अध्यक्ष पद की दौड़ में कभी नहीं थे राजीव शुक्ला!

अध्यक्ष पद की दौड़ में कभी नहीं थे राजीव शुक्ला!
बीसीसीआई अध्यक्ष पद के दावेदार शशांक मनोहर को पूरा समर्थन जताते हुए आईपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि वह कभी इस पद की दौड़ में नहीं थे और हमेशा से बोर्ड के वफादार सिपाही रहे हैं।

बीसीसीआई अध्यक्ष पद के दावेदार शशांक मनोहर को पूरा समर्थन जताते हुए आईपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि वह कभी इस पद की दौड़ में नहीं थे और हमेशा से बोर्ड के वफादार सिपाही रहे हैं।

  • Share this:
मुरादाबाद। बीसीसीआई अध्यक्ष पद के दावेदार शशांक मनोहर को पूरा समर्थन जताते हुए आईपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि वह कभी इस पद की दौड़ में नहीं थे और हमेशा से बोर्ड के वफादार सिपाही रहे हैं। मनोहर 2008 से 2011 के बीच बीसीसीआई अध्यक्ष रहे और उनका दोबारा अध्यक्ष बनना तय है। अनुराग ठाकुर गुट और शरद पवार गुट ने उन्हें उम्मीदवार बनाया है और वह जगमोहन डालमिया के निधन के बाद रिक्त हुए पद पर आसीन होंगे। शुक्ला के नाम की भी पहले अटकलें लगाई जा रही थी। शुक्ला ने कहा कि मनोहर के अध्यक्ष बनने से बोर्ड की कार्यप्रणाली बेहतर होगी।

उन्होंने यहां उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच रणजी ट्रॉफी मैच से इतर पत्रकारों से कहा कि मैं उनके साथ हूं। उनके अध्यक्ष बनने से बोर्ड की कार्यप्रणाली में काफी सुधार आएगा। यह पूछने पर कि उनके नाम की भी अटकलें लगाई जा रही थी, उन्होंने कहा कि मैं कभी दौड़ में नहीं था। मैं बोर्ड का वफादार सिपाही हूं और हमेशा बोर्ड की बेहतरी के लिये काम करूंगा।

आईसीसी अध्यक्ष और बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन एसजीएम में भाग नहीं ले सकेंगे लेकिन हालात पैदा होने पर वोट डाल सकते हैं। शुक्ला ने कहा कि उनके वोट से ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज