• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • 67 शतक लगाने वाले दिग्गज बल्लेबाज ने कहा- मैदान के बाहर अनुशासन में रहें पृथ्वी शॉ

67 शतक लगाने वाले दिग्गज बल्लेबाज ने कहा- मैदान के बाहर अनुशासन में रहें पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ मैदान के बाहर अनुशासनहीन हैं क्या?

पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की तुलना दिग्गज बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग से होती है, उनका भविष्य भी उज्ज्वल बताया जाता है लेकिन एक दिग्गज खिलाड़ी ने उनकी अनुशासनहीनता पर सवाल खड़ा किया है

  • Share this:
    नई दिल्ली. पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) को भारत के सबसे टैलेंटेड बल्लेबाजों में गिना जाता है. मुंबई  के इस दाएं हाथ के बल्लेबाज की तुलना पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग से होती है. हालांकि इस खिलाड़ी के साथ थोड़ी अनुशासन की समस्या रही है और यही बात रणजी ट्रॉफी के दिग्गज बल्लेबाज और फर्स्ट क्लास और लिस्ट ए क्रिकेट में कुल 67 शतक ठोकने वाले वसीम जाफर ने भी कही है.

    पृथ्वी शॉ पर वसीम जाफर का बड़ा बयान
    भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की तुलना वीरेंद्र सहवाग से की लेकिन साथ ही ये भी कहा कि मुंबई के इस बल्लेबाज को मैदान से बाहर ज्यादा अनुशासित होने की जरूरत है. टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ प्रभावशाली डेब्यू के बाद शॉ पर डोपिंग मामले में आठ महीने का प्रतिबंध लगाया गया था. प्रतिबंध पूरा होने के बाद उन्होंने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट पर वापसी की और इस साल भारत के न्यूजीलैंड दौरे पर उन्हें अंतिम एकादश में जगह बनाने मौका मिला था.

    जाफर ने पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा से उनके यूट्यूब चैनल पर कहा, 'मुझे लगता है कि उसे (शॉ) मैदान से बाहर ज्यादा अनुशासित होने की जरूरत है. उसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफलता हासिल की लेकिन उसे क्रिकेट के बाहर भी बहुत ज्यादा अनुशासित रहने की जरूरत है.'



    गेंदबाजी आक्रमण ध्वस्त कर सकते हैं शॉ
    रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले जाफर ने कहा कि शॉ के पास बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त करने की क्षमता है. इस साल घरेलू क्रिकेट को अलविदा कहने वाले इस दिग्गज ने कहा, 'शॉ जिस तरह के शॉट लगाता है बिना किसी संदेह के मुझे लगता है कि वह एक विशेष खिलाड़ी है. अगर उसने इसे जारी रखा तो उसके पास वीरेंद्र सहवाग जैसी क्षमता है, जो पूरी तरह से गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त कर सकता है.

    वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों ने फिर तोड़ा कोरोना से जुड़ा नियम, कर दी ये गलती

    जेसन होल्डर के सामने इंग्लैंड ढेर, सिर्फ 40 रन देकर झटके 6 विकेट

    जाल में फंस जाते हैं शॉ
    जाफर के मुताबिक, शॉ (Prithvi Shaw) को अपने खेल को बेहतर ढंग से समझने की जरूरत है क्योंकि वह विरोधी गेंदबाजों के ‘जाल में फंस’ जाते है. जाफर ने कहा, 'मुझे लगता है कही ना कही उसे अपने खेल को समझने की जरूरत है. उसे थोड़ा समय लेने की जरूरत है. वह कई बार शॉर्ट पिच गेंदों पर आउट हुआ और गेंदबाजों के जाल में फंस गया. उसे इस बात को समझने की जरूरत है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज