वीजा विवाद पर बोले पीसीबी चेयरमैन एहसान मनी- हमें भारत में टी20 वर्ल्ड कप होने से कोई आपत्ति नहीं

पीसीबी चेयरमैन एहसान मनी ने टी20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा बयान दिया है.  (साभार- पीसीबी ट्विटर)

पीसीबी चेयरमैन एहसान मनी ने टी20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा बयान दिया है. (साभार- पीसीबी ट्विटर)

पीसीबी चेयरमैन एहसान मनी ने कहा कि हमें भारत में टी20 वर्ल्ड कप होने से कोई आपत्ति नहीं है. बस हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ और मीडियाकर्मियों को टूर्नामेंट के लिए जरूरी वीजा मिले.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 2:24 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ( Pakistan Cricket Board) के चेयरमैन एहसान मनी ने इस साल भारत में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पीसीबी भारत में टी20 वर्ल्ड कप होने के खिलाफ नहीं है. हमें इस टूर्नामेंट के भारत में होने पर कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ, फैंस और मीडियाकर्मियों को टूर्नामेंट के लिए जरूरी वीजा मिले.

मनी ने गल्फ न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा कि इस मामले में हमने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को पिछले साल 31 दिसंबर तक अपना रुख साफ करने को कहा था. लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ( Sourav Ganguly) के बीमार होने के कारण इस फैसले को जनवरी तक टाल दिया गया था. हालांकि, अब फरवरी खत्म होने जा रहा है. हम से भी पाकिस्तान में मीडिया और अलग-अलग पक्ष वीजा मसले को लेकर सवाल पूछ रहे हैं. इसलिए मैंने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के सामने यह मुद्दा उठाया है कि भारत वीजा के मामले में जल्द से जल्द अपना रुख साफ कर ताकि वक्त रहते हम इस पर कोई फैसला ले सकें.

बीसीसीआई को अपना रुख साफ करना होगा
भारत में पिछली बार 2016 में हुए टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की टीम खेली थी. इसके बाद भी वीजा को लेकर आपको आशंका है? इस पर पीसीबी चेयरमैन ने कहा कि हां, 2019 में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हो चुकी है. तब पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम को भारत में आईसीसी क्वालिफायर खेलना था.
बीसीसीआई ने कहा था कि हमने पाकिस्तानी खिलाड़ियों के वीजा के लिए भारत सरकार को चिठ्ठी लिखी है. लेकिन सरकार की ओर से कोई जवाब नहीं मिला. कई महीनों तक ऐसा ही चलता रहा और टूर्नामेंट नजदीक आ गया. इसके बाद बीसीसीआई ने ये कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया कि अब बहुत देर हो चुकी है. इसी वजह से हमारी महिला टीम क्वालिफायर नहीं खेल पाई और उसे विरोधी टीम से प्वाइंट शेयर करने पड़े. ऐसे में अब हम नहीं चाहते हैं कि फिर से ऐसे हालात बने क्योंकि ये वर्ल्ड क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं होगा.



पीसीबी वर्ल्ड कप यूएई में शिफ्ट करने की लगातार मांग कर रहा
वीजा विवाद के बीच, पीसीबी अध्यक्ष ने बीते हफ्ते टी20 वर्ल्ड कप को भारत की बजाय कहीं और शिफ्ट करने की बात कही थी. उन्होंने लाहौर में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि बोर्ड ने आईसीसी( ICC) को अपना रुख साफ कर दिया है. उन्होंने कहा कि ये बिग थ्री (भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया) की मानसिकता बदलने की जरूरत है. हम केवल नेशनल टीम के लिए नहीं बल्कि फैंस, मीडियाकर्मियों और अधिकारियों के लिए वीजा मिलने की लिखित गारंटी मांग रहे हैं.

इतना ही नहीं मनी ने तब ये भी कहा था कि हमने आईसीसी से कह दिया है कि हमें वीजा को लेकर मार्च के अंत तक लिखित आश्वसान चाहिए. ताकि पता चल सके कि हमें आगे क्या करना है. वर्ना हम वर्ल्ड कप भारत की बजाय यूएई में कराने की अपनी मांग पर कायम रहेंगे. वैसे तो टी20 वर्ल्ड 2020 में ऑस्ट्रेलिया में होना था, लेकिन कोरोनावायरस महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था. अब भारत में इस साल अक्टूबर में टी20 वर्ल्ड कप होना है. जबकि ऑस्ट्रेलिया में अगले साल ये टूर्नामेंट होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज