लाइव टीवी

विराट कोहली के जिगरी यार ने 32 साल की उम्र में लिया संन्यास

News18Hindi
Updated: October 20, 2018, 3:07 PM IST
विराट कोहली के जिगरी यार ने 32 साल की उम्र में लिया संन्यास
प्रवीण कुमार अभी भी ONGC के लिए क्रिकेट खेलते रहेंगे और जिस अंदाज़ में उनका करियर खत्म हुआ उसको लेकर उन्हें कोई अफसोस नहीं है.

प्रवीण कुमार अभी भी ONGC के लिए क्रिकेट खेलते रहेंगे और जिस अंदाज़ में उनका करियर खत्म हुआ उसको लेकर उन्हें कोई अफसोस नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2018, 3:07 PM IST
  • Share this:
भारतीय क्रिकेटर प्रवीण कुमार ने क्रिकेट के सभी फॉर्मैट से संन्यास लेने का फैसला किया है. अब वह रणजी ट्रॉफी के आगामी सीजन में उत्तर प्रदेश के लिए नहीं खेलेंगे और युवाओं को खेलने का मौका देंगे. कुछ साल पहले कुमार भारतीय टीम के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हुआ करते थे. वहीं, जब वह अपने करियर में टॉप पर थे तब उन्होंने भारतीय टीम को कई शानदार जीत दिलावईं. 32 साल के प्रवीण कुमार आखिरी बार भारत के लिए 2012 मार्च में टी20 खेलते नजर आए थे.

इसके बाद चोट की वजह से उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया और फिर उन्हें टीम में उन्हें कभी मौका नहीं मिला. उनके 13 साल के करियर के दौरान प्रवीण ने 66 फर्स्ट क्लास और 139 लिस्ट ए मैच खेले. इसके अलावा वह भारत के लिए 68 वनडे, 6 टेस्ट और 10 टी20 मैच खेले. वह अपने समय में भरोसेमंद स्विंग गेंदबाज थे. उनके नाम 112 अंतरराष्ट्रीय विकेट हैं. प्रवीण कुमार विराट कोहली के अच्छे दोस्त रहे हैं. वे अक्सर साथ में शॉपिंग पर जाया करते थे. साथ ही प्रवीण आईपीएल में आरसीबी की ओर से भी खेल चुके हैं.

प्रवीण कुमार अभी भी ONGC के लिए क्रिकेट खेलते रहेंगे और जिस अंदाज़ में उनका करियर खत्म हुआ उसको लेकर उन्हें कोई अफसोस नहीं है. बल्कि वह चाहते हैं कि युवाओं को ज्यादा से ज्यादा मौका मिले और उनका करियर उनकी वजह से प्रभावित न हो.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा, "मुझे कोई गिला-शिकवा नहीं है. दिल से खेला दिल से बॉलिंग की. यूपी में कई अच्छे गेंदबाज अपनी बारी का इंतज़ार कर रहे हैं और मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से उनका करियर खराब हो क्योंकि मैं खेलूंगा तो एक जगह जाएगी. मेरा समय खत्म हो चुका है और मैंने इस बात को स्वीकार कर लिया है. मैं खुश हूं और भगवान को शुक्रियादा करता हूं कि मुझे ये मौका मिला."

ये भी पढ़ें: टी20 सीरीज में अगर ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराया तो टीम इंडिया को होगा बड़ा घाटा

प्रवीण ने कहा कि वह भविष्य में गेंदबाजी कोच बनना चाहते हैं ताकि वह नए नवेले क्रिकेटर्स की मदद कर सकें. उन्होंने कहा, "मैंने क्रिकेट से रिटायर होने का तय किया है. यह फैसला जल्दबाजी में नहीं लिया गया है. मैंने इस बारे में तसल्ली से सोचा और फिर तय किया कि संन्यास लेने का ये सही समय है. मैं अपने परिवार, बीसीसीआई, यूपीसीए और राजीव शुक्ला सर का इस मौके के लिए शुक्रियादा करता हूं. अब मैं गेंदबाजी कोच बनना चाहता हूं. लोग जानते हैं कि मेरे पास ये नॉलेज है. मुझे लगता है कि ये क्षेत्र है जहां मैं दिल से काम कर सकता हूं, मैं अपना अनुभव युवाओं के साथ बांट सकता हूं."

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2018, 3:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...