होम /न्यूज /खेल /

राहुल द्रविड़ के घर में घुस गई थी अनजान लड़की, माता-पिता को हुआ 'गलती' का एहसास

राहुल द्रविड़ के घर में घुस गई थी अनजान लड़की, माता-पिता को हुआ 'गलती' का एहसास

जब महिला फैन राहुल द्रविड़ के घर में घुस आई थी. (Shubman Gill/Instagram)

जब महिला फैन राहुल द्रविड़ के घर में घुस आई थी. (Shubman Gill/Instagram)

पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की कई महिला फैंस रही हैं, लेकिन एक बार उनके घर अनजान लड़की घुस आई थी जिसने द्रविड़ और उनके परिवार को 'मुश्किल' में डाल दिया था.

    नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और अब श्रीलंका जाने वाली भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid)  महिला फैंस के बीच खासे पॉपुलर रहे हैं. राहुल द्रविड़ अपने जमाने में कई लड़कियों का क्रश हुआ करते थे. खुद राहुल द्रविड़ इस बात को मानते हैं कि उन्हें काफी लव लैटर्स आते थे. एक इंटरव्यू में राहुल द्रविड़ ने बताया कि एक महिला फैन ने उनके घर में घुसकर बाहर जाने से ही इनकार कर दिया था. और इस घटना के बाद उनके माता-पिता को अपनी गलती का एहसास भी हुआ था.

    विक्रम सठाए के वट द डक कार्यक्रम में द्रविड़ ने बताया कि उनके माता-पिता चाहते थे कि वो अपने हर फैंस से बात करें. चाहे वो फोन करें या घर पर आएं, वो उनसे निजी तौर पर मिलें. द्रविड़ ने कहा, 'एक बार मैं किसी बड़े दौरे से घर आया था. मैं घर पर सुबह से ही सो रहा था, जब मैं शाम को जागा तो मेरी मां ने कहा कि तुम्हारी एक फैन तुमसे मिलने हैदराबाद से आई है, तुम जाकर उससे मिलो. मैं उस लड़की से मिलने गया और मैंने उसे ऑटोग्राफ दिया और उसके साथ फोटो क्लिक कराई. लेकिन इसके बाद उस लड़की ने घर से बाहर जाने से मना कर दिया. उसने कहा कि वो अपना घर छोड़कर आई है और अब मेरे घर पर ही रहेगी. इसके बाद मेरे माता-पिता को समझ आया कि किसी को भी ऐसे ही घर के अंदर नहीं आने देना चाहिए.'

    शादी के बाद मिलती थी राखियां-द्रविड़
    राहुल द्रविड़ ने कहा, 'महिला फैंस का होना अच्छी बात है, मुझे वैलेंटाइंस डे पर काफी ज्यादा लव लैटर आते थे लेकिन जब मेरी शादी हो गई तो मुझे राखी के समय खत मिलने लगे. राहुल द्रविड़ ने बताया कि वो अपनी आंखों को तेज रखने के लिए एक्सरसाइज भी करते थे. राहुल द्रविड़ ने कहा, 'अपनी आंखों को ताजा रखने के लिए मैं कुछ एक्सरसाइज करता था. इससे मुझे कितना फायदा हुआ ये मैं नहीं जानता लेकिन मैंने सफलता हासिल करने के लिए कई अजीबोगरीब चीजें भी की. सोने से पहले मैं मेडिटेशन करता था. मैच के दिन जब मैं उठता था, तो भी मैं मेडिटेशन करता था.'

    द्रविड ने खुलासा किया कि वो होटल के कमरे में अपने साथ बैट रखते थे. कभी-कभी वो बैट उठाकर ये देखते कि वो हाथ में कैसा लग रहा है. द्रविड़ ने कहा, 'कभी-कभी मैं बैट फर्श पर रखता था तो नीचे के कमरे में ठहरने वाले लोग फोन कर देते थे.' द्रविड़ ने आगे कहा, 'जब कभी मुझे नींद नहीं आती थी तो मैं बैट उठाकर प्रैक्टिस करने लगता था. कई बल्लेबाज ऐसा करते हैं. आप शीशे के सामने बल्लेबाजी का स्टांस बनाते हैं और अपनी तकनीक समझने की कोशिश करते हैं. आप एक तरह से शैडो प्रैक्टिस करते हैं.'

    Tags: Cricket news, India National Cricket Team, Rahul Dravid

    अगली ख़बर