Home /News /sports /

अश्विन का खुलासा, कोच के कारण पहले टीम और फिर होटल से हुए बाहर, घर पर पड़ा बैठना

अश्विन का खुलासा, कोच के कारण पहले टीम और फिर होटल से हुए बाहर, घर पर पड़ा बैठना

अश्विन ने कहा कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ मैच में रॉबिन उथप्पा और मार्क बाउचर ने उनकी गेंदों की जमकर धुनाई की थी.  (फाइल फोटो)

अश्विन ने कहा कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ मैच में रॉबिन उथप्पा और मार्क बाउचर ने उनकी गेंदों की जमकर धुनाई की थी. (फाइल फोटो)

आर अश्विन (R Ashwin) ने कहा कि सुपर ओवर में टीम के हारने के बाद उन्‍हें टीम से बाहर कर दिया और जिसके बाद उन्‍हें होटल भी छोड़ना पड़ा था. दरअसल होटल के खर्चे को कम करने के लिए सिर्फ 18 खिलाड़ियों को ही टीम में रखा जा रहा था.

    नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में दो मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद भारत के शीर्ष ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) को पता चल गया था कि टी20 में गेंदबाजी करना आसान नहीं होता है और इस वास्तविकता ने उन्हें एक दशक पहले कड़ा सबक सिखाया था. क्रिकेटर से कमेंटेटर बने संजय मांजरेकर के साथ ईएसपीएनक्रिकइन्फो के लिए पोडकास्ट में अश्विन ने बताया कि चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) की तरफ से खेलते हुए आईपीएल 2010 ने उन्हें किस तरह से प्रभावित किया. अश्विन ने आईपीएल (IPL) 2010 को याद किया, जब दो मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद उन्हें सीएसके की टीम से बाहर कर दिया गया. यह उनके लिए कड़ा सबक था, क्योंकि उन्हें लगता था कि स्टीफन फ्लेमिंग ने उनसे बात नहीं की और उन्हें टीम प्रबंधन का पर्याप्त समर्थन नहीं मिला था.
    अश्विन ने कहा कि लोग सोचते थे कि मैं खुद को बहुत अच्छा गेंदबाज मानता हूं, लेकिन जब आईपीएल में खेलता हूं तो इस तरह से बुरा प्रदर्शन करता हूं. यह एक तमाचे की तरह था जैसे कोई बोल रहा हो कि तुम यहां के लायक भी नहीं हो. उन्होंने कहा कि मैं सोचता था कि प्रथम श्रेणी मैचों की तुलना में टी20 मैच में गेंदबाजी करना आसान होता है. रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ मैच में रॉबिन उथप्पा और मार्क बाउचर ने उनकी गेंदों की जमकर धुनाई की थी. अश्विन ने कहा कि उथप्पा और बाउचर ने मुझे कड़ा सबक सिखाया. मैंने 14वां, 16वां, 18वां और 20वां ओवर किया था. मैं युवा था और नहीं जानता था कि यह एक चुनौती है. मुझे लगा कि यह विकेट हासिल करने का अच्छा मौका है.

    ऐसा लगा जैसे किसी ने तमाचा जड़ दिया हो
    अश्विन ने कहा कि मुझे विकेट तो मिला नहीं, लेकिन मैंने 40 या 45 रन लुटाकर अपनी टीम को परेशानी में डाल दिया था. अगला मैच सुपर ओवर तक खिंचा और हम हार गए. मुझे टीम से बाहर कर दिया गया. मुझे लगा जैसे किसी ने मुझ पर करारा तमाचा जड़ दिया है.
    ये वो दिन था, जब आईपीएल फ्रेंचाइजी घरेलू मैचों के दौरान होटल की लागत बचाने के लिए केवल शीर्ष 18 खिलाड़ियों को ही टीम में रखते थे. अश्विन को भी घर में बैठकर सीएसके के मैच देखने पड़े थे. उन्होंने कहा कि मुझे बाहर कर दिया गया. मुझे होटल छोड़ना पड़ा और मैं घर में बैठ गया. मुझे लगा कि मैं इससे बेहतर का हकदार था, क्योंकि वेस्टइंडीज (West Indies) में होने वाले विश्व टी20 के 30 संभावित खिलाड़ियों में शामिल था. अश्विन ने स्वीकार किया कि फ्लेमिंग उनसे नाराज थे और इसलिए सीएसके के टीम प्रबंधन ने उनका पक्ष नहीं लिया.

    फ्लेमिंग से अच्‍छे नहीं थे रिश्‍ते
    भारत के स्‍टार गेंदबाज ने खुलासा किया कहा मैंने पहले तीन मैचों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था. केवल दो मैचों में मेरा प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. असल में मेरे स्टीफन फ्लेमिंग से बहुत अच्छे संबंध नहीं थे और उन्होंने मुझसे बात तक नहीं की. इसलिए मैं घर में बैठकर सीएसके के मैच देख रहा था और वादा कर रहा था कि एक दिन मैं परिदृश्य बदल कर रहूंगा. इसके बाद अश्विन ने लंबा सफर तय कर लिया है. इस 33 वर्षीय गेंदबाज ने अब 71 टेस्ट मैचों में 365 विकेट लिए है.

    भारत के दौरा न करने से ऑस्‍ट्रेलिया को होगा करीब 23 अरब का नुकसान

    अश्विन का खुलासा, टीम में जगह बनाने के लिए खुद से कर रहे हैं लड़ाई

    Tags: Chennai super kings, Cricket, IPL, R ashwin, Sports news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर