लाइव टीवी

इमरान खान बोले- 7 गुना बड़े भारत को पाकिस्‍तान क्रिकेट में बुरी तरह हराता था

पीटीआई
Updated: January 24, 2020, 3:55 PM IST
इमरान खान बोले- 7 गुना बड़े भारत को पाकिस्‍तान क्रिकेट में बुरी तरह हराता था
इमरान खान ने 80 के दशक में भारत में गोदरेज ग्रुप के साबुन सिंथाल के लिए एड किया था

पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कहा कि मीडिया में उन्हें निशाना बनाकर बड़े पैमाने पर नकारात्मकता फैलाई जा रही है.

  • Share this:
दावोस: पाकिस्‍तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने दावोस में वर्ल्‍ड इकनॉमिक फोरम (World Economic Forum) में अपने देश के संसाधनों का जिक्र करते हुए कहा कि एक समय पाकिस्‍तान अपने से 7 गुना बड़े भारत (India) को हराया करता था. उस समय पाकिस्‍तान को ताकतवर माना जाता था. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्‍तान हॉकी में बड़ी ताकत था और कई दूसरे खेलों में भी उसकी तूती बोलती थी. उसके पास हमेशा से मानव व प्राकृतिक संसाधन रहे हैं लेकिन भ्रष्‍टाचार की वज‍ह से पिछले कुछ दशकों में देश को नुकसान पहुंचा है.

'एशियाई रोल मॉडल था पाकिस्‍तान' 
एक कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा, '60 के दशक में पाकिस्‍तान चमक रहा था और यह एशियाई रोल मॉडल था. मैं उस उम्‍मीद के साथ बड़ा हुआ लेकिन हमने हमारे संसाधनों को जाया किया क्‍योंकि दुर्भाग्‍य से हमारे यहां पर लोकतंत्र मजबूत नहीं हो पाया. जब लोकतंत्र में गड़बड़ी हुई तो सेना आ गई.'

इमरान खान पहले भी वैश्‍विक मंचों पर भारत-पाकिस्‍तान के संबंधों को उठा चुके हैं. फोटो. एपी


'भारत हमसे 7 गुना बड़ा था लेकिन हम उन्‍हें लगातार हराया करते थे'
पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका मानना है अगर पाकिस्‍तान को अच्‍छा शासन मिले तो वह आगे बढ़ेगा. उन्‍होंने कहा, 'पाकिस्‍तान के संस्‍थापक जबरदस्‍त और मजबूत लोग थे. वे चाहते थे कि पाकिस्‍तान इंसानियत युक्‍त हो, वे कल्‍याणकारी समाज बनाना चाहते थे. लेकिन हम उस विजन से भटक गए. जब मैं क्रिकेट खेलता था, भारत हमसे 7 गुना बड़ा था लेकिन हम उन्‍हें लगातार हराया करते थे, हॉकी और दूसरे खेलों में भी हम शानदार थे.'

इमरान ने अखबार पढ़ना और चैट शो देखना छोड़ा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मीडिया में उन्हें निशाना बनाकर बड़े पैमाने पर नकारात्मकता फैलाई जा रही है और इसी के चलते उन्होंने सुबह अखबार पढ़ना और शाम को टीवी पर चैट शो देखना बंद कर दिया है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार द्वारा लागू किए जा रहे गहरे संस्थागत और प्रशासनिक सुधारों के लाभ हासिल करने के लिए पाकिस्तान को एक पीड़ादायक प्रक्रिया से तो गुजरना ही था. उन्होंने सब लोगों से इसके परिणामों के लिए ‘संयम’ बरतने की अपील की.

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावोस में कहा, मैं आलोचना का आदी हो चुका हूं, लेकिन पिछले डेढ़ साल में मीडिया ने मेरी बहुत ज्‍यादा आलोचना की.


'मीडिया में बुरी तरह निशाना बनाया गया'
खान ने कहा, ‘यह ऐसा है जैसे आप जन्नत जाना चाहते हैं लेकिन मरना नहीं चाहते. यह बुरा उदाहरण हो सकता है इसलिए मैं कहूंगा कि आप ट्यूमर को हटवाना तो चाहते हैं लेकिन सर्जरी का दर्द बर्दाश्त नहीं करना चाहते. 40 साल से सार्वजनिक जीवन में हूं और इसलिए आलोचना का आदी हूं लेकिन पिछले डेढ़ साल में मीडिया में मुझे बुरी तरह निशाना बनाया गया. सबसे बेहतर मैं यही कर सकता था कि मैं अखबार पढ़ना और शाम में चैट शो देखना बंद कर दूं. मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि सब्र रखें. इन तमाम आलोचनाओं का मुकाबला करने और आखिरकार सफल होने के लिए बहुत राजनीतिक इच्छाशक्ति और साहस की जरूरत होगी.

राहुल के मना करने पर भी रन को दौड़ पड़े कोहली, 1 गेंद पर 2 बार आउट होने से बचे

जसप्रीत बुमराह पर मंडराया चोट का खतरा, थम गई टीम इंडिया के प्‍लेयर्स की सांसें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 3:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर