42 साल से क्रिकेट की खबरें दे रही मैगजीन क्रिकेट सम्राट हो रही बंद, लोग हुए इमोशनल

42 साल से क्रिकेट की खबरें दे रही मैगजीन क्रिकेट सम्राट हो रही बंद, लोग हुए इमोशनल
क्रिकेट सम्राट की शुरुआत कपिल देव के डेब्यू के एक महीने बाद हुई थी.

क्रिकेट के दीवानों के लिए बुरी खबर है. देश में 42 साल से क्रिकेट की हर खबर देने वाली लोकप्रिय मैगजीन क्रिकेट सम्राट (Cricket Samrat) बंद होने जा रही है. निराश क्रिकेटप्रेमियों ने इसे एक युग का अंत करार दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में लोगों के बीच तमाम असहमतियां हो सकती हैं, पर क्रिकेट की लोकप्रियता पर  नहीं. जब क्रिकेट (Cricket) ऑन होता है, तो पूरा देश एक होता है. यही कारण है कि क्रिकेट को भारत का धर्म भी कहा जाता है. लोग इस खेल के प्रति दीवाने हैं. क्रिकेटरों को भगवान की तरह पूजा जाता है. इसकी एक-एक खबर पाने के लिए लोग बेताब होते हैं. क्रिकेट की खबरों के इन दीवानों के लिए बुरी खबर है. देश में 42 साल से क्रिकेट की हर खबर देने वाली लोकप्रिय मैगजीन (Cricket  Magazine) क्रिकेट सम्राट बंद होने जा रही है. जिस क्रिकेट सम्राट (Cricket Samrat) की प्रतियां हाथों हाथ बिकती थीं, वो अब किसी के हाथ में नहीं पहुचेंगी.

साल 2020 खेल जगत से लेकर तमाम दुनिया के लिए बुरा साबित हो रहा है. करीब चार महीने से खेल बंद हैं. इसे लॉकडाउन का असर कहिए या कुछ और, लेकिन इस खेलबंदी के दौरान क्रिकेट की सबसे लोकप्रिय हिंदी मैगजीन के बंद होने की खबर भी आ गई है. ‘मिडडे’ के मुताबिक क्रिकेट सम्राट (Cricket Samrat) के प्रकाशक ने इसे बंद करने की घोषणा कर दी है. इससे खेलप्रेमी, खासकर क्रिकेट के दीवाने खासे दुखी हैं. कुछ ने तो इसे एक युग का अंत करार दिया है.

बता दें कि क्रिकेट सम्राट पहली बार नवंबर 1978 में प्रकाशित हुई थी. यह वो दौर था, जब भारत देश में सुनील गावस्कर, गुंडप्पा विश्वनाथ की तूती बोलती थी और कपिल देव की टीम में बस एंट्री ही हुई थी. कुछ ही साल में यह क्रिकेट की सबसे भरोसेमंद और लोकप्रिय मैगजीन बन गई. लोग बेसब्री से इसका इंतजार करते थे.
क्रिकेट सम्राट में ना सिर्फ इस खेल की खबरें होती थीं, बल्कि प्रमुख खिलाड़ियों के इंटरव्यू भी छपते थे. इससे लोग अपने चहेते सितारों की निजी पसंद, नापसंद, संघर्ष से लेकर तमाम बातें जान पाते थे. मैगजीन में सवाल-जवाब का भी एक कॉलम था. इसमें पाठकों की तमाम जिज्ञासाओं का जवाब होता था और आंकड़े से लेकर नियम की बारीकियां भी पता चल जाती थीं.




क्रिकेट सम्राट में आने वाला पोस्टर भी खासा लोकप्रिय था. उस दौर में क्रिकेटप्रेमियों के कमरों में मिलने वाले क्रिकेटरों के पोस्टर ज्यादातर इसी मैगजीन के हुआ करते थे. ऐसा नहीं है कि क्रिकेट की यह अकेली मैगजीन थी. लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि इसकी लोकप्रियता के आसपास कोई नहीं पहुंच सकी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading