'पृथ्वी शॉ को कम से कम 3 बार बताया गया था, 5 सेकेंड के लिए भी ढंग से सुनते तो उन्हें पता होता'

बीसीसीआई के एंटी डोपिंग मैनेजर अभिजीत साल्वी ने कहा है कि हम 2010 से हर साल, सत्र शुरू होने से पहले और अलग-अलग एज ग्रुप के खिलाड़ियों के लिए एंटी डोपिंग अवेयरनेस प्रोग्राम का आयोजन करते हैं.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 11:33 AM IST
'पृथ्वी शॉ को कम से कम 3 बार बताया गया था, 5 सेकेंड के लिए भी ढंग से सुनते तो उन्हें पता होता'
पृथ्वी शॉ को डोप टेस्ट में फेल होने पर आठ महीने के लिए प्रतिबंधित किया गया है.
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 11:33 AM IST
टीम इंडिया के उभरते युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खुद को स्‍थापित करने से पहले ही मुश्किल में पड़ गए हैं. पृथ्वी शॉ पर डोप टेस्ट में फेल होने पर आठ महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है. उनका प्रतिबंध 15 नवंबर को खत्म हो रहा है. तब तक वह बीसीसीआई से जुड़े किसी भी फैसिलिटी सेंटर में ट्रेनिंग नहीं कर पाएंगे.

दरअसल, पृथ्वी शॉ को कफ सिरप में पाए जाने वाले प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के चलते प्रतिबंधित किया गया है. हालांकि शॉ ने सफाई दी है कि उन्होंने खांसी की रोकथाम के उपाय के तहत इस कफ सिरप का सेवन किया था और उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी. मगर बीसीसीआई के एंटी डोपिंग मैनेजर अभिजीत साल्वी का इस बारे में कुछ और ही कहना है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई के एंटी डोपिंग मैनेजर अभिजीत साल्वी ने कहा है कि हम 2010 से हर साल, सत्र शुरू होने से पहले और अलग-अलग एज ग्रुप के खिलाड़ियों के लिए एंटी डोपिंग अवेयरनेस प्रोग्राम का आयोजन कर रहे हैं. हम हर हाल में इन एंटी डोपिंग अवेयरनेस प्रोग्राम को आयोजित करते ही हैं. शुरुआत में इन प्रोग्राम में मैं और डॉ. वेस पेस शामिल होते थे, लेकिन उनके रिटायर होने के बाद अब मैं ही इस तरह के आयोजनों का संचालन करता हूं. यहां तक कि मैं अभी धर्मशाला में हूं और यहां भी ऐसे ही एक अवेयरनेस प्रोग्राम का आयोजन किया जा रहा है.

पृथ्वी शॉ ने तीन बार एंटी डोपिंग अवेयरनेस प्रोग्राम में लिया था हिस्सा

अभिजीत साल्वी ने कहा कि बीसीसीआई के पास उसके क्रिकेटरों के लिए कोई रजिस्टर्ड टेस्टिंग पूल नहीं है. जहां तक बात पृथ्वी शॉ की है तो दवा लेने में बरती गई अपनी लापरवाही की वजह से ये क्रिकेटर इस तरह की मुश्किल में फंसा है. उन्होंने बताया कि पृथ्वी शॉ ने कम से कम तीन बार एंटी डोपिंग अवेयरनेस प्रोग्राम में हिस्सा लिया था. वह भारत की अंडर-19 टीम के कप्तान थे और अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान आईसीसी भी इससे संबंधित वर्कशॉप आयोजित करती है. इसके अलावा उन्होंने हमारे ऐसे ही तीन प्रोग्राम में हिस्सा लिया था. इस दौरान मैंने कम से कम 10 से 15 बार अच्छी तरह समझाया था कि खिलाड़ियों को दवाई लेते वक्त किन बातों का ध्यान रखना होता है. ये भी बताया गया था कि छोटी से छोटी दवाई लेते वक्त भी उन्हें हमसे बात करनी चाहिए.

bcci, prithvi shaw suspend, anti doping, bcci dope test, sports ministry, national anti doping agency, पृथ्‍वी शॉ बैन, बीसीसीआई, डोप टेस्‍ट, एंटी डोपिंग, खेल मंत्रालय
पृथ्वी शॉ ने अपने डेब्यू टेस्ट में ही वेस्टइंडीज के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी.


रोज 25 से 30 सवाल पूछते हैं देशभर के क्रिकेटर
Loading...

बीसीसीआई के एंटी डोपिंग मैनेजर ने कहा कि देश भर से कम से कम 25 से 30 सवाल पूछने के लिए अलग-अलग जगहों के क्रिकेटर हेल्पलाइन के जरिये सवाल पूछते हैं. सभी को पता है कि वो एंटी डोपिंग नियमों से बंधे हैं. मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि अगर पृथ्वी शॉ ने पांच सेकेंड के लिए भी अवेयरनेस प्राेग्राम में ध्यान दिया होता तो उन्हें इसके बारे में पता होता. साल्वी ने साथ ही बताया कि बीसीसीआई हर साल घरेलू क्रिकेट में 250 के करीब डोप टेस्ट कराता है.

bcci, prithvi shaw suspend, anti doping, bcci dope test, sports ministry, national anti doping agency, पृथ्‍वी शॉ बैन, बीसीसीआई, डोप टेस्‍ट, एंटी डोपिंग, खेल मंत्रालय
भारत के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ अगले साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के मुख्य हथियार हो सकते हैं.


आईपीएल के दौरान भी होते हैं डोप टेस्ट
साल्वी ने बताया कि आईपीएल के दौरान भी खिलाड़ियों का डोप टेस्ट होता है. यहां तक कि विदेशी खिलाड़ी भी इसके दायरे में आते हैं. टूर्नामेंट के दौरान मैचों के बीच समय कम होता है, ऐसे में हम टीम होटल्स, ट्रेनिंग सेशन से लेकर जिम तक में जाकर खिलाड़ियों का डोप टेस्ट करते हैं.

बीसीसीआई को बढ़ानी होगी डोप टेस्ट की संख्या
अभिजीत साल्वी ने कहा कि बीसीसीआई को जहां तक एंटी डोपिंग उपायों की बात है तो इस बात में बिल्कुल भी संदेह नहीं है कि उसे कंपटीशन के बाहर डोप टेस्ट की संख्या बढ़ाने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें- 14 साल की उम्र में 546 रन जड़ने वाले पृथ्वी शॉ डोप टेस्ट में फेल, लगा बैन

रवि शास्त्री ही बने रहेंगे टीम इंडिया के कोच- रिपोर्ट
First published: August 2, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...