतीफ  (Rashid Latif) ने आगे कहा, 'बहुत खिलाड़ी आए और गए लेकिन सचिन तेंदुलकर जैसा ना कोई था और ना आएगा. जब मैं विकेटकीपर था तो लगता था कि सचिन आउट ना हों. सचिन तेंदुलकर हमेशा हंसते रहते थे. सचिन विरोधियों का दिल जीत लेते थे. सचिन अपने स्वभाव की वजह से ही इतने बड़े खिलाड़ी हैं. मोइन खान, कामरान अकमल कोई भी विकेटकीपर उनकी बुराई नहीं कर सकता. सचिन पाकिस्तान को खूब मारते थे लेकिन उन्होंने कभी जुबान से कुछ गलत नहीं निकाला और पाकिस्तान ही नहीं दुनिया के सभी खिलाड़ी उनकी इज्जत करते हैं.'



    इंसान नहीं हैं सचिन
    राशिद लतीफ (Rashid Latif) ने सचिन की तारीफ करते हुए कहा कि वो इंसान नहीं हैं. राशिद लतीफ बोले- 'सचिन ने 1994 में सिंगर कप से ओपनिंग शुरू की. टेस्ट मैच, वनडे या फर्स्ट क्लास सभी में उन्हें रनों की बारिश की. सचिन गेंद को देरी से खेलते थे, ये मुंबई के बल्लेबाजों की अलग शैली थी. सचिन ने 200 टेस्ट मैच खेले, ये इंसानों का काम नहीं है. सचिन का व्यक्तित्व कमाल है. वो कभी किसी विवाद में नहीं पड़े.'

    शोएब अख्तर को सबके सामने किया गया बदनाम, कहा- मुझसे माफी मांगो!

    2 साल तक रहा बीमार, डॉक्टर ने दे दिया था 'जवाब', आज टॉप बल्लेबाजों में है खौफundefined

    Tags: India Vs Pakistan, Pakistan National Cricket Team, Sachin tendulkar

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर