लाइव टीवी

सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट से की कोरोना वायरस की तुलना, कहा-बचाव के लिए अच्छा डिफेंस करना होगा

News18Hindi
Updated: March 19, 2020, 7:14 PM IST
सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट से की कोरोना वायरस की तुलना, कहा-बचाव के लिए अच्छा डिफेंस करना होगा
लॉकडाउन के कारण सचिन तेंदुलकर को परिवार के साथ समय बिताने का मौका मिल गया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते भारत (India) में चार लोगों की जान जा चुकी है और करीब 160 लोग इसके संक्रमण का शिकार हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2020, 7:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचने के लिए सभी लोग अपने-अपने उपाय कर रहे हैं. पूरी सावधानी और स्वच्छ रहकर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है. भारतीय टीम (Indian Team) के कप्तान विराट कोहली और पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी इसे लेकर लोगों को जागरूक कर चुके हैं. दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने दुनियाभर में कहर ढा रहे कोरोना वायरस की तुलना अब टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) से की है. सचिन ने कहा है कि इससे बचने के लिए टीमवर्क और धैर्य की जरूरत है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के लिए लिखे लेख में सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट का हवाला देते हुए कोरोना वायरस को मात देने का मंत्र बताया. सचिन तेंदुलकर ने बताया, 'टेस्ट क्रिकेट आपको धैर्य का महत्व बताता है. जब आपको पिच के हालात और गेंदबाजी समझ नहीं आती तो डिफेंस ही अटैक करने का सबसे सही तरीका होता है. अब अगर हमें बचाव करना है तो हमें धैर्य की जरूरत है.'

टेस्ट क्रिकेट से सबक सीखने की जरूरत
सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा कि ऐसे में जबकि पूरी दुनिया कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग लड़ रही है, हमें शायद क्रिकेट के सबसे पुराने प्रारूप से सबक सीखने की जरूरत है. भारत में कोरोना वायरस से चार लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं देश में इसके संक्रमण के करीब 160 मामले हैं. वहीं दुनियाभर में इस वायरस की चपेट में आने से आठ हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. विश्वभर में इसके दो लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और ये संख्या लगातार बढ़ रही है.



सभी को मिलकर लड़नी होगी लड़ाई


46 साल के सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने साल 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. सचिन ने अपने करियर में 200 टेस्ट मैच खेले, जिनमें उन्होंने 15921 रन बनाए. वह 200 टेस्ट खेलने वाले दुनिया के पहले और एकमात्र बल्लेबाज हैं. उन्होंने कहा, 'कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ सभी देशों को मिलकर लड़ाई लड़नी होगी. अगर आप क्रिकेट की भाषा में कहें तो जैसे सीमित ओवर प्रारूप में व्यक्तिगत प्रदर्शन मदद कर सकता है, वैसे ही टेस्ट क्रिकेट पूरी तरह साझेदारी और टीमवर्क पर आधारित है. टेस्ट क्रिकेट वापसी के बारे में है. अगर आपने पहला अवसर गंवा दिया तो वहां हमेशा दूसरा मौका होता है. हमें इस लड़ाई को सत्र दर सत्र के हिसाब से लड़ना होगा.'

सचिन की खास बातें
1. टेस्ट क्रिकेट की तरह ही कोरोना वायरस के खिलाफ साझेदारी और टीमवर्क अहम.
2. टेस्ट क्रिकेट के सत्रों की तरह ही स्टेज दर स्टेज वायरस के खिलाफ लड़ना होगा.
3. जिस तरह टेस्ट क्रिकेट में धैर्य अहम रहता है, वैसे ही इस महामारी से भी धैर्य के सा‌थ लड़ना होगा.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के खौफ के बीच ग्रीस ने टोक्यो को सौंपी ओलिंपिक मशाल

IPL पर खेल मंत्री का बड़ा बयान-सवाल लोगों की सुरक्षा का है,15 अप्रैल के बाद...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 19, 2020, 6:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading