अपना शहर चुनें

States

प्रियम गर्ग बने मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए उत्तर प्रदेश के कप्तान


प्रियम गर्ग सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट चैंपियनशिप के लिए उत्तर प्रदेश के कप्तान नियुक्त (Priyam Garg Instagram)
प्रियम गर्ग सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट चैंपियनशिप के लिए उत्तर प्रदेश के कप्तान नियुक्त (Priyam Garg Instagram)

युवा बल्लेबाज प्रियम गर्ग (Priyam Garg) को सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट चैंपियनशिप (Mushtaq Ali Trophy) के लिए उत्तर प्रदेश का कप्तान नियुक्त किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2020, 10:57 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. युवा बल्लेबाज प्रियम गर्ग (Priyam Garg) को सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट चैंपियनशिप (Mushtaq Ali Trophy) के लिए उत्तर प्रदेश का कप्तान नियुक्त किया गया है. उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ के मुख्य परिचालन अधिकारी दीपक शर्मा ने शुक्रवार को बताया कि चयन समिति ने 20 साल के बल्लेबाज प्रियम गर्ग को आगामी सैयद मुश्ताक अली टी-20 चैंपियनशिप के लिए उत्तर प्रदेश सीनियर टीम का कप्तान चुना है.

उन्होंने बताया कि लेग स्पिनर कर्ण शर्मा को उप कप्तान बनाया गया है. हालांकि बीसीसीआई ने अभी सैयद मुश्ताक अली टी-20 चैंपियनशिप का कोई कार्यक्रम घोषित नहीं किया है.

इस गाने को 5 दिन सुन सचिन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलिया में खेली थी नाबाद 241 रन की पारी



भारतीय अंडर-19 के कप्तान 19 वर्षीय प्रियम गर्ग ने इस साल इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में भी प्रभावित करने वाले परफॉर्मेंस दिया. प्रियम गर्ग को हालांकि सनराइजर्स हैदराबाद के लिए बल्लेबाजी के कम अवसर मिले. वह निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हैं, लेकिन पहले ही मौके पर उन्होंने अपनी प्रतिभा दिखाई.
आईपीएल में प्रियम गर्ग का परफॉर्मेंस
एक मैच के दौरान हैदराबाद चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 69 रन पर 4 विकेट गंवा चुका था. लेकिन प्रियम गर्ग ने 26 गेंदों पर 51 रनों की पारी खेल कर टीम का स्कोर 5 विकेट पर 164 तक पहुंचाया. उनकी शांत और धैर्यपूर्ण पारी ने यह दिखाया कि वह बड़ी पारियां खेल सकते हैं. प्रियम ने आईपीएल 2020 में 14 मैचों में 14.77 की औसत और 119.81 के स्ट्राइक रेट से 133 रन बनाए.

अंडर-19 वर्ल्ड कप में प्रियम गर्ग का प्रदर्शन
इससे पहले प्रियम गर्ग ने अपनी कप्तानी में भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल तक का सफर भी तय करवाया. टूर्नामेंट में प्रियम गर्ग को सिर्फ 3 बार ही बल्लेबाजी करने का मौका मिल पाया. जिसमें उन्होंने टूर्नामेंट के पहले मैच में श्रीलंका के खिलाफ 56 रन की पारी खेली थी. इसके बाद जापान और न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्हें बल्‍लेबाजी का मौका ही नहीं मिल पाया. ऑस्ट्रेलिया के क्वार्टर फाइनल के अहम मुकाबले में जरूरत के समय वह सिर्फ पांच रन ही बना पाए और पाकिस्तान के खिलाफ भी सलामी बल्लेबाजों ने उन्हें बल्लेबाजी का मौका ही नहीं दिया. फाइनल में भी वो सिर्फ सात रन ही बना पाए.

कैमरून ग्रीन के सिर में लगी गेंद, रन और बल्ला छोड़ देखने भागे सिराज- VIDEO

पिता के संघर्ष से बने क्रिकेटर
मेरठ में जन्में 20 साल के प्रियम गर्ग ने 2018 में रणजी ट्रॉफी से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया था और उन्होंने अपने डेब्यू मैच में नाबाद शतक जड़ दिया था. प्रियम को क्रिकेटर बनाने में उनके पिता का संघर्ष भी जुड़ा है. प्रियम के सिर पर से मां का साया पहले ही उठ चुका था, इसके बाद उनके पिता ने ही मां की भी जिम्मेदारी निभाई. पिता ने दूध और अखबार बेचकर, स्कूल की गाड़ी चलाकर बेटे का सपना पूरा किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज