पाकिस्‍तान बोर्ड पर भड़के महान बल्‍लेबाज जहीर अब्‍बास, कहा- देखो भारतीय टीम कहां तक आ गई

जहीर अब्बास ने कहा कि  भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में तीन साल में दूसरी बार श्रृंखला जीती   (साभार-एपी)

जहीर अब्बास ने कहा कि भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में तीन साल में दूसरी बार श्रृंखला जीती (साभार-एपी)

पाकिस्तान के महान बल्लेबाज जहीर अब्बास ने पाकिस्तान क्रिकेट पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले एक दशक में क्रिकेट के ढांचे मे निवेश का फल भारत को मिल रहा है. सफलता की कुंजी सिर्फ कड़ी मेहनत है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 6:14 AM IST
  • Share this:
कराची. विराट कोहली (Virat Kohli), मोहम्‍मद शमी, उमेश यादव जैसे सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया पर सीरीज दर्ज करके इतिहास रच दिया. चार टेस्‍ट मैचों की सीरीज भारत ने 2-1 से अपने नाम की. इस जीत का उदाहरण देकर पाकिस्तान के महान बल्लेबाज जहीर अब्बास ने अपने बोर्ड को काफी सुनाया और कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया पर भारत की जीत से तो पाकिस्‍तान बोर्ड सबक लें और इस खेल के ढांचे में निवेश करें. अब्‍बास का मानना है कि पिछले एक दशक में क्रिकेट के ढांचे मे निवेश का फल भारत को मिल रहा है और इसकी बानगी ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक जीत से मिली.

अब्बास ने कहा कि देखो भारतीय टीम कहां तक आ गई. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में तीन साल में दूसरी बार श्रृंखला जीती. उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि भारत ने अपने क्रिकेट के ढांचे में पिछले एक दशक में काफी निवेश किया. उस कड़ी मेहनत का फल अब मिल रहा है. अब्बास ने पाकिस्तान क्रिकेट के पतन की आलोचना करते हुए कहा कि सफलता की कुंजी सिर्फ कड़ी मेहनत है.

यह भी पढ़ें: 

खुलासा: वाशिंगटन सुंदर के पास खेलने के लिए नहीं थे पैड्स, गाबा टेस्‍ट शुरू होने के बाद गए थे खरीदने
शार्दुल ठाकुर बोले- लोकल ट्रेन में सीट मिलना मुश्किल, तेज गेंदबाजों का सामना करना आसान!

कोचिंग या सलाह से नहीं बन सकते बड़े खिलाड़ी

उन्होंने कहा कि क्रिकेट में मेरा हमेशा मानना रहा है कि सबसे अहम बात यह है कि कोई खिलाड़ी कितनी मेहनत कर रहा है और कितना समय खेल को दे रहा है. किसी भी कोचिंग या सलाह से आप आला दर्जे के खिलाड़ी नहीं बन सकते जब तक कि खुद मेहनत ना करें. एशिया के ब्रैडमेन कहे जाने वाले अब्बास ने कहा कि भारत की ऑस्ट्रेलिया में जीत इसलिए भी अहम है, क्योंकि वह विराट कोहली और कई सीनियर खिलाड़ियों के बिना मिली. उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेटरों से भी अपने खेल पर और मेहनत करने को कहा. (भाषा इनपुट के साथ )
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज