लाइव टीवी

सौरव गांगुली के राज में भी राहुल द्रविड़ की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में फिर मिला नोटिस

भाषा
Updated: October 31, 2019, 4:31 PM IST
सौरव गांगुली के राज में भी राहुल द्रविड़ की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में फिर मिला नोटिस
राहुल द्रविड़ अभी एनसीए की जिम्‍मेदारी संभाल रहे हैं.

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) फिलहाल एनसीए में निदेशक हैं. इसके अलावा वह इंडिया सीमेंट्स समूह के उपाध्यक्ष भी हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. बीसीसीआई (BCCI) के आचरण अधिकारी (एथिक्स ऑफिसर) डीके जैन (DK Jain) ने राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को हितों के टकराव मामले (Conflict Of Interest Case) में ‘आगे की सुनवाई और स्पष्टीकरण’ के लिए 12 नवंबर को दूसरी बार निजी तौर पर पेश होने को कहा है. भारत के पूर्व कप्तान 46 साल के द्रविड़ ने इससे पहले 26 सितंबर को मुंबई में निजी सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखा था. बता दें कि बीसीसीआई के संविधान के तहत एक व्यक्ति एक समय पर एक ही पद संभाल सकता है. ऐसा नहीं होने पर हितों का टकराव होता है. द्रविड़ को दोबारा ऐसे समय में समन किया गया है जब बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) हितों के टकराव को बड़ा मुद्दा बता चुके हैं.

संजय गुप्‍ता ने द्रविड़ पर लगाया है हितों के टकराव का आरोप
एमपीसीए के आजीवन सदस्य संजय गुप्ता ने द्रविड़ के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के प्रमुख के रूप में उनकी मौजूदा भूमिका और इंडिया सीमेंट्स का अधिकारी होने के कारण हितों के टकराव का आरोप लगाया था. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया, ‘जैन ने बुधवार रात द्रविड़ को पत्र लिखकर उन्हें नई दिल्ली में 12 नवंबर को सुनवाई के लिए पेश होने को कहा. गुप्ता का पक्ष भी सुना जाएगा.’

cricket, cricket news, sports news, bcci, bcci election, indian cricket team, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, बीसीसीआई, बीसीसीआई चुनाव, भारतीय क्रिकेट टीम
बीसीसीआई का मुख्यालय. (फाइल फोटो)


द्रविड़ दे चुके हैं सफाई
द्रविड़ फिलहाल एनसीए में निदेशक हैं. इसके अलावा वह इंडिया सीमेंट्स समूह के उपाध्यक्ष भी हैं. इंडिया सीमेंट्स के पास आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स का स्वामित्व है. एनसीए में भूमिका मिलने से पहले द्रविड़ भारत ए और अंडर 19 टीमों के मुख्य कोच भी रहे. एनसीए निदेशक के तौर पर वह इन दोनों टीमों की प्रगति पर नजर भी रखेंगे. द्रविड़ पहले ही अपना पक्ष रख चुके हैं. अपने बचाव में उन्होंने कहा था कि उन्होंने इंडिया सीमेंट्स से अवैतनिक छुट्टी ली है और चेन्नई सुपरकिंग्स से उनका कोई लेना देना नहीं है.

sourav ganguly, bcci, indian cricket, india domestic cricket, domestic cricket contract, सौरव गांगुली, बीसीसीआई, भारतीय घरेलू क्रिकेट, घरेलू क्रिकेट कॉन्‍ट्रेक्‍ट
बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली. (AP Photo)

Loading...

गांगुली ने भी हितों के टकराव पर जताई थी चिंता
सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्‍यक्ष पद के लिए चुने जाने के बाद हितों के टकराव को बड़ा मामला बताया था. उन्‍होंने कहा था, 'हितों का टकराव भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) के सामने सबसे बड़े मुद्दों में से एक है क्योंकि इसके विवादास्पद नियम सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों को इस खेल के प्रशासन में आने से रोक रहे हैं. मुझे यह नहीं पता है कि मैं सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों की सेवाएं ले पाऊंगा या नहीं क्योंकि उनके पास दूसरे विकल्प भी मौजूद होंगे. ‘एक व्यक्ति एक पद’ का मौजूदा नियम क्रिकेट के पूर्व दिग्गजों को प्रशासन में आने से रोकेगा क्योंकि उन्हें अपनी आजीविका कमाने की भी जरूरत होगी.'

गांगुली भी हितों के टकराव के मामले को भुगत चुके हैं और अपने साथी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और वीवीएस लक्ष्मण को भी इस विवाद का सामना करते देखा है. हितों के टकराव में नाम आने के बाद उन्‍होंने दिल्‍ली कैपिटल्‍स से खुद को अलग कर लिया था.

यह भी पढ़ें :

खुलासा : LIVE मैच में फिक्सिंग के लिए बुकी को ऐसे सिग्नल देता था ये क्रिकेटर
धोनी की कप्तानी में 16 मैच तक बैंच पर रहा, अब की सबकी धुनाई,जड़ा ताबड़तोड़ शतक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 4:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...