Vijay Hazare Trophy 2021: पृथ्वी शॉ ने ठोके नाबाद 185 रन, 21 चौके-7 छक्के लगाए

Vijay Hazare Trophy 2021:पृथ्वी शॉ ने सौराष्ट्र के खिलाफ ठोके 185 रन (Prithivi Shaw/Instagram)

Vijay Hazare Trophy 2021:पृथ्वी शॉ ने सौराष्ट्र के खिलाफ ठोके 185 रन (Prithivi Shaw/Instagram)

विजय हजारे ट्रॉफी के चौथे क्वार्टर फाइनल में मुंबई ने सौराष्ट्र को 9 विकेट से हराया, कप्तान पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने लगाया तूफानी शतक.

  • Share this:
नई दिल्ली. दाएं हाथ के ओपनिंग बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) जब से टीम इंडिया से बाहर हुए हैं उनका गुस्सा जैसे गेंदबाजों पर निकल रहा है. खासतौर पर विजय हजारे ट्रॉफी में शॉ का बल्ला रनों की आग उगल रहा है. विजय हजारे ट्रॉफी में दोहरा शतक ठोकने वाले पृथ्वी शॉ ने मंगलवार को सौराष्ट्र के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में भी तूफानी पारी खेली. शॉ ने नाबाद 185 रन बनाकर मुंबई को 9 विकेट से जीत दिलाई.

पृथ्वी शॉ ने अपनी शतकीय पारी में 21 चौके और 6 छक्के लगाए. उनका स्ट्राइक रेट 150 से भी ज्यादा का रहा. पृथ्वी शॉ ने टूर्नामेंट में तीसरा शतक ठोका. इसमें 25 फरवरी को खेली उनकी 225 रनों की पारी भी शामिल है जो उन्होंने पुड्डुचेरी के खिलाफ खेली थी. सौराष्ट्र ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 284 रन बनाए. समर्थ व्यास ने नाबाद 90 और चिराग जानी और विश्वराज जडेजा ने 53-53 रनों की पारी खेली. लेकिन शॉ और यशस्वी जायसवाल की जोड़ी सौराष्ट्र पर भारी पड़ी. इन दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर पहले विकेट के लिए 238 रनों की साझेदारी कर मैच मुंबई के हक में कर दिया.

पृथ्वी शॉ का विजय हजारे ट्रॉफी में कमाल प्रदर्शन

बता दें पृथ्वी शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 589 रन बनाए हैं. पृथ्वी शॉ का स्ट्राइक रेट 134 से भी ज्यादा का है और उनके बल्ले से कुल 3 शतक निकले हैं. पृथ्वी शॉ ओपनर होने के बावजूद 3 बार नाबाद रहे हैं और उनका बल्लेबाजी औसत 196 से ज्यादा का है. वैसे विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे ज्यादा 673 रन कर्नाटक के ओपनर देवदत पडिक्कल ने बनाए हैं. कर्नाटक के कप्तान रविकुमार समर्थ के बल्ले से 605 रन निकले हैं.
IND VS ENG: ऋषभ पंत का शतक लगाना नासिर हुसैन को चुभ गया, इंग्लैंड को बुरी तरह लताड़ा!

फ्लॉप होने के बाद टीम इंडिया से बाहर हुए थे शॉ

बता दें पृथ्वी शॉ ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज तो शानदार किया था लेकिन उसके बाद वो अपने प्रदर्शन को बरकरार नहीं रख पाए. न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में वो 3 मैचों में 84 रन बना सके. इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वो 2 मैचों में 24.50 की औसत से 98 रन ही बना पाए. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले पहले टेस्ट में उनके बल्ले से एक टेस्ट में 4 रन निकले. इसके बाद उन्हें टीम इंडिया से बाहर कर दिया गया. हालांकि अब मुंबई का ये विस्फोटक बल्लेबाज फॉर्म में आ गया है. अब देखना ये है कि भारतीय सेलेक्टर्स उनपर भरोसा जताते हैं या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज