Home /News /sports /

राहुल द्रविड़ का 'मास्टरस्ट्रोक', NCA को कोचों को दे रहे 'कॉर्पोरेट क्लास'

राहुल द्रविड़ का 'मास्टरस्ट्रोक', NCA को कोचों को दे रहे 'कॉर्पोरेट क्लास'

राहुल द्रविड़ ने NCA में कोचों के लिए कॉर्पोरेट क्लास शुरू की है. (PIC: AFP)

राहुल द्रविड़ ने NCA में कोचों के लिए कॉर्पोरेट क्लास शुरू की है. (PIC: AFP)

इस पाठ्यक्रम को मुंबई के पूर्व तेज गेंदबाज शेमल (वेनगांवकर) द्वारा तैयार किया गया है, जो एमबीए है और उन्हें कॉर्पोरेट जगत में काम करने का अनुभव है.

    नई दिल्ली. पूर्व दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के नेतृत्व में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) ने कोचिंग कार्यक्रम को नया रूप दिया है, जिसमें अब विभिन्न क्षेत्रों से होने वाले चयन दबाव सहित मैदान के बाहर के मुद्दों से निपटने के लिए भविष्य के कोचों के लिए ‘कॉर्पोरेट क्लास’ का आयोजन हो रहा है. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में खेल चुके कुछ बड़े खिलाड़ियों ने हाल ही में भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के लेवल – दो कोचिंग पाठ्यक्रम में भाग लिया. ये सभी सैद्धांतिक और व्यावहारिक (थ्योरी और प्रैक्टिकल) परीक्षा में  भी शामिल हुए.

    कोचिंग की आधुनिक जरुरतों को ध्यान में रखते हुए इसके पाठ्यक्रम में बदलाव किए गए हैं, इस पाठ्यक्रम का हिस्सा रहे प्रथम श्रेणी के एक पूर्व क्रिकेटर ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा को बताया, ”इस पाठ्यक्रम को मुंबई के पूर्व तेज गेंदबाज शेमल (वेनगांवकर) द्वारा तैयार किया गया है, जो एमबीए है और उन्हें कॉर्पोरेट जगत में काम करने का अनुभव है. मैंने कभी इस तरह की कक्षा में भाग नहीं लिया, लेकिन यह बहुत ही अनोखा था और इसने मुझे अपने दृष्टिकोण को व्यापक बनाने में मदद की.”

    Ind vs Eng: विराट कोहली सहित पूरी टीम इंडिया हेडिंग्‍ले टेस्‍ट में करेगी ‘डेब्‍यू’, लीड्स पहुंचते ही अभ्‍यास में जुटे खिलाड़ी

    उन्होंने बताया कि इसमें ‘सौदेबाजी’ और ‘सुलह’ के अंतर को समझाया गया. इसमें बताया गया कि हमें समस्या का समाधान ढूंढने के साथ यह भी देखना होगा कि उसे हल करने का कौन-कौन सा तरीका है.” उन्होंने बताया, ”इसमें कोच के सामने आने वाली विभिन्न समस्याओं का जिक्र था. इसमें यह बताया गया कि कैसे चयनकर्ता कोच से अपनी बात मनवाने की कोशिश करता है. क्या कोच चयनकर्ता को प्रशासकों से मदद लेने के लिए मना सकता है?”

    इस पाठ्यक्रम के दौरान राहुल द्रविड़ ने किसी कक्षा का संचालन नहीं किया, लेकिन वह छात्र की तरह कोचिंग का प्रशिक्षण लेने वालों के साथ बैठे थे. द्रविड़ के खिलाफ खेल चुके प्रथम श्रेणी के एक अन्य पूर्व खिलाड़ी ने कहा, ”वास्तव में जब हमें खिलाड़ियों के वीडियो दिखाए जाते थे और समाधान के बारे में बताने के लिए कहा जाता था, तो राहुल भाई भी हमारे साथ जुड़ जाते थे और समस्या का पता लगाने की कोशिश करते थे. वह हमें बताते थे कि वह अभी भी एक छात्र की तरह महसूस करते है और जिस दिन वह सीखना बंद कर देगा, वह दिन इस क्षेत्र में उनका आखिरी दिन होगा.”

    IND vs ENG: भारतीय टीम तीसरे टेस्ट के लिए लीड्स पहुंची, 19 साल पहले इस मैदान पर रचा था इतिहास

    पाठ्यक्रम में भाग लेने वाले में रॉबिन बिष्ट, जकारिया जुफरी, प्रभंजन मलिक, उदय कौल, सागर जोगियानी, सरबजीत सिंह, अरिंदम दास, सौराशीष लाहिड़ी, राणादेब बोस, केबी पवन और कोनोर विलियम्स जैसे कुछ पूर्व और वर्तमान खिलाड़ी शामिल हैं.

    Tags: BCCI, Cricket news, NCA, Rahul Dravid

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर