लाइव टीवी

पीएम मोदी के मिशन को पूरा कर रहे राहुल द्रविड़, 16 देशों के क्रिकेटर्स को दे रहे कोचिंग

भाषा
Updated: October 17, 2019, 4:46 PM IST
पीएम मोदी के मिशन को पूरा कर रहे राहुल द्रविड़, 16 देशों के क्रिकेटर्स को दे रहे कोचिंग
राहुल द्रविड़.

बेंगलुरु में एनसीए (NCA) के क्रिकेट प्रमुख राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की देखरेख में देश के सर्वश्रेष्ठ कोच 16 राष्ट्रमंडल देशों (Commonwealth Countries) के लड़कों और लड़कियों को प्रशिक्षण दे रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (National Cricket Academy) के निदेशक राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की देखरेख में 16 राष्ट्रमंडल देशों (Commonwealth Countries) के लड़कों और लड़कियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसका आयोजन बीसीसीआई (BCCI) विदेश और खेल मंत्रालय के सहयोग से कर रहा है. लंदन में 19 अप्रैल 2018 को राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने घोषणा की थी कि भारत 16 साल से कम उम्र के लड़कों और लड़कियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाएगा और उन्हें एनसीए में भारत के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों के साथ अभ्यास करने का मौका देगा.

इन देशों के युवा क्रिकेटर ले रहे हैं हिस्‍सा
एनसीए में अभी बोत्सवाना, कैमरून, कीनिया, मोजाम्बिक, मॉरीशस, नामीबिया, नाइजीरिया, रवांडा, युगांडा, जाम्बिया, मलेशिया, सिंगापुर, जमैका, त्रिनिदाद एवं टोबैगो, फिजी और तंजानिया के युवा खिलाड़ी (18 लड़के और 17 लड़कियां) प्रशिक्षण ले रहे हैं.

Rahul Dravid, Rahul Dravid conflict of interest, bcci, COA, conflict of interest, India Cements, nca, saurav ganguly, राहुल द्रविड़, हितों का टकराव, बीसीसीआई
राहुल द्रविड़ ने हाल ही में NCA का कामकाज संभाला है.


30 अक्‍टूबर तक चलेगा शिविर
बीसीसीआई की विज्ञप्ति के अनुसार एक महीने का यह शिविर एनसीए बेंगलुरु में एक अक्टूबर से शुरू हुआ और इसे 30 अक्टूबर तक चलाया जाएगा. यहां एनसीए के क्रिकेट प्रमुख राहुल द्रविड़ की देखरेख में देश के सर्वश्रेष्ठ कोच उन्हें प्रशिक्षण दे रहे हैं.

इन चीजों पर किया गया काम
Loading...

इसमें कहा गया है, 'प्रत्‍येक प्रतिभागी के लिए अलग से ट्रेनिंग कार्यक्रम तैयार किया गया है. अलग-अलग देशों और पृष्ठभूमि से आने वाले 16 साल तक के क्रिकेटर्स को समझना, क्रिकेट में उनकी योग्‍यता को तय करना, समस्‍याओं को पकड़ना और उन्‍हें ठीक करना एक चुनौती थी. भाषा और सांस्‍कृतिक अवरोधों को भी क्रिकेट के जज्‍बे के जरिए पार कर लिया गया.'

इन खिलाड़ियों को होटल आवास, क्रिकेट किट, पोषक तत्व, अन्य सुविधाएं और भत्ते प्रदान किये गए हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उनका प्रवास आरामदायक और फलदायी रहे.

यह भी पढ़ें-

रवि शास्‍त्री पर पूछा सवाल तो सौरव गांगुली ने कसा तंज, दिया ये बड़ा बयान
धोनी के करियर के बारे में सौरव गांगुली चयनकर्ताओं से 24 अक्‍टूबर को करेंगे बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 4:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...