पैट कमिंस ने विराट काेहली और चेतेश्वर पुजारा को लेकर कही बड़ी बात, भारतीय फैंस हो जाएंगे?

पैट कमिंस टेस्ट के नंबर-1 गेंदबाज हैं. (Twitter)

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) का फाइनल अगले महीने होना है. टीम इंडिया फाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ेगी. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat cummins) ने विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के बल्लेबाजी की सराहना की है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप से पहले टीम इंडिया को खुश होने का मौका दे दिया है. बतौर गेंदबाज वे सबसे कठिन बल्लेबाज किसे मानते हैं. इस सवाल के जवाब में उन्होंने दो भारतीय खिलाड़ियों का भी नाम लिया. ये दोनों खिलाड़ी 18 से 22 जून तक साउथम्प्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले फाइनल में उतरेंगे. टीम इंडिया 2 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना होगी.

    यू-ट्यूब पर एक सवाल के जवाब में पैट कमिंस ने कहा कि दुनिया के कई बल्लेबाजों के सामने गेंदबाजी करना कठिन है. उन्होंने कहा, ‘टीम इंडिया में विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा तो न्यूजीलैंड में केन विलियम्सन को गेंदबाजी करना मुश्किल है.’ पैट कमिंस ने कहा कि इंग्लैंड के जो रूट, बेन स्टोक्स, पाकिस्तान के बाबर आजम और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स भी मुश्किल बल्लेबाजों में से एक हैं.

    इन तीन खिलाड़ियों को रखेंगे टीम में

    पैट कमिंस ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वे तीन खिलाड़ियों को टीम में जरूर रखना चाहेंगे. इसमें टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ हैं. रोहित शर्मा को लेकर उन्होंने कहा कि वे एक बड़े खिलाड़ी हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत सारे रन बनाए हैं. ऐसे में उनका विकेट किसी भी गेंदबाज के लिए महत्वूपर्ण होता है.

    यह भी पढ़ें: World Cup Super League: बांग्लादेश 6 वर्ल्ड चैंपियन को पछाड़कर टॉप पर, आयरलैंड से भी पीछे श्रीलंका

    टीम के फाइनल में नहीं पहुंचने का अफसोस

    पैट कमिंस ने कहा कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का प्रारूप काफी शानदार है. लेकिन कोविड-19 की वजह से यह ठीक से आयोजित नहीं हो पाया. हमने कुछ गलतियां की, जिसके कारण हम फाइनल में नहीं पहुंच सके. उन्होंने कहा कि हमने कुल आठ सीरीज खेली. हमारा सफर कुल मिलाकर अच्छा रहा. हम शायद छह सीरीज जीतने में सफल रहे. हम फाइनल तक नहीं पहुंच सके, इस बात का दुख जरूर है. टेस्ट क्रिकेट में यह नया प्रयोग अच्छा है.