• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET PRAHARSH PARIKH BOWLED MS DHONI IN NETS BEFORE 2019 WORLD CUP MATCH SHARED STORY

धोनी को 17 साल के गेंदबाज ने भारत-पाक वर्ल्ड कप मैच से पहले नेट्स पर किया था बोल्ड, जश्न मनाना ही भूला

धोनी ने अपने करियर का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच भी 2019 के वर्ल्ड कप में ही खेला था. (Instagram)

प्रहर्ष पारीख ने दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के विकेट को जीवन भर के लिए याद रखने वाला बताया. उन्होंने कहा कि वह महान बल्लेबाज के स्टंप को चकनाचूर करने के बाद बेहद खुश थे और उन्हें यह ही समझ नहीं आया था कि कैसे रिएक्ट करना है, जश्न मनाना है या नहीं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से युवा क्रिकेटरों को काफी कुछ सीखने को मिलता है. वह क्रिकेट की बारीकियों को समझते हैं और युवाओं को बताते भी हैं. उनका विकेट लेना भी हर खिलाड़ी के लिए खास होता है. ऐसा ही 2019 वर्ल्ड कप के नेट अभ्यास में हुआ था जब 17 साल के एक गेंदबाज ने उन्हें बोल्ड कर दिया था. प्रहर्ष पारीख (Praharsh Parikh) नाम के इस गेंदबाज ने धोनी को बोल्ड किया था. अब उन्होंने एक इंटरव्यू में उस वाकये को साझा किया है.

    भारत के सबसे सफल कप्तानों में शुमार धोनी ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच 2019 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में खेला था. उनका विकेट लेना दुनिया भर के कई गेंदबाजों की इच्छा-सूची में होगा. मैनचेस्टर के एक नवोदित गेंदबाज ने 2019 में विश्व कप के दौरान नेट्स में दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज को आउट करने में कामयाबी हासिल की थी.

    इसे भी देखें, ऑस्ट्रेलिया की वर्ल्ड चैंपियन टीम का स्पिनर क्यों बन गया कारपेंटर, जानिए वजह- VIDEO

    मैनचेस्टर में हाई-वोल्टेज भारत बनाम पाकिस्तान मैच की पूर्व संध्या पर लंकाशायर की अंडर -17 टीम के स्पिनर प्रहर्ष पारीख को नेट्स में धोनी के खिलाफ गेंदबाजी करने का मौका मिला.  राउंड द विकेट आते हुए उन्होंने एक गेंद फेंकी जिस पर धोनी को कट शॉट खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा. हालांकि, गेंद उतनी ऊंची नहीं उछली जितनी धोनी को उम्मीद थी, और उनके बल्ले के नीचे से ऑफ स्टंप पर जा लगी.

    उस दिन को याद करते हुए प्रहर्ष ने धोनी के विकेट को जीवन भर के लिए याद रखने वाला बताया. उन्होंने कहा कि वह महान बल्लेबाज के स्टंप को चकनाचूर करने के बाद बेहद खुश थे. उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा, 'यह अद्भुत था. जीवन भर के लिए यादगार था. वह मेरी पिछली गेंदों पर सिंगल ले रहे थे, इसलिए मैंने सोचा कि एक फ्लिपर गेंदबाजी करना फायदेमंद हो सकता है. उन्हें बोल्ड करने के बाद, मुझे नहीं पता था कि क्या करना है, जश्न मनाना है या नहीं. नेट गेंदबाजी के दौरान, मैंने अलग-अलग टीमों के कई खिलाड़ियों को आउट किया लेकिन मैं जिस विकेट को जीवन भर संजो कर रखूंगा, वह धोनी का है.'

    धोनी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दिल तोड़ने वाले सेमीफाइनल मैच के बाद कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला, और उन्होंने आधिकारिक तौर पर 15 अगस्त 2020 में रिटायरमेंट का ऐलान किया. वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के लिए खेलते हैं और कप्तानी करते हैं.
    Published by:Tarun Vats
    First published: