लाइव टीवी

रजत शर्मा ने DDCA को बताया भ्रष्टाचार का अड्डा, कहा- मेरे इस्तीफे से उजागर होगा असली चेहरा

भाषा
Updated: November 17, 2019, 10:49 AM IST
रजत शर्मा ने DDCA को बताया भ्रष्टाचार का अड्डा, कहा- मेरे इस्तीफे से उजागर होगा असली चेहरा
रजत शर्मा का कहना कि वह इस इस्तीफे से डीडीसीए के असली चेहरे को उजागर करना चाहते हैं.

पिछले साल जुलाई में रजत शर्मा DDCA के अध्यक्ष बने थे और उन्होंने एक दिन पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया

  • भाषा
  • Last Updated: November 17, 2019, 10:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) को भ्रष्टाचार का अड्डा करार देते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद रजत शर्मा (Rajat Sharma ने उम्मीद जताई कि इस कदम से संघ के हितधारकों को चेतावनी मिलेगी. शर्मा पिछले साल जुलाई में डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे. रजत शर्मा ने कहा कि उन्होंने इस विवादित संघ को पारदर्शी तरीके से चलाने की पूरी कोशिश की और वह इस इस्तीफे से डीडीसीए (DDCA) के असली चेहरे को उजागर करना चाहते हैं. आज भी डीडीसीए में ऐसे लोग जुड़े हैं जिनकी दिलचस्पी अंतरराष्ट्रीय मैचों से पहले अनुबंध और निविदाओं को हासिल करने में रहती है. वे खिलाड़ियों के चयन में भी दखलअंदाजी करते हैं.

वह इस इस्तीफे से डीडीसीए (DDCA) के असली चेहरे को उजागर करना चाहते थे.
रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद डीडीसीए में कई और पदाधिकारियों ने अपना पद छोड़ दिया है


इस्तीफा लोगों के लिए खतरे की घंटी 
रजत शर्मा (Rajat Sharma)ने कहा कि उन‌का इस्तीफे को खतरे की घंटी की तरह देखा जाना चाहिए ताकि उच्चतम न्यायालय, क्रिकेटरों और बीसीसीआई सहित सभी हितधारकों को पता चले कि इस तरह के निहित स्वार्थ से जुड़े लोग डीडीसीए में है. अब उन्हें (उच्चतम न्यायालय, क्रिकेटरों और बीसीसीआई) भविष्य की कार्रवाई तय करनी चाहिए. उन्हाेंने कहा कि वह आराम से अपने कार्यकाल के बचे हुए अगले दो साल तक पद पर बने रह सकते थे, लेकिन वह लोगों को इससे अवगत करना चाहते थे. उनके अनुसार अगर वह अपना  इस्तीफा नहीं देते, तो यह सदस्यों के लिए अनुचित होता.

डीडीसीए में लगी इस्तीफों की लाइन
रजत शर्मा ने यह कहकर अपने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था कि वह किसी भी कीमत में ईमानदारी से समझौता नहीं करेंगे. उनके अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से ही डीडीसीए (DDCA) में इस्तीफों की लाइन लग गई है. उनके इस्तीफे के कुछ घंटे बाद ही सीईओ रवि चोपड़ा, क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के दो सदस्यों सुनील वाल्सन और यशपाल शर्मा ने भी अपना पद छोड़ दिया. यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या अतुल वासन की अगुवाई वाली चयनसमिति और कोच केपी भास्कर रणजी ट्रॉफी टीम के लिए बने रहते हैं या नहीं.

अपने 'घर' में पहली बार रंग में दिखी अफगान टीम, विंडीज पर दर्ज की बड़ी जीतऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर को भारी पड़ी गाली, पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेल सकेगा मैच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 17, 2019, 10:45 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर