अपना शहर चुनें

States

सब्जियां बेचकर पेट पालते थे पिता, बेटी ने शहर छोड़ा, तेज गेंदबाज से स्पिनर बनी, अब वर्ल्ड कप में मचाई धूम

राधा यादव ने श्रीलंका के खिलाफ लीग मैच में बेहतरीन गेंदबाजी की थी. (फाइल फोटो)
राधा यादव ने श्रीलंका के खिलाफ लीग मैच में बेहतरीन गेंदबाजी की थी. (फाइल फोटो)

ऑस्ट्रेलिया (Australia) में खेले जा रहे महिला टी20 वर्ल्ड कप (Womens T20 World Cup) में भारतीय टीम (Indian Team) ने ग्रुप स्तर के अपने चारों मुकाबलों में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सफलता सभी को दिखती है, लेकिन उसके पीछे का संघर्ष देखने वाली आंखें कम ही होतीं हैं. राधा यादव (Radha Yadav) की कहानी भी कुछ ऐसी है. ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे महिला टी20 वर्ल्ड कप (Womens T20 World Cup) में श्रीलंका के खिलाफ चार विकेट लेने के बाद यूं तो राधा यादव के नाम की चर्चा हर जुबां पर है, लेकिन टेनिस बॉल क्रिकेट में तेज गेंदबाज से स्पिनर बनने का सफर कैसे भारतीय महिला टीम के दरवाजे तक पहुंचा, इससे कम ही लोग वाकिफ हैं. आइए हम आपको रूबरू कराते हैं राधा यादव की इस अनोखी और अद्भुत कहानी से.

एक समय क्रिकेटर रहे और फिर कोच बने प्रफुल नाइक (Praful Naik) को आज भी वो दिन याद है जब साल 2012 में उन्होंने बाएं हाथ की स्पिनर राधा यादव को मुंबई के उपनगरीय इलाके कांदीवली की एक बिल्डिंग में टेनिस बॉल क्रिकेट खेलते देखा था. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, नाइक वहां अपनी भतीजी से मिलने गए थे, लेकिन उनकी नजरें 11 साल की राधा पर ठहर गईं, जो उस लड़के की तरफ बढ़ती जा रही थीं जिसने आउट होने के बावजूद बैट नहीं छोड़ा था. राधा ने उस लड़के का कॉलर पकड़ लिया. महान सचिन तेंदुलकर के कोच रमाकांत आचरेकर से कोचिंग के गुर सीखने वाले नाइक को राधा का खेल को जुनून और गेंद व बल्ले से उनकी प्रतिभा काफी अच्छी लगी.

...तो रेलवे में जॉब मिल जाएगी
उन्होंने राधा (Radha Yadav) से कहा कि वो उन्हें अपने पिता से मिलवाए. नाइक उनकी प्रतिभा को तराशने का जिम्मा लेना चाहते थे वो भी उनके पिता की मंजूरी के साथ. राधा के पिता सब्जी बेचते थे. शुरुआत में उन्होंने नाइक की बात नहीं मानी, लेकिन फिर उन्होंने अपना इरादा बदलते हुए नाइक को मंजूरी दे दी. वो भी इस उम्मीद में कि इससे उनकी बेटी को कोई स्‍थायी काम मिल जाएगा. नाइक ने बताया, 'मैं जानता था कि वो इस खेल का आर्थिक भार नहीं उठा सकते. राधा अपने दो भाइयों और माता-पिता के साथ छोटे से घर में रहती थी. मैंने राधा के पिता को बताया कि अगर कुछ भी नहीं होगा तो भी क्रिकेट की वजह से राधा को रेलवे में जॉब मिल जाएगी. उसके बाद से उन्होंने मुझे राधा की पूरी जिम्मेदारी दे दी.'
श्रीलंका के खिलाफ लिए चार विकेट 


वर्ल्डकप में राधा यादव (Radha Yadav) ने श्रीलंका के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में 23 रन देकर चार विकेट चटकाए. उनकी गेंदबाजी की बदौलत श्रीलंका ने 9 विकेट पर 113 रन बनाए. बाद में शेफाली वर्मा के 37 गेंद पर बनाए गए 47 रनों की बदौलत भारतीय टीम ने 32 गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया.

तेज गेंदबाज थीं राधा
दिलचस्प बात है कि राधा यादव (Radha Yadav) जब गली क्रिकेट खेलती थीं तो वह लंबे रनअप के साथ तेज गेंदबाजी करती थीं. मगर प्रफुल नाइक ने राधा से रनअप छोटा करने के लिए कहा. उन्होंने राधा को स्पिन गेंदबाजी करने का सुझाव दिया जो उनके करियर के लिए बेहद अहम साबित हुआ. राधा मुंबई में अंडर16 वर्ग के मिक्‍स्ड मुकाबलों में पृथ्वी शॉ और सरफराज खान जैसे युवा क्रिकेटरों के सा‌थ अपनी प्रतिभा की झलक दिखातीं थीं.

2015 में छोड़ दिया शहर
साल 2015 में राधा (Radha Yadav) के सामने बड़ी मुश्किल आ खड़ी हुई. दरअसल, उनके गुरु प्रफुल नाइक होटल सेंटूर में बतौर कप्तान काम करते थे और वहां से रिटायर हो गए. मुंबई के भागदौड़ भरे जीवन से दूर नाइक ने अपनी बेटी के साथ बड़ाैदा जाने का फैसला किया. नाइक की बेटी राधा की अच्छी दोस्त थी. अचानक राधा को अपना करियर शुरू होने से पहले ही खत्म होता नजर आने लगा. मगर फर उनके पिता ने नाइक से कहा कि राधा को भी अपने साथ ले जाइए. नाइक के अनुसार, चीजें इतनी आसान नहीं थी. पहले तो बड़ाैदा क्रिकेट संघ से इस बात की अनुमति लेनी थी कि क्या राधा शहर बदल सकती है. इसके लिए एड्रेस प्रूफ की दरकार थी. इसके लिए मैंने राधा का लीगल गार्जियन बनना पसंद किया. मुंबई छोड़कर बड़ाैदा जाना उनके लिए अच्छा साबित हुआ. राधा यादव ने बड़ौदा अंडर19 टीम की कमान संभाली और बाद में भारतीय टीम में शामिल हुईं.

अब राधा जनरल स्टोर
प्रफुल नाइक ने कहा, 'राधा यादव को अब बीसीसीआई का कान्ट्रेक्ट मिल चुका है. उनके परिवार की जिंदगी भी बदल चुकी है. राधा के पिता भी अब सब्जियां नहीं बेचते. उन्होंने अब राधा जनरल स्टोर खोल लिया है.'

शुभमन गिल का करियर खराब कर रही है टीम इंडिया, हरभजन सिंह ने दिया बड़ा बयान!

राहुल द्रविड़ की वजह से हो रहा है टीम को नुकसान, BCCI ने कहा जिम्मेदारी लें!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज